Home » Personal Finance » Banking » Updateknow about saudi arab Nirav Modi who do fraud by Black magic

ये है सऊदी का नीरव मोदी, काला जादू कर लूटता था बैंक

देश के सबसे बड़े बैंकिंग फ्रॉड के उजागर होने के बाद से ही हीरा कारोबारी नीरव मोदी की खूब चर्चा हो रही है।

1 of


नई दिल्‍ली। देश के सबसे बड़े बैंकिंग फ्रॉड के उजागर होने के बाद से ही हीरा कारोबारी नीरव मोदी की खूब चर्चा हो रही है। दरअसल,  नीरव मोदी इस पूरे खेल का मास्‍टरमाइंड है और वह 11 हजार करोड़ से ज्‍यादा की लूट के बाद विदेश फरार हो चुका है। भारत के लिए इस तरह का यह पहला मामला है। लेकिन दुनिया इतिहास में नीरव मोदी की तरह के कई किस्‍से पड़े हैं। इन कारोबारियों ने चूना भी ऐसा लगाया कि बैंक को दीवालिया होने की नौबत आ गई। इनमें भी  फुटांगा बाबानी सिसोको नामक शख्‍स की लूट और उसके तरीकों ने दुनियाभर को हैरान कर दिया था। वैसे तो बाबानी सिसोको अफ्रीका के माली देश का रहने वाला था लेकिन उसने लूट सऊदी अरब के 'दुबई इस्लामिक बैंक' में की थी। तो आइए जानते हैं इस दिलचस्‍प कहानी के बारे में।   

 

कार के लिए चाहिए था लोन 


बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक फुटांगा बाबानी सिसोको जब पहली बार  'दुबई इस्लामिक बैंक' में गया तब उसका मकसद कार के लिए लोन लेना था। वहीं उसने मोहम्मद अयूब नामक एक बैंक मैनेजर को दोस्‍त बनाया। तभी एक दिन सिसोको ने अयूब को दावत पर बुलाया और उसे अपने एक खास टैलेंट से परिचय कराया।  


दावत पर बुला किया काला जादू 


बीबीसी की रिपोर्ट में इस मामले की जांच करने वाले अधिकारी एलन फाइन के हवाले से यह किस्‍से के बारे में बताया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि दुबई इस्लामिक बैंक के मैनेजर मोहम्मद अयूब को सिसोको ने काला जादू का टैलेंट दिखाया। उसने अयूब को यह  यक़ीन दिला दिया कि वह अपने काला जादू से पैसे दोगुने कर सकता है। आगे पढ़ें - चल गया काला जादू 


 

चल गया काला जादू 


फिर क्‍या था, सिसोको के इस दावे को अयूब ने सही मानते हुए   अगले दिन कुछ रकम लेकर दोबारा उस शख्‍स के घर पहुंचा। कुछ देर की उठा-पटक और तंत्र-मंत्र के बाद दुबई इस्लामिक बैंक के मैनेजर के पैसे दोगुने हो गए। और इस तरह मैनेजर अयूब पर सिसोको का काला जादू कामयाब हो गया। और इस क़दर चला कि आगे चलकर दुबई इस्लामिक बैंक दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गया। 


1995 से शुरू की लूट


सिसोको ने अयूब की मदद से दुबई इस्लामिक बैंक को लूटना शुरू किया। ये सिलसिला 1995 से शुरू हुआ। अगले तीन साल तक अयूब ये सोचकर बबानी सिसोको के दुनिया भर के बैंक खातों में रक़म ट्रांसफ़र करता रहा।  उसे उम्मीद थी कि ये रकम दोगुनी होकर उसके पास वापस आएगी। यही वजह थी कि उसने सिसोको के हज़ारों डॉलर के क्रेडिट कार्ड बिल और जुर्माने भी बैंक की तरफ से भर डाले।  


सरकार को आना पड़ा आगे 

दुबई इस्लामिक बैंक की लूट इतनी बड़ी थी कि बैंक डूबने की कगार पर आ गया और दुबई की सरकार को आगे आना पड़ा।  बैंक के निवेशकों को डर लगने लगा और वह अपनी रकम बाहर निकाले पर अमादा हो गए। हालांकि‍ बैंक कर्मचारियों ने संकट को बहुत छोटी सी परेशानी बताया। 


विदेश हो चुका था फरार
जब मीडिया में मामला आया तब फ्रॉड का मास्‍टरमाइंड बैंक को पता चला कि बबानी सिसोको विदेश फरार हो चुका है। वहीं दुबई में बैंक  मैनेजर अयूब उसके दूसरे देशों के खातों में बैंक के पैसे ट्रांसफर कर रहा था।  


लूट पचाने के लिए की शादी 
इसके बाद सिसोको ने अमेरिका  के न्यूयॉर्क के सिटी बैंक को लूट पचाना शुरू किया। यहां उसने बैंक की महिला कर्मचारी को बातों के जाल में उलझाया और उससे शादी कर ली। सिटी बैंक में उसने अपनी नई बनी पत्नी की मदद से एक खाता खोला। इस खाते के ज़रिए बाबानी सिसोको ने दस करोड़ डॉलर की रकम दुबई इस्लामिक बैंक से इस खाते में ट्रांसफ़र कराई। सिसोको ने इस रक़म में से 5 लाख डॉलर अपनी पत्नी को भी दिए। सिसोको की ग़ैरमौजूदगी में दुबई की एक अदालत ने उसे घोटाला और काला जादू करने के लिए तीन साल क़ैद की सज़ा सुनाई। इंटरपोल ने बाबा सिसोको के ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी का वारंट भी जारी किया. आज भी इंटरपोल को उसकी तलाश है।

लूट पचाने के लिए की शादी 
इसके बाद सिसोको ने अमेरिका  के न्यूयॉर्क के सिटी बैंक को लूट पचाना शुरू किया। यहां उसने बैंक की महिला कर्मचारी को बातों के जाल में उलझाया और उससे शादी कर ली। सिटी बैंक में उसने अपनी नई बनी पत्नी की मदद से एक खाता खोला। इस खाते के ज़रिए बाबानी सिसोको ने दस करोड़ डॉलर की रकम दुबई इस्लामिक बैंक से इस खाते में ट्रांसफ़र कराई। सिसोको ने इस रक़म में से 5 लाख डॉलर अपनी पत्नी को भी दिए। सिसोको की ग़ैरमौजूदगी में दुबई की एक अदालत ने उसे घोटाला और काला जादू करने के लिए तीन साल क़ैद की सज़ा सुनाई। इंटरपोल ने बाबा सिसोको के ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी का वारंट भी जारी किया. आज भी इंटरपोल को उसकी तलाश है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट