बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Banking » UpdateATM से निकालते हैं 1000-2000 रुपए तो फंस सकते हैं मुश्किल में

ATM से निकालते हैं 1000-2000 रुपए तो फंस सकते हैं मुश्किल में

बीते कुछ दिनों से देश के कई राज्यों के ATM और बैंकों में कैश की किल्‍लत देखने को मिल रही है।

1 of

नई दिल्‍ली। बीते कुछ दिनों से देश के कई राज्यों के ATM और बैंकों में कैश की किल्‍लत देखने को मिल रही है।  कई लोग तो इस हालात की तुलना नोटबंदी से कर रहे हैं। इन सब के बीच रिजर्व बैंक का दावा है कि कैश की कोई कमी नहीं है और आरबीआई के करंसी चेस्ट्स में पर्याप्त नकदी मौजूद है। आरबीआई के दावों के बावजूद कई शहरों में हालात अब भी सामान्‍य नहीं हुए हैं। शादी और त्‍योहार के इस माहौल में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन अगर कुछ सावधानियां बरती जाए तो इन परिस्थितियों में परेशानियों से निपटना आसान होगा। 

 

यह हमारी आदतों में शुमार है कि जब जितने पैसे की जरुरत पड़ती है उतना ही ATM से निकालते हैं। उदाहरण के लिए अगर आपको 500-1000 रुपए की जरुरत है तो आप सिर्फ इतनी ही रकम निकालते हैं । दरअसल, लोगों को लगता है कि जेब में  जितना कम रहेगा उतना कम खर्च होगा। लेकिन इसका परिणाम ये होता है कि आपकी राशि जल्‍द खत्‍म हो जाती है और दोबारा एटीएम की लाइन में लगना पड़ता है। कहने का मतलब ये है कि हर दिन की जरुरत के हिसाब से पैसे निकालना आपके लिए मुसीबत बन सकती है। 

 


ऐसे में क्‍या करें 


सबसे पहले अपनी जरुरत के पैसों का एक बजट बनाएं। बजट बनाते वक्‍त इस बात का ध्‍यान रखें कि वो कम से कम 10 दिन का हो। इसके बाद आप ATM से उन 10 दिनों के खर्चे की रकम निकाल लें। इसका फायदा ये होगा कि भविष्‍य में कैश की किल्‍लत का असर आप पर नहीं पड़ेगा।

 

ATM मशीन पर निर्भर रहना सही नहीं


पैसे निकालने के लिए सिर्फ ATM मशीन पर निर्भर रहना सही नहीं है। रकम ज्‍यादा होती है तो  ATM की बजाए बैंक के ब्रांच का रुख करें।  इसके लिए आप चेकबुक का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बैंक जाकर चेकबुक के जरिए आप अपनी जरुरत के हिसाब से पैसे निकाल सकते हैं।

 

 

इसके अलावा अगर आप शहर से बाहर जाते हैं तो खर्च से ज्‍यादा पैसे लेकर जाइए। आमतौर पर लोग ऐसा नहीं करते हैं। अधिकतर लोग यह सोच कर चलते हैं कि जिस नए शहर में जा रहे हैं वहां की ATM  मशीन से पैसे निकाल लेंगे। आपकी यह आदत किसी दिन आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती है। आगे पढ़ें - जेब भी हो सकती है ढीली 

 

 

जेब भी होगी ढीली 


यहां इस बात का भी ध्‍यान रखना जरुरी होता है कि अगर आप रेग्‍युलर ATM मशीन से ट्रांजेक्‍शन करते हैं इसका नुकसान भी होता है। दरअसल, अलग - अलग बैंक लिमिट से ज्‍यादा ATM ट्रांजेक्‍शन होने की स्थिति में अतिरिक्‍त चार्ज वसूलते हैं। ऐसे में हर दूसरे दिन ATM जाने की आदत की वजह से आपकी जेब ढीली हो सकती है। 

 


  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट