Home » Personal Finance » Banking » Updateknow about story of businessman Maulana Badruddin Ajmal

कांग्रेस -बीजेपी के लिए सिरदर्द बना यह कारोबारी नेता, कई देशों में फैला है बिजनेस

इन दिनों देश के थलसेना अध्‍यक्ष बिपिन रावत के एक बयान ने राजनीति का पारा बढ़ा दिया है।

1 of

नई दिल्‍ली.. इन दिनों देश के थलसेना अध्‍यक्ष बिपिन रावत के एक बयान ने राजनीति का पारा बढ़ा दिया है। दरअसल, बीते बुधवार को रावत ने असम की राजनीति में तेजी से पैर पसार रहे ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) पार्टी पर सवाल उठाए। ऐसे में अचानक AIUDF के मुखिया बदरुद्दीन अजमल की चर्चा शुरू हो गई। 


कारोबारी बदरुद्दीन अजमल 

 

सिर्फ 10 साल के अंदर असम की राजनीति में खास हैसियत हासिल करने वाले 65 वर्षीय बदरुद्दीन अजमल मूल रूप से इत्र के बड़े कारोबारी हैं। भाजपा और कांग्रेस के लिए सिरदर्द बन चुके अजमल ने जितनी सफलता राजनीति में हासिल की है, कारोबार की दुनिया में भी उन्‍होंने उतना ही नाम कमाया है। तो आइए जानते हैं सियासत के नए खिलाड़ी बदरुद्दीन अजमल के कारोबारी सफर के बारे में।  


कारोबारी बदरुद्दीन अजमल 


बदरुद्दीन के पिता अजमल अली 'अजमल परफ्यूम' के फाउंडर थे। उनके कारोबार के वारिस बदरुद्दीन हैं और अब वह इस कारोबार को देश के अलावा दुनियाभर में बढ़ा रहे हैं। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, अजमल ने 1950 में अपना घर छोड़ा और बॉम्‍बे (अब मुंबई) चले गए। यहां वह असम से अगरवुड और दहन अल औध मंगाकर बेचने लगे। 1951 में उन्‍होंने विभिन्‍न इत्रों को मिलाना शुरू किया और 1964 में इस चेन को ‘अजमल’ नाम दिया। 1976 में कंपनी ने दुबई में अपना काम शुरू किया। वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, 90 के दशक में कंपनी ने कुवैत, ओमान, सऊदी अरब, बहरीन जैसे मध्‍य-पूर्व के देशों में कारोबार फैलाया।

 

होजाई कस्‍बे का मालिक 


एक रिपोर्ट के मुताबिक बदरुद्दीन अजमल का परिवार असम के नागांव जिले के होजाई कस्‍बे के अधिकतर हिस्‍से का मालिक है। यहां पर अजमल का महलनुमा आवास है जिसमें परिवार को मछलियां सप्‍लाई करने के लिए तालाब बनाया गया है। परिसर में बड़ा सा बागीचा है, अलग-अलग डिजाइन व रंगों की लगभग 20 कारें हैं और बॉडीगार्ड्स के लिए अलग बंगला है। आगे भी पढ़ें - 

 

 

कई कंपनियां शामिल 


अपने परिवार के साथ मिलकर बदरुद्दीन अजमल कई कंपनियां चलाते हैं। इनमें अजमल फ्रैगरेंसेज एंड फैशन प्राइवेट लिमिटेड, अजमल होल्डिंग एंड इनवेस्‍टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड, बेल्‍लेजा एंटरप्राइजेज लिमिटेड, हैप्‍पी नेस्‍ट डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, अल-माजिद डिस्टिलेशन एंड प्रोसेसिंग प्राइवेट लिमिटेड और अजमल बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड का नाम शामिल है।

 

भाजपा और कांग्रेस के लिए सिरदर्द 


बदरुद्दीन अजमल असम की राजनीति के सबसे चर्चित नाम हैं। उन्‍होंने 2 अक्‍टूबर 2005 को ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी की स्‍थापना की। मुख्‍य रूप से असम में सक्रिय यह पार्टी राज्‍य में ‘मुस्लिमों के हित’ में काम करने का दावा करती है।  2016 के असम विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के पसीने छुड़ाने वाले AIUDF ने 126 सीटों में से 13 सीटों पर जीत दर्ज की। इस चुनाव में उसका वोट शेयर 13 प्रतिशत रहा। वर्तमान में पार्टी के लोकसभा में तीन सदस्‍य हैं। इसके नेता बदरुद्दीन अजमल असम की धुबरी सीट से लोकसभा सांसद हैं। 


54 करोड़ की संपत्ति 


मुख्‍य रूप से इत्र का कारोबार करने वाले अजमल भारत के सबसे रईस राजनेताओं में से हैं। मायनेताडॉटइंफो के अनुसार 2016 में चुनावी हलफनामे में अजमल ने 54 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की थी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट