Home »Personal Finance »Banking »Update» More Cuts Likely On Small Savings Interest Rate

इस साल बैंक और पोस्‍ट ऑफिस डिपॉजिट पर कम इंटरेस्‍ट के लिए रहें तैयार, अभी और घटेंगे रेट

 
नई दिल्ली। अगर आप स्‍माल सेविंग स्‍कीमों जैसे पोस्‍ट ऑफिस सेविंग स्‍कीम और बैंकों की एफडी में पैसा लगाना चाहते हैं नए फाइनेंशियल ईयर में रिटर्न के लिहाज से आपको खास फायदा नहीं होने वाला है। स्‍माल सेविंग स्‍कीमों पर इंटरेस्‍ट पहले से ही 40 साल के निचले स्‍तर पर पहुंच गया है। एक्‍सपर्ट्स का कहना कि आने वाले समय में सरकार स्‍माल सेविंग स्‍कीमों पर इंटरेस्‍ट रेट में और कटौती कर सकती है। ऐसे में आपको बेहतर रिटर्न के लिए दूसरे विकल्‍पों पर गौर करना होगा।
 
बैंक डिपॉजिट रेट में कर सकते हैं कटौती
फरवरी 2017 में बैंकों की क्रेडिट ग्रोथ 3.3 फीसदी रही है जो पिछले कई दशकों का निचला स्‍तर है। ऐसे में बैंकों को क्रेडिट ग्रोथ बढ़ाने के लिए कर्ज की दर को घटाना होगा। भारतीय स्‍टेट बैंक के पूर्व सीजीएम सुनील पंत ने moneybhaskar.com  को बताया कि बैंकों कर्ज की दरों में कमी करने से पहले डिपॉजिट रेट में कटौती कर सकते हैं।
 
स्‍माल सेविंग रेट में जारी रहेगी कटौती
केंद्र सरकार हर तिमाही स्‍माल सेविंग रेट की समीक्षा करती है। फाइनेंशियल प्‍लान तारेश भाटिया का कहना है कि आने वाले समय में स्‍माल सेविंग रेट में सरकार और कटौती कर सकती है। ऐसे में अगर महंगाई दर को ध्‍यान में रखा जाए तो स्‍माल सेविंग स्‍कीमों में पैसा लगाना फायदे मंद नहीं है।
 
पारंपरिक निवेशकों के लिए मुश्किलें बढ़ीं
स्‍माल सेविंग स्‍कीमों पर इंटरेस्‍ट रेट में हो रही कटौती की वजह से पारं‍परिक निवेशकों के लिए मुश्किलें बढ़ गईं हैं। पारंपरिक निवेशक आम तौर पर स्‍माल सेविंग स्‍कीमों में बेहतर रिटर्न के लिए निवेश कर सकते हैं। इन स्‍कीमों में पैसा लगाने में जोखिम नहीं मिलता और एक निश्चित रिटर्न मिलता है। 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY