विज्ञापन
Home » Personal Finance » Banking » UpdateYour insurance premium is likely to cost less from April 1

1 अप्रैल से घट सकती है आपके बीमा की किस्त, इस वजह से इतनी आएगी कमी

सभी कंपनियां अब 2012-14 के डेटा का करेंगी इस्तेमाल

Your insurance premium is likely to cost less from April 1

Your insurance premium is likely to cost less from April 1  अगर आप भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं और जीवन बीमा खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। 1 अप्रैल  से जीवन बीमा खरीदना आसान हो जाएगा। इसके लिए जीवन बीमा कंपनियों और भारतीय बीमा प्राधिकरण ने तैयारियां शुरू कर दी है। बता दें कि इस बदलाव के चलते यदि 22 से 50 साल के लोग जीवन बीमा खरीदते हैं तो उन्हें काफी फायदा होगा।  सभी बीमा कंपनियां 1 अप्रैल से मृत्यु दर के नए आंकड़ों का पालन करेंगी।

नई दिल्ली। अगर आप भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं और जीवन बीमा खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। 1 अप्रैल  से जीवन बीमा खरीदना आसान हो जाएगा। इसके लिए जीवन बीमा कंपनियों और भारतीय बीमा प्राधिकरण ने तैयारियां शुरू कर दी है। बता दें कि इस बदलाव के चलते यदि 22 से 50 साल के लोग जीवन बीमा खरीदते हैं तो उन्हें काफी फायदा होगा।  सभी बीमा कंपनियां 1 अप्रैल से मृत्यु दर के नए आंकड़ों का पालन करेंगी।

 

 2012-14 के डेटा का किया जाएगा इस्तेमाल


बता दें कि अभी तक सभी बीमा कंपनियां 2006-08 का डेटा इस्तेमाल कर रहीं थी लेकिन अब इसके जगह 2012-14 के डाटा का इस्तेमाल किया जाएगा। इंस्टिट्यूट ऑफ एक्चुअरीज ऑफ इंडिया की ओर से प्रकाशित संशोधित इंडियन अस्योर्ड लाइव्स मोर्टैलिटी टेबल 2012-14 से पता चलता है कि 22 से 50 साल के भीतर इंश्योरेंस लेने वालों की मृत्यु दर 4 से 16 फीसदी कम है। 

 

इंश्योरेंस लेने वाली महिलाओं की मृत्यु दर घटी 


हालांकि कंपनियां 1 अप्रैल से अपने नियमों में परिवर्तन करेंगी लेकिन इससे नियमों से ज्यादा उम्र के लोगों को कोई फायदा नहीं होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि 82 से 100 साल के बीच मृत्यु दर काफी ज्यादा होती है। इससे कंपनियां 80 साल से ज्यादा वाला टर्म बीमा देने पर ज्यादा प्रीमियम चार्ज करेंगी। इसके साथ ही टेबल में यह बात भी सामने आई है कि इंश्योरेंस लेने वाली महिलाओं की मृत्यु दर घटी है। इसके अनुसार, 14 से 44 वर्ष की उम्र वाली इंश्योर्ड महिलाओं की मृत्यु दर 4.5 से 17 प्रतिशत तक सुधार आया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन