Home » Personal Finance » Financial Planning » Step To Step GuideAvoid making these 5 mistakes in investment to earn maximum returns

इंवेस्टमेंट करने में कभी न करें ये पांच गलतियां, रहेंगे फायदे में

सीए व टैक्स एक्सपर्ट देते हैं इन गलतियाें से बचने की सलाह

1 of

नई दिल्ली.

अगर आपको इंवेस्टमेंट से जुड़ी बारीकियां पता हैं तो आप अपनी सैलरी में से खजाना तैयार कर सकते हैं। इंवेस्टमेंट वैसे तो फायदे का सौदा होता है, लेकिन कई बार कुछ बातें पता न हाेने से लोग इसका पूरा फायदा नहीं उठा पाते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी बातों के बारे में जो आपको पता होनी बेहद जरूरी हैं। ये कुछ ऐसी गलतियां हैं, जिन्हें अवॉयड करके आप बेहतर इंवेस्टमेंट कर पाएंगे और आपको काफी अच्छे रिटर्न मिलेंगे।

 

सीए व टैक्स एक्सपर्ट हिमांशु कुमार के मुताबिक इन पांच गलतियों को करने से हमेशा बचना चाहिए, तभी आपको अपने फाइनेंशियल लक्ष्य को हासिल करना चाहिए।

 

पहली गलती: देर से निवेश शुरू करना

अधिकतर लोग इंवेस्टमेंट देर से शुरू करते हैं। वे कमाना शुरू करते ही इंवेस्टमेंट नहीं करते, बल्कि तब करते हैं जब कुछ समय बीत जाता है या जब कोई उन्हें बताता है इंवेस्टमेंट के बारे में। कई बार लोग एक लक्ष्य बना लेते हैं कि जब उनकी सैलरी बढ़ेगी तब वे निवेश करेंगे। कुछ लोग सोचते हैं कि वे एक निश्चित उम्र में आकर निवेश शुरू करेंगे। यह सबसे बड़ी गलती है। आपकी उम्र चाहे कितनी भी हो और आपकी सैलरी भी कम क्यों न हों, आपको निवेश हमेशा जल्दी से जल्दी शुरू कर देना चाहिए। जैसे ही आपकी नौकरी लगे इंवेस्टमेंट शुरू कर दें। इससे आपका पोर्टफोलियो बड़ा होने के चांस अच्छे रहते हैं और एक निश्चित अवधि के बाद आपका पैसा काफी बढ़ सकता है।

 

आगे पढ़ें: अन्य गलतियों के बारे में

 

 

दूसरी गलतीकम समय में ज्यादा रिटर्न की उम्मीद रखना

ये आमतौर पर हर इंवेस्टर की आदत होती है कि वे इंवेस्टमेंट करते ही रिटर्न की उम्मीद लगाने लगते हैं। जब वे मार्केट या म्युच्युअल फंड में पैसा लगाते हैं तो छह महीने या एक साल में ही रिटर्न ढूंढना शुरू कर देते हैं। इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह भी गलती है। इंवेस्टर्स को अपने अंदर थोड़ा सब्र लाने की जरूरत है। इंवेस्टमेंट हमेशा तभी फलदायी होता है जब आप उसे कुछ सालों का वक्त दें। जैसा कि आप LIC या किसी अन्य लॉन्ग टर्म निवेश को देते हैं। Mutual Funds को भी ऐसे ही ट्रीट करें। बाजार में पैसा छह महीने या एक साल में कभी दोगुना-तिगुना नहीं होता है। हालांकि अगर आपको लगता है कि किसी इंवेस्टमेंट को अच्छा समय देने के बाद भी उसमें से आपको उम्मीद के मुताबिक रिटर्न नहीं मिल रहे हैंतो एेसे में आप अपना पोर्टफोलियो भी बदल सकते हैं।

 

तीसरी गलतीमेडिकल और टर्म इंश्योरेंस की जानकारी न रखना

अधिकतर लोगों को लगता है कि इंश्योरेंस का मतलब है एलआईसी और कोई लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस। जबकि ऐसा नहीं है। आज के समय में मेडिकल इंश्योरेंस और टर्म इंश्योरेंस होना बेहद जरूरी है। किसी सूरत में आपको कुछ हो जाए तो आपके परिवार का ख्याल रखने के लिए टर्म इंश्योरेंस काम अाता है। मेडिक्लेम की मदद से आप बीमारियों और अन्य मेडिकल खर्चों का भुगतान कर सकेंगे। अगर आपने मेडिक्लेम नहीं लिया है तो अस्पताल का भरी-भरकम बिल चुकाने के लिए आपको लोन लेना पड़ सकता है। ऐसे में कई बार लोग अपने निवेश को भी वापस खींच लेते हैंजो आगे आने वाले समय में नुकसान देता है।

 

आगे पढ़ेंअन्य गलतियों के बारे में

 

 

चौथी गलतीबिना लक्ष्य तय किए निवेश करना

अक्सर लोग निवेश के नाम पर किसी भी Fixed deposit, म्युच्युअल फंड या अन्य जगहों पर पैसा लगा देते हैं। वे बैठकर इस बात की प्लानिंग नहीं करते हैं कि उनका लॉन्ग टर्म गोल क्या हैउन्हें भविष्य में किन-किन चीजों के लिए किजना पैसा लग सकता है और उस हिसाब से सबसे अच्छा निवेश कहा किया जा सकता है। इसके लिए बेहद जरूरी है कि आप अपनी सैलरीउम्र और जरूरत के हिसाब से अपने लिए इंवेस्टमेंट प्लान चुनें। इसके साथ ही यह भी जरूरी है कि आप अपना सारा पैसा एक ही जगह निवेश न करें। अपनी भविष्य की जरूरताें के हिसाब से आप कई इंवेस्टमेंट स्कीम्स में निवेश कर सकते हैंजिससे अगर कभी बाजार में मंदी आ भी जाए तो आपके पैसे न डूबें।

 

पांचवीं गलतीफाइनेंशियल एडवाइजर न चुनना और उसकी सलाहें न मानना

अधिकांश लोग बाजार और इंवेस्टमेंट की बारीकियां ज्यादा नहीं जानतेइसके बावजूद वे अपना पोर्टफोलियो खुद ही संभालने की कोशिश करते हैं। यह कई बार काफी खतरनाक हो सकता है। आपको अपने निवेश के बारे में किसी एक्सपर्ट से सलाह लेना जरूरी हैताकि आप बाजार की नब्ज पहचानकर सही निवेश कर सकें। हालांकि आपको अपने निवेशों के बारे में पूरी जानकारी रखनी होगी ताकि फाइनेंशियल एडवाइजर आपका गलत फायदा न उठा लें।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट