बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Loans » Updateघट गई होम लोन की ईएमआई, यहां मिल रहा है सबसे सस्ता लोन

घट गई होम लोन की ईएमआई, यहां मिल रहा है सबसे सस्ता लोन

देश के प्रमुख बैंक एसबीआई, आईसीआईसीआई, एक्सिस बैंक ने जहां अपना होम लोन सस्ता किया है वहीं, प्रमुख हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एच़़डीएफसी ने भी ब्याज दरें घटा दी है।

1 of
नई दिल्‍ली। एक बार फिर कर्ज सस्ता करने की शुरूआत बैंकों ने कर दी है। जिसका फायदा अब होम लोन ग्राहकों को मिलेगा। देश के प्रमुख बैंक एसबीआई और आईसीआईसीआई ने जहां अपना होम लोन सस्ता किया है वहीं, प्रमुख हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एच़़डीएफसी, डीएचएफएल, सुंदरम बीएनपी पारिबा हाउसिंग फाइनेंस, इंडियाबुल्‍स हाउसिंग फाइनेंस और इंडिया इंफोलाइन हाउसिंग फाइनेंस ने भी ब्याज दरें घटा दी है। इस समय एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी सबसे सस्ता कर्ज देने वाले बैंक और कंपनी बन गए हैं। कर्ज घटने की शुरूआत से न केवल नए कर्ज लेने वाले ग्राहकों को फायदा मिलेगा, बल्कि मौजूदा ग्राहकों की भी ईएमआई कम होगी।  इसके अलावा, नए ग्राहक ब्‍याज दर घटने के बाद अब पहले से कहीं ज्‍यादा होम लोन लेने के योग्‍य होंगे।
एचडीएफसी और एसबीआई की घटी ब्‍याज दरें 13 अप्रैल से प्रभावी हैं जबकि आईसीआईसीआई की 14 अप्रैल से और डीएचएफएल की घटी ब्‍याज दरें 15 अप्रैल से । ब्‍याज दर घटने का लाभ नए और पुराने दोनों ग्राहकों को मिलेगा बशर्ते उन्‍होंने फ्लोटिंग रेट पर लोन लिया हो।
 
सस्‍ता हुआ होम लोन
 
 
 
बैंक/हाउसिंग फाइनेंस कंपनी
ब्‍याज दरें
(फीसदी में)
  महिला पुरुष
आईसीआईसीआई बैंक 9.85 9.90
एसबीआई 9.85 9.90
एक्सिस बैंक 9.95   9.95
एचडीएफसी 9.90 9.90
डीएचएफएल       9.90   9.90
इंडियाबुल्‍स हाउसिंग फाइनेंस 9.90 9.90
सुंदरम बीएनपी पारिबा होम फाइनेंस 9.95    9.95
इंडिया इंफोलाइन हाउंसिंग फाइनेंस  9.90 9.90
अगली स्‍लाइड में जानिए कितनी घटी ईएमआई ...
तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल सिर्फ प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।
घटी होम लोन की ईएमआई
 
अगर आप 20 साल के लिए तीस लाख रुपए का लोन लेते हैं तो 10.10 फीसदी से आपको 29,140 रुपए की ईएमआई देनी होती है। ब्‍याज दर घट कर 9.9 फीसदी होने से इसी लोन की ईएमआई आपके लिए 28,752 रुपए होगी। मलतब सालाना 4,656 रुपए की बचत आप ईएमआई में कर पाएंगे।
हालांकि, मौजूदा होम लोन ग्राहकों की ईएमआई घटने का लाभ उनके होम लोन की अवधि पर होगा। ज्‍यादातर होम लोन ग्राहक ईएमआई का भुगतान इलेक्‍ट्रॉनिक क्लियरिंग सर्विस (ईसीएस) के जरिए करते हैं। अगर वे घटी दर पर समान ईएमआई का भुगतान करते हैं तो उनके लोन की अवधि घट जाती है क्‍योंकि मूलधन के रूप में वे पहले से कहीं अधिक राशि का भुगतान करते हैं।
अगर कोई मौजूदा होम लोन ग्राहक घटी ब्‍याज दरों के हिसाब से अपनी ईएमआई करवाना तो उसे भुगतान के लिए नया निर्देश बैंक को देना होता है। साथ ही कुछ डॉक्‍यूमेंटेशन का काम भी पूरा करना होता है।
 
अगली स्‍लाइड में जानिए कैसे ले सकते हैं अब ज्‍यादा होम लोन....
तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल सिर्फ प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।
 
कम सैलरी में अब मिलेगा ज्‍यादा लोन
 
कर्जदाताओं के उधारी दर घटाने से उधार लेने वाले व्‍यक्ति की पात्रता बढ़ती है। ज्‍यादा लोन मिलने का मतलब है कि उधार लेने वाले व्‍यक्ति द्वारा किए जाने वाले डाउनपेमेंट में भी उसी हिसाब से कमी आती है। इसे ऐसे समझें कि अगर ब्‍याज दरों में चौथाई फीसदी की कमी आती है तो लोन की पात्रता में एक से दो फीसदी तक का इजाफा होता है। वेतनभोगियों को बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां स्‍व-रोजगारियों की तुलना में कम दर पर होम लोन उपलब्‍ध कराते हैं। आइए, देखते हैं कि ब्‍याज दर घटने से एक वेतनभोगी की होम लोन लेने की पात्रता में कितनी बढ़ोतरी हुई है।
 
अब कितना मिलेगा होम लोन
लोन अवधि    @10.10 फीसदी    @9.85 फीसदी लोन की पात्रता में हुई वृद्धि
15 साल 30,07,224 30,50,362  1.4 फीसदी
20 साल  33,44,804 34,02,769  1.7 फीसदी
25 साल 35,48,966  36,18,556 2 फीसदी
30 साल 36,72,440 37,50,689 2.1 फीसदी                                
 
तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल सिर्फ प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।                 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट