बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Mutual Fund » Update50 रुपए से कम NAV वाले टॉप 5 म्‍युचुअल फंड, मिला 18% तक रिटर्न

50 रुपए से कम NAV वाले टॉप 5 म्‍युचुअल फंड, मिला 18% तक रिटर्न

कम NAV वाले कई लार्ज कैप म्‍युचुअल फंड अच्‍छा रिटर्न दे रहे हैं।

Top 5 large cap mutual funds for investment
 
नई दिल्‍ली. इक्विटी म्‍युचुअल फंड लगातार अच्‍छा रिटर्न दे रहे हैं। लोगों को ज्‍यादा जानकारी नहीं है, इसलिए सही म्‍युचुअल फंड का चुनाव नहीं कर पाते हैं। लेकिन बाजार में कई स्‍कीम अच्‍छा रिटर्न दे रही हैं और उनकी नेट आसेट वैल्‍यू (NAV) अभी भी 50 रुपए से कम है। इन फंड में निवेश करके अच्‍छा रिटर्न पाया जा सकता है। 
 
 
लार्ज कैप फंड 
इक्विटी म्‍युचुअल फंड में लार्ज कैप में निवेश ज्‍यादा सुरक्षित समझा जाता है। इन फंड में निवेश का पैसा बड़ी कंपनियों में लगाया जाता है। इस कैटेगरी में सभी म्‍युचुअल फंड की ढेरों स्‍कीम हैं। सेबी ने पिछले साल अक्‍टूबर में कैटेगरी के नए नियम लागू किए हैं। इसके बाद लार्ज कैप फंड किन कंपनियों में निवेश कर सकते हैं, यह तय कर दिया गया है। म्‍युचुअल फंड कंपनियों ने भी अपनी स्‍कीम्‍स में सेबी के नए नियमों के हिसाब से बदलाव कर लिया है। 
 
 
कौन सी हैं ये स्‍कीम 
 

स्‍कीम

NAV

रिटर्न प्रतिशत में

इनवेस्‍को इंडिया ग्रोथ अपर्च्‍युनिटी फंड - Direct (G)

36.010

18.0

IDFC फोकस्‍ड इक्विटी फंड - Direct (G)

42.400

17.7

DHFL लार्ज कैप Series 1 - Direct (G)

12.355

15.0

एडेलवाइस लार्ज कैप फंड - Direct (G)

35.550

14.8

एडेलवाइस लार्ज कैप फंड  A (G)

34.340

13.9

 

नोट : डाटा 20 जून 2018 तक का अपडेट। NAV का मतलब नेट आसेट वैल्‍यू। रिटर्न एक साल का। 

 

रिटर्न पर देना चाहिए ध्‍यान 
अंश फाइनेंशियल एंड इन्‍वेस्‍टमेंट के डायरेक्‍टर दिलीप कुमार गुप्‍ता के अनुसार हालांकि म्‍युचुअल फंड में NAV से बहुत अंतर नहीं पड़ता है। फिर भी कम NAV वाली स्‍कीम में निवेश करना लोगों को अच्‍छा लगता है। उनके अनुसार ऐसा करने में कुछ गलत नहीं है, लेकिन हमेशा ध्‍यान रखना चाहिए कि अच्‍छी स्‍कीम में ही निवेश किया जाए। इसके अलावा जब भी इक्विटी स्‍कीम में निवेश करें तो इसे लम्‍बे समय के लिए जरूर करें। ऐसा करने से ही अच्‍छा रिटर्न मिलता है। 
 
 
कौन सा है निवेश का अच्‍छा तरीका 
दिलीप के अनुसार इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश का सबसे अच्‍छा तरीका हर माह एक निश्चित राशि का निवेश करना होता है। सभी म्‍युचुअल कंपनियां इस तरह निवेश का मौका देती हैं। म्‍युचुअल फंड में इस तरीके को सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) कहा जाता है। SIP के माध्‍यम से नुकसान की आशंका जहां कम हो जाती है, वहीं बाद में यह थोड़ा-थोड़ निवेश बड़ा फंड बन जाता है। 
 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट