विज्ञापन
Home » Personal Finance » Banking » Step To Step GuideHow you can make good credit score

लोन लेने से पहले सुधार लें यह गलती, बैंक फटाफट दे देगा पैसा

छोटे-छोटे स्टेप्स से मिल जाएगी बड़ी रकम

1 of

नई दिल्ली। मध्यम वर्ग के नौकरीपेशा लोगों खासकर प्राइवेट नौकरी करने वालों के सामने अक्सर जरुरतों को पूरा करने के आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है। इस संकट को दूर करने के लिए नौकरीपेशा लोग लोन या क्रेडिट कार्ड का सहारा लेते हैं। लोन या क्रेडिट कार्ड देने के लिए बैंक प्रत्येक व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर देखते हैं। बैड क्रेडिट स्कोर होने पर बैंक लोन या क्रेडिट कार्ड देने से इनकार कर देते हैं। यदि आप भी लोन या क्रेडिट कार्ड लेने के बार में सोच रहे हैं तो पहले अपना क्रेडिट स्कोर सुधार लें। यदि आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर है तो बैंक आपको फटाफट लोन और क्रेडिट कार्ड दे देंगे। आज हम आपको क्रेडिट स्कोर और इसके बेहतर बनाने के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। 

 

ये होता है क्रेडिट स्कोर
बैंकिंग एक्सपर्ट्स के अनुसार, क्रेडिट स्कोर एक तीन अंकों की संख्या होती है। यह 300 से 900 के बीच होती है। यह जितनी ज्यादा होती है, आपका क्रेडिट स्कोर उतना ही बेहतर माना जाता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि बैंक खाता, लोन और क्रेडिट कार्ड के लेनदेन के आधार पर क्रेडिट रिपोर्ट बनती है। इस क्रेडिट रिपोर्ट आपकी व्यक्तिगत जानकारी के साथ लोन और क्रेडिट कार्ड की जानकारी शामिल होती है। इस क्रेडिट स्कोर या क्रेडिट रिपोर्ट को कुछ कंपनियां तैयार करती हैं। भारत में TransUnion CIBIL, Experian, Equifax और CRIF Highmark नाम की कंपनियां क्रेडिट रिपोर्ट तैयार करती हैं।

ऐसे बनाएं बेहतर क्रेडिट स्कोर


- क्रेडिट स्कोर बेहतर बनाने के लिए कम कीमत वाला कोई सामान किस्तों पर खरीदें। इसके लिए आपको पैन नंबर और चेक देना होगा। किस्तों को समय पर चुकाकर आप बेहतर क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं। 
- यदि आप नौकरीपेशा हैं और आपकी सैलरी बैंक अकाउंट में आती है तो आप कम लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। इसके बाद आप इस क्रेडिट कार्ड से छोटी-छोटी खरीदारी करें और समय पर बिल का भुगतान करके क्रेडिट स्कोर बेहतर कर सकते हैं। 
- यदि आप नौकरीपेशा नहीं हैं तो आप बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) कराकर क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। आमतौर पर सभी बैंक ऐसी सुविधा देते हैं। 
- बेहतर क्रेडिट स्कोर के लिए क्रेडिट कार्ड का बिल और लोन की किस्त समय पर भुगतान कर दें। 
- क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट लिमिट का 50 प्रतिशत से ज्यादा खर्च ना करें। 
- होम लोन, ऑटो लोन जैसे सिक्योर्ड लोन को ज्यादा महत्व दें। पर्सलन लोन जैसे अनसिक्योर्ड लोन लेने से बचें।

इस वजह से खराब होता है क्रेडिट स्कोर


बैंकिंग एक्सपर्ट्स का कहना है कि कुछ बैंक 1 साल के बाद क्रेडिट कार्ड के रखरखाव के एवज में कुछ फीस लेते हैं। इस फीस को देने से बचने के लिए बड़ी संख्या में लोग एक साल बाद क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल बंद कर देते हैं। जबकि बैंक रखरखाव फीस को नॉन पेमेंट अमाउंट में डाल देते हैं। इससे आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है। इसके अलावा कुछ लोग क्रेडिट कार्ड का मिनिमम बिल भरते रहते हैं। यदि कोई व्यक्ति लगातार 6 माह तक ऐसा करता है तो उसका क्रेडिट स्कोर कम हो जाता है। 

मुफ्त में चेक कर सकते हैं क्रेडिट स्कोर


यदि आप लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं तो आप पहले अपना क्रेडिट स्कोर जरूर चेक कर लें। आप अपना क्रेडिट स्कोर CIBIL की वेबसाइट पर जाकर मुफ्त में चेक कर सकते हैं। यहां पर आपको पता, पैन नंबर, फोन नंबर जैसी जानकारी देनी होगी और आपका क्रेडिट स्कोर आपके सामने आ जाएगा। 

अच्छा क्रेडिट स्कोर होने पर होंगे यह फायदे


बैंकिंग एक्सपर्ट्स के अनुसार 750 से ज्यादा के क्रेडिट स्कोर को बेहतर माना जाता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर 750 से ज्यादा है तो आपको आसानी से लोन मिल जाएगा। इसके अलावा अच्छा क्रेडिट स्कोर होने पर बैंक आपको लोन पर कम ब्याज और खास ऑफर भी दे सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन