बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Banking » Updateप्रधानमंत्री रोजगार योजना: टारगेट का 4% तक ही लोन दे पाए बैंक, SBI, PNB, ICICI सब फिसड्डी

प्रधानमंत्री रोजगार योजना: टारगेट का 4% तक ही लोन दे पाए बैंक, SBI, PNB, ICICI सब फिसड्डी

प्रधानमंत्री रोजगार योजना को सबसे अधिक नुकसान नेशनलाइज्‍ड बैंक पहुंचा रहे हैं।

1 of

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री रोजगार योजना को सबसे अधिक नुकसान नेशनलाइज्‍ड बैंक पहुंचा रहे हैं। इन बैंकों का टारगेट अधिक है, लेकिन ये बैंक 4 फीसदी से भी कम टारगेट अचीव कर पा रहे हैं, जबकि इनके मुकाबले रूरल बैकों का परफॉरमेंस ठीक ठाक है। दिलचस्‍प बात यह है कि पर्सनल लोन के लिए दिन भर कॉल करने वाले प्राइवेट बैंक तो प्रधानमंत्री रोजगार योजना का टारगेट हासिल करने में बिल्‍कुल फिसड्डी साबित हो रहे हैं।

 

क्‍या है नेशनलाइज्‍ड बैंक का हाल?

प्रधानमंत्री रोजगार योजना केंद्र सरकार की सबसे पापुलर स्‍कीम है। इस स्‍कीम के प्रति युवाओं में काफी क्रेज रहता है, क्‍योंकि इसकी शर्तें बहुत सरल हैं और लोन के लिए किसी तरह की सिक्‍योरिटी नहीं मांगी जाती, लेकिन जब अप्‍लीकेशन फॉर्म बैंकों के पास पहुंचता है तो बैंक रिजेक्‍ट कर देते हैं। इस काम में सबसे आगे नेशनलाइज्‍ड बैंक हैं। पीईएमजीपी के पोर्टल के मुताबिक किस बैंक ने अप्रैल 2017 से 12 फरवरी 2018 तक कितने लोगों को लोन दिया और कितना टारगेट अचीव किया, आइए जानते हैं -

  • स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया को 64812 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 42084 रिजेक्‍ट कर दी गई, जबकि 1947 लोगों को ही लोन दिया गया। बैंक ने केवल 4.63 फीसदी टारगेट अचीव किया।

  • दूसरे बड़े बैंक पंजाब नेशनल बैंक को 30088 लोन अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 19946 रिजेक्‍ट कर दी गई, लेकिन लोन केवल 560 लोगों को दिया गया। यानी कि बैंक ने केवल 2.81 फीसदी टारगेट अचीव किया।

  • बैंक ऑफ इंडिया को 15876 लोन अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 9615 अप्‍लीकेशन रिजेक्‍ट कर दी गई और लोन केवल 478 लोगों को दिया गया। यानी कि 4.97 फीसदी टारगेट अचीव किया गया।

  • बैंक ऑफ बड़ोदा को 12589 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें से 9391 अप्‍लीकेशन रिजेक्‍ट की गई और लोन केवल 240 (2.56 फीसदी) को ही दिया गया।

  • इसी तरह सेंट्रल बैंक ने 5.56 फीसदी, केनरा बैंक ने 1.48 फीसदी, इलाहाबाद बैंक ने 4.25 फीसदी, आंध्रा बैंक ने केवल .92 फीसदी, यूनियन बैंक ने 3.67 फीसदी, यूनाइटेड बैंक ने 3.74 फीसदी ही टारगेट अचीव किया।

प्राइवे‍ट बैंक हैं फिसड्डी

पर्सनल लोन के लिए बार-बार कॉल करने वाले प्राइवेट बैंक में प्रधानमंत्री रोजगार योजना को लेकर कोई उत्‍साह नहीं है।

  • आईडीबीआई बैंक को 2719 लोन अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें से बैंक ने 1711 रिजेक्‍ट कर दी, लेकिन लोन केवल 42 लोगों को दी गई। बैंक ने 2.45 फीसदी टारगेट अचीव किया।

  • आईसीआईसीआई बैंक को 412 लोन अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 278 अप्‍लीकेशन रिजेक्‍ट कर दी और अब तक केवल एक व्‍यक्ति को ही लोन दिया गया है। यानी केवल 0.36 फीसदी टारगेट अचीव किया है।

  • एक्‍सिस बैंक को 507 लोन अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें से 308 रिजेक्‍ट कर दी और लोन केवल 9 लोगों को दिया गया। यानी 2.92 फीसदी टारगेट अचीव किया।

  • एचडीएफसी बैंक को 344 अप्‍लीकेन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 94 रिजेक्‍ट कर दी और 2 लोगों को लोन दिया गया। बैंक ने 2.13 फीसदी टारगेट अचीव किया।

  • फेडरल बैंक को 655 अप्‍लीकेशन फॉरवर्ड की गई, जिसमें 354 रिजेक्‍ट कर दी गई और लोन केवल 2 लोगों को दिया गया। बैंक ने केवल .56 फीसदी टारगेट अचीव किया।

आगे पढ़ें : इन बैंकों का परफॉर्मेंस है बेहतर 

रूरल बैंक रहे आगे

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत लोन देने में रूरल बैंकों का परफॉरमेंस ठीक ठाक है। कई रूरल बैंकों ने 40 फीसदी तक टारगेट अचीव कर लिया है। जैसे -

  • त्रिपुरा ग्रामीण बैंक ने 40.36 फीसदी टारगेट अचीव कर लिया है।

  • ओडिशा ग्रामीण बैंक ने 42.21 फीसदी टारगेट अचीव किया है।

  • महाराष्‍ट्र ग्रामीण बैंक ने 39.51 फीसदी टारगेट अचीव किया है।

  • त्रिपुरा स्‍टेट कॉपरेटिव बैंक ने 42.86 फीसदी टारगेट अचीव किया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट