Home » Personal Finance » Banking » UpdateSBI alert, this is happening in the name of the bank

SBI का अलर्ट, बैंक के नाम पर इस तरह हो रहा है फ्रॉड

एसबीआई ने अपने ग्राहकों को अलर्ट भेजा है कि‍ ऐसे लोगों से सावधान रहें जो आपकी जानकारी लेकर आपके साथ फ्रॉड कर सकते हैं।

1 of

नई दि‍ल्‍ली. एसबीआई ने अपने सभी ग्राहकों को अलर्ट भेजा है कि‍ ऐसे फ्रॉड लोगों से सावधान रहें जो एसबीआई के अफसर बनकर आपसे एटीएम का पि‍न, एटीएम कार्ड नंबर और सीवीवी नंबर मांग लेते हैं। असल में ऐसे लोगों का उद्देश्‍य लोगों के साथ ठगी करने का होता है। 

 
बैंक ने अपनी वेबसाइट पर शेयर कि‍ए अलर्ट में लि‍खा है कि‍ ऐसे ज्‍यादातर फ्रॉड करने के लि‍ए अपराधी एटीएम की एक्‍सपायरी डेट को रि‍न्‍यू करने, इनाम जीतने और लॉटरी नि‍कलने का लालच देते हैं। इसके बाद लोग खुद ही अपने एटीएम पि‍न, कार्ड और सीवीवी नंबर अनजान व्‍यक्‍ति‍ से शेयर कर देते हैं। इसके चलते उन्‍हें नुकसान उठाना पड़ता है। वहीं, इस सब के चलते अंत में दि‍क्‍कत बैंक को भी उठानी पड़ती है। ऐसे में बैंक की ओर से अपने ग्राहकों के लि‍ए एक अलर्ट जारी कि‍या गया है। Moneybhaskar.com बैंक द्वारा ग्राहकों से की गई अपील और बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बता रहा है।  
 
 
आगे पढ़ें : बैंक ने फ्रॉड से बचने के लि‍ए क्‍या टि‍प्‍स दि‍ए 

बैंक कभी नहीं मांगता ATM नंबर और पि‍न 
 
बैंक का कहना है कि‍ वह कि‍सी ई-मेल, मैसेज या फोन कॉल के जरि‍ए कभी भी एटीएम पिन, सीवीवी जैसी डि‍टेल नहीं मांगता है, जि‍समें ग्राहकों की पर्सनल डि‍टेल होती है। ऐसे में ग्राहक कि‍सी भी फोन करने वाले या मैसेज करने वाले को अपना एटीएम का पि‍न, एटीएम कार्ड नंबर और सीवीवी नंबर न बताएं। 
 
आगे पढ़ें : कि‍सी के लालच में न आएं 
लालच में न आए 
 
बैंक ने अपनी वेबसाइट पर जारी कि‍ए गए अलर्ट में लि‍खा है कि‍ ग्राहक कि‍सी भी लालच में न आएं। कई मामलों में लोग लॉटरी जीतने और इनाम जैसी बातें कहने वालों के झांसे में आ जाते हैं और अपना एटीएम पि‍न, एटीएम कार्ड नंबर और सीवीवी नंबर उनसे शेयर कर देते हैं। इसके बाद जब उनके साथ ठगी हो जाती है तो उन्‍हें परेशानी का सामना करना पड़ता है और अपनी गलती का एहसास होता है। 
 
आगे पढ़ें : ऐसे करें चोरों की पहचान 
 
फ्राॅड कॉल को कैसे पहचानें 
अगर कोई भी कॉल करने वाला व्‍यक्‍ति‍ आपसे आपके डेबिट या क्रेडि‍ट कार्ड की पर्सनल डि‍टेल मांगे तो आप समझ जाएं कि‍ यह फ्रॉड कॉल है। क्‍योंकि‍ अगर कॉल करने वाला बैंक का एम्‍प्‍लॉई होगा, तो उसके पास ग्राहक की डि‍टेल पहले से होगी। ऐसे में आपको बैंक से कॉल करने वाले को सि‍र्फ डेट ऑफ बर्थ और एड्रेस कन्‍फर्म कराना होता है। इसके अलावा बाकी डि‍टेल बैंक के पास होती है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट