Home » Personal Finance » Mutual Fund » UpdateEmergency is in need of money, so these apps are usefull

इमरजेंसी में है पैसे की जरूरत, तो ये ऐप आएंगे काम

कर्ज लेने के लिए भी आजकल तमाम सरकारी और निजी बैंक अपने ऐप पर जरूरी दस्तावेज जमा करवाकर सेवाएं उपलब्ध करवा रहे हैं।

1 of
 
नई दि‍ल्‍ली. स्‍मार्टफोन और इंटरनेट के दौर में आज लगभग सभी काम ऑनलाइन होते हैं। ऐसे में कागज़ी झंझट से बचने के लिए आज की पीढ़ी फ्लाइट, रेलवे, बस टिकट से लेकर आधार-पैन कार्ड बनवाने जैसी सुविधाओं के लिए डिजिटल तरीके अपनाती है। यही कारण है कि‍ कर्ज लेने के लिए भी आजकल तमाम सरकारी और निजी बैंक अपने ऐप पर जरूरी दस्तावेज जमा करवाकर सेवाएं उपलब्ध करवा रहे हैं। ऐसे में अगर आप कर्ज लेने के लिए इनसे अलग विकल्प तलाश रहे हैं और आपको इंतजेंसी में है पैसों की जरूरत तो 'तुरंत' लोन देने वाले कुछ ऐप आपके काम आ सकते हैं। होम लोन, कार और बाइक लोन के अलावा पर्सनल लोन जैसी सेवाओं के साथ कुछ ऐप का इस्तेमाल आजकल ट्रेंड में है। 
 
सिबिल स्कोर और क्रेडिट स्कोर आएगा काम 
 
हम जि‍न ऐप के बारे में आपको बता रहे हैं जो जरूरी दस्तावेज अपलोड करने के बाद सिबिल स्कोर के आधार पर आपका क्रेडिट स्कोर जांचते हैं और योग्य पाए जाते हैं तो तय समयसीमा के भीतर आपको लोन मिल सकता है। आइए जानें ऐसे 3 ऐप के बारे में... 
आगे पढ़ें : कौन कौन से ऐप हैंं लि‍‍‍‍स्‍ट में 
CASHe – Instant Personal Loans 
 
यह ऐप आवेदक को 10,000 से 2 लाख रुपये तक का कर्ज दिला सकता है। ऐप का दावा है कि नियम और शर्तों के मुताबिक अगर आवेदक योग्य पाया जाता है तो बिना पेपरवर्क और समय खपाए कुछ ही मिनट में लोन अप्रूव हो जाएगा। इसे ऐप को अब तक 5 लाख से ज्यादा लोग इस्तेमाल कर चुके हैं। यह ऐप भानिक्स फाइनैंस एंड इनवेस्टमेंट लिमिटेड से लोन दिलाता है। भानिक्स फाइनैंस एनबीएफसी से संबद्ध है। इस ऐप की गूगल प्ले स्टोर पर 4 प्लस रेटिंग है। 
PaySense 
 
पेसेंस नाम का यह ऐप आपको मेडिकल इमर्जेंसी से लेकर स्मार्टफोन खरीदने तक के लिए लोन उपलब्ध करवाने का दावा करता है। इस ऐप की शुरुआती शर्त यह है कि‍ आवेदक वेतनभोगी कर्मचारी होना चाहिए और वह अपने बैंक एकाउंट में कम से कम 15,000 रुपए प्रतिमाह सैलरी पाता हो। आवेदक की उम्रसीमा 21 साल से 60 साल के बीच होनी चाहिए। तमाम शर्तों के साथ यह ऐप आपको 3 से 4 वर्किंग डे के भीतर राशि मुहैया करवाने का वादा करता है। ऐप के बाकी नियम आप प्लेस्टोर पर जाकर डाउनलोड करने से पहले या बाद में पढ़ सकते हैं। एक और खास बात आपको बता दें कि पेसेंस ऐप का करार एनबीएफसी (नॉन बैंकिंग फाइनैंशियल कॉर्पोरेशन) आईआईएफएल से है। एनबीएफसी दरअसल रिजर्व बैंक से संबद्ध संस्था है, जिसके वर्तमान में 35 लाख ग्राहक हैं। गूगल प्लेस्टोर पर इस ऐप की रेटिंग 4 प्लस है। 
mPokket 
 
इस ऐप को अब तक तकरीबन 1 लाख यूजर अपने स्मार्टफोन में इंस्टाल कर चुके हैं। यह ऐप खास तौर से यह ऐप छात्रों को उनकी जरूरत पर पेटीएम में कर्ज की राशि पहुंचाने का दावा करता है। इस ऐप ने खुद को एक ऐसा मार्केटप्लेस बताया है, जो ज़रूरतमंद लोगों के कर्ज देने वाले लोगों और कंपनियों से जोड़ने का काम करता है। गूगल प्लेस्टोर पर 4.5 से ज्यादा की रेटिंग वाला यह ऐप जरूरतमंदों को कर्ज मुहैया करवाता है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss