बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Banking » Update3250 करोड़ रुपए लोन विवाद के बाद पहली बार ICICI बैंक बोर्ड की मीटिंग, इन्‍सॉल्‍वेंसी मामलों का रिव्‍यू

3250 करोड़ रुपए लोन विवाद के बाद पहली बार ICICI बैंक बोर्ड की मीटिंग, इन्‍सॉल्‍वेंसी मामलों का रिव्‍यू

निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक आईसीआईसीआई बैंक का बोर्ड सोमवार को मीटिंग कर रहा है।

bank board reviews cases of insolvency

नर्इ दिल्‍ली। निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक आईसीआईसीआई बैंक का बोर्ड सोमवार को मीटिंग कर रहा है। मीटिंग में बोर्ड नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्‍यूनल के समक्ष इनसॉल्‍वेंसी मामले और दूसरे रूटीन मामलों की समीक्षा करेगा। आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ और वीडियोकॉन ग्रुप के बीच लोन देने में मिलीभगत के आरोप के बाद आईसीआईसीआई बोर्ड पहली बार मीटिंग कर रहा है। इस वजह से बोर्ड इस मीटिंग को अहम माना जा रहा है। 

 

 

बैंक ने बताया रूटीन मीटिंग 

आईसीआईसीआई बैंक ने बीएसई फाइलिंग में जानकारी दी है कि सोमवार को बोर्ड की मीटिंग हो रही है जो पहले से तय थी। बैंक ने इन्‍सॉल्‍वेंसी के बड़े मामलों में प्रगति की समीक्षा के लिए पिछले साल भी अप्रैल के पहले सप्‍ताह में मीटिंग की थी। 

 

 

वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने में मिलीभगत का आरोप 

पिछले सप्‍ताह आईसीआईसीआई बैंक पर आरोप लगा था कि बैंक की सीईओ चंदा कोचर ने मिलीभगत से वीडियोकॉन ग्रुप को 3250 करोड़ का लोन दिया जो बाद में एनपीए हो गया। वहीं चंदा कोचर पर आरोप है कि उनके पति को वीडियोकॉन ग्रुप ने लोन के बदले आर्थिक फायदा पहुंचाया है। 

 

 

सीबीआई ने बैंक के अधिकारियों से की पूछताछ 

जांच एजेंसी सीबीआई ने वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने के मामले में शुरुआती जांच करते हुए बैंक के अधिकारियों से पूछताछ की है। सीबीआई यह पता लगा रही है कि क्‍या वीडियोकॉन ग्रुप को लोन देने के मामले में किसी को फायदा पहुंचाया गया है। हालांकि इस बीच आईसीआई बैंक के बोर्ड ने सीईओ चंदा कोचर का बचाव करते हुए उन पर भरोसा जताया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट