Home » Personal Finance » Banking » Updateknow why modi gov track your flat or plot

2018 : आपके फ्लैट - प्‍लॉट पर मोदी की नजर, नोटिस की तैयारी

साल 2017 खत्म होने में चंद दिन बाकी रह गए हैं और 2018 आने वाला है। नए साल में कई चीजें बदल जाएंगी।

1 of

नई दिल्‍ली।  साल 2017 खत्म होने में चंद दिन बाकी रह गए हैं और 2018 आने वाला है। नए साल में कई चीजें बदल जाएंगी। इस साल मोदी सरकार भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कई बड़े कदम उठा सकती है। यही वजह है कि सरकार की नजर आपके फ्लैट और प्‍लॉट पर भी है। यही नहीं, सरकार ने इसको लेकर नोटिस भेजने की भी तैयारी कर दी है। तो आइए जानते हैं पूरा मामला। 

 

सर्वे कर रही सरकार 


दरअसल, केंद्र सरकार सर्वे कर रही है कि जिनके नाम पर फ्लैट या प्‍लॉट है वे लोग इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल कर रहे हैं या नहीं। ऐसे में अगर आप फ्लैट या प्‍लॉट के मालिक हैं और आप इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं कर रहे हैं तो आप से सरकार पूछ सकती है कि आपने घर या प्‍लॉट कैसे खरीदा है। 
 
आ सकता है इनकम टैक्‍स विभाग का नोटिस 
इनकम टैक्‍स विभाग सर्वे के जरिए ऐसे लोगों की पहचान कर रहा है जिनके नाम पर फ्लैट या प्‍लॉट है और वे इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं कर रहे हैं। अगर इनकम टैक्‍स विभाग को लगता है कि आपकी प्रॉपर्टी आपकी इनकम प्रोफाइल को मैच नहीं करती है तो इनकम टैक्‍स विभाग आपको नोटिस देकर पूछ सकता है कि अपने फ्लैट या प्‍लॉट कैसे खरीदा है और आप इनकम टैक्‍स रिटर्न क्‍यों नहीं फाइल कर रहे हैं। आगे पढे - ऐसे दे सकते हैं इनकम टैक्‍स विभाग की नोटिस का जवाब 


 

ऐसे दे सकते हैं इनकम टैक्‍स विभाग की नोटिस का जवाब 


इनकम टैक्‍स अपीलेट ट्रिब्‍यूनल के पूर्व सदस्‍य और सीए राकेश गुप्‍ता ने moneybhaskar.com को बताया कि अगर आपके पास इनकम टैक्‍स विभाग का नोटिस आता है तो आप को सही जानकारी देनी चाहिए। उदाहरण के लिए आपने घर या प्‍लॉट लोन लेकर खरीदा है तो आप जवाब में इस बात की जानकारी दे सकते हैं लेकिन अगर इनकम टैक्‍स विभाग की जांच में पता चलता है कि आप ने अपनी इनकम को डिक्‍लेयर नहीं किया है जबकि आपकी इनकम पर टैक्‍स बनता है तो आप को टैक्‍स के साथ पेनल्‍टी भी देनी पड़ सकती है। 

 

200 फीसदी तक देनी पड़ सकती है पेनल्‍टी 


अगर इनकम टैक्‍स विभाग यह साबित कर देता है कि आपकी इनकम पर टैक्‍स बनता है और आप ने टैक्‍स ने दिया है तो आपको टैक्‍स के साथ 100 से 200 फीसदी तक पेनल्‍टी देनी पड़ सकती है। ऐसे में आपको इनकम टैक्‍स रिटर्न न भरना महंगा पड़ सकता है। 


रिटर्न न भरने वालों की पहचान कर रहा है IT विभाग 


इनकम टैक्‍स विभाग ने वित्‍त वर्ष 2017-18 में 1.20 करोड़ नए फाइलर्स को जोड़ने का लक्ष्‍य तय किया है। इसके लिए इनकम टैक्‍स विभाग ऐसे लोगों की पहचान कर रहा है जिनको नियम के तहत इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करना चाहिए लेकिन वे इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं कर रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट