Home » Personal Finance » Banking » Updateपोस्‍ट ऑफिस स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीमों पर ब्‍याज में 20 बेसिस प्‍वाइंट की कटौती- small saving schemes

नए साल में PPF, स्माल सेविंग्स पर मिलेगा कम ब्‍याज, 0.20% तक की हुई कटौती

केंद्र सरकार ने स्‍माल सेविंग स्‍कीम्स पर ब्‍याज दर में 20 बेसिस प्‍वाइंट यानी 0.2 फीसदी की कटौती की है।

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार ने स्‍माल सेविंग स्कीम्स पर ब्‍याज दर में 20 बेसिस प्‍वाइंट यानी 0.20 फीसदी की कटौती की है। यानी नए साल की जनवरी-मार्च तिमाही में पोस्‍ट ऑफिस की स्‍माल सेविंग स्‍कीम्स पर कम ब्‍याज मिलेगा। केंद्र सरकार ने पब्लिक प्रॉविडेंट फंड, किसान विकास पत्र और सुकन्‍या समृद्धि स्‍कीम पर ब्‍याज दर में 0.20 फीसदी की कटौती की है वहीं पांच साल की सीनियर सिटीजंस स्‍माल सेविंग स्‍कीम पर ब्‍याज दर में कोई बदलाव नहीं किया है। 

 

 

इंटरेस्ट रेट्स में हुए ये बदलाव

स्‍कीम  नया रेट पुराना रेट 
पीपीएफ  7.6% 7.8%
 किसान विकास पत्र  7.3% 7.5%
सुकन्‍या समृद्धि स्‍कीम  8.1% 8.3%
सीनियर सिटीजंस सेविंग स्‍कीम  8.3% 8.3%

 

जुलाई-सितंबर के लिए इंटरेस्‍ट रेट में हुई थी 10 बेसिस प्‍वाइंट की कटौती 

 

स्‍माल सेविंग स्‍कीम्‍स पर इंटरेस्‍ट रेट सरकारी बांड पर मिलने यील्‍ड यानी रिटर्न से लिंक्‍ड होता है। इससे पहले केंद्र सरकार ने जुलाई- सितंबर के लिए स्‍माल सेविंग पर इंटरेस्‍ट रेट 10 बेसिस प्‍वाइंट यानी 0.1 फीसदी की कटौती की थी। वहीं अक्‍टूबर-दिसंबर के लिए इंटरेस्‍ट रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया था। केंद्र सरकार हर तीन माह पर स्‍माल सेविंग इंटरेस्‍ट रेट की समीक्षा करती है। 

 

बांड की यील्‍ड से मैच नहीं करती है ब्‍याज दर 

 

स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीमों पर ब्‍याज दरों में कटौती सरकारी बांडों की यील्‍ड से मैच नहीं करती है। नवंबर फरवरी रेफरेंस पीरियड के लिए सरकारी बांडों पर यील्‍ड में 60 फीसदी से अधिक का उछाल आया है। ऐसे में सरकार का यह कदम बांड की यील्‍ड से मैच नहीं करता है। 

 

बैंक डिपॉजिट रेट से संतुलन बनाने के लिए कटौती 

 

स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीम्‍स पर इंटरेस्‍ट रेट में कटौती को स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीम्‍स पर ब्‍याज दर और बैंकों के डिपॉजिट रेट के बीच संतुलन बनाने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है। बैंकों ने एफडी और सेविंग अकाउंट पर इंटरेस्‍ट रेट में काफी कटोती की है। हाल में बैंकों में लिक्विडिटी में भी गिरावट आई है। ऐसे में सरकार पर इस बात का दबाव है कि बैंक डिपॉजिट रेट और स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीमों पर इंटरेटस्‍ रेट में ज्‍यादा अंतर न हो। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट