Home » Personal Finance » Banking » Updateभारतीय रेल - ट्रेनों में लोअर बर्थ लेने वालों को देने पड़ सकते हैं ज्‍यादा पैसे - Railway panel says Pay more for lower berths and during festivals

ट्रेनों में लोअर बर्थ लेने वालों को देने पड़ सकते हैं ज्‍यादा पैसे, कमिटी ने की सिफारिश

अगर आप ट्रेन में सफर के दौरान लोअर बर्थ को पसंद करते हैं तो अब आपको इसकी अधिक कीमत चुकानी पड़ सकती है।

1 of

नई दिल्‍ली. अगर आप ट्रेन में सफर के दौरान लोअर बर्थ को पसंद करते हैं, तो अब आपको इसकी कीमत चुकानी पड़ सकती है। दरअसल, रेलवे किराए को लेकर गठित फेयर रिव्‍यू कमिटी ने इस संबंध में सिफारिश की है। कमिटी ने कहा है कि अगर पैसेंजर ट्रेन टिकट के दौरान लोअर बर्थ लेना चाहता है तो उसे इसके लिए अधिक किराया देना चाहिए। इसके अलावा कमिटी ने फेस्टिवल सीजन के दौरान ट्रेवल करने वाले पैसेंजर्स से भी अधिक किराया वसूलने की सिफारिश की है।  

 

 

डायनमिक प्राइसिंग मॉडल फॉलो करने की सिफारिश
सोर्स के मुताबिक प्रीमियम ट्रेनों में फ्लैक्सी-फेयर सिस्टम की समीक्षा करने के लिए गठित पैनल ने एयरलाइन और होटल्‍स की तरह डायनैमिक प्राइसिंग मॉडल फॉलो करने की सिफारिश की है। सोर्स के मुताबिक पैसेंजर को रेल यात्रा के दौरान पसंदीदा सीट चुनने के लिए अधिक किराया देना पड़ सकता है। इसके अलावा कमिटी ने बिजी रूट्स पर ट्रेनों के किराए में भी बढ़ोतरी की सिफारिश की है। रेलवे की इस कमिटी ने फेस्टिवल सीजन के दौरान किराया बढ़ाने और अन्‍य महीनों के दौरान कम करने की सलाह दी है। सोर्स के मुताबिक कमिटी ने सुझाव दिया कि यात्रियों को असुविधाजनक समय पर गंतव्य तक पहुंचने वाले ट्रेनों पर डिस्‍काउंट की पेशकश की जा सकती है। 

 

 

कमिटी में कौन - कौन शामिल 
इस कमिटी में रेलवे बोर्ड के अधिकारी शामिल हैं। इसके अलावा नीति आयोग एडवाइजर रविंद्र गोयल, एयर इंडिया की एग्‍जक्‍यूटिव डायरेक्‍टर  (रेवेन्‍यू मैनेजमेंट ) मीनाक्षी मलिक, प्रोफेसर एस श्रीराम और दिल्‍ली के मेरीडीयन होटल के अधिकारी भी इस कमिटी में शामिल हैं। रेलवे बोर्ड को इस कमिटी ने अपनी रिपोर्ट सोमवार को सौंप दी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट