Home » Personal Finance » Income Tax » Step To Step Guideincome tax department tracking who are filing income tax return

कितना कमाते हैं आप इन 5 तरीकों से पता लगाएगी सरकार

सरकार कई तरीकों से ऐसे लोगों की इनकम प्रोफाइल चेक कर रही है जिनकी सालाना इनकम 2.5 लाख रुपए से अधिक है और जो इनकम टैक्‍स

1 of

नई दिल्‍ली। अगर आपकी सालाना इनकम 2.5 लाख रुपए से अधिक है तो आपके लिए इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करना जरूरी है। अगर आप सोचते हैं कि आप इनकम टैक्‍स रिटर्न  फाइल नहीं करते हैं तो सरकार नहीं जान पाएगी कि आपकी सालाना इनकम कितनी है तो आप गलत हैं।

 

सरकार कई तरीकों से ऐसे लोगों की इनकम प्रोफाइल चेक कर रही है जिनकी सालाना इनकम 2.5 लाख रुपए से अधिक है और जो इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं करते हैं। केंद्र सरकार ने मौजूदा वित्‍त वर्ष में 1.25 करोड़ नए फाइलर्स को टैक्‍स नेट में जोड़ने का लक्ष्‍य तय किया है। आज हम आपको ऐसे 5 तरीकों के बारे में बता रहे हैं जिससे सरकार आपकी इनकम पता लगा सकती है और आपको नोटिस भेज सकती है कि आप इनकम टैक्‍स रिटर्न क्‍यों नहीं फाइल कर रहे हैं। 

 

ये भी पढ़े -   इनकम टैक्स बचाने के तरीके, How to Save Tax in Hindi?


आपने खरीदी है कार 

इनकम टैक्‍स अपीलेट ट्रिब्‍यूनल के पूर्व मेंबर और सीए राकेश गुप्‍ता ने moneybhaskar.com को बताया कि अगर आपने कार खरीदी है तो सरकार को पता चल जाएगा कि आपने कार खरीदी है। नए नियमों के तहत कार खरीदने के लिए पैन डिटेल देना जरूरी हो गया है। ऐसे में आपकी पैन डिटेल से सरकार पता कर लेगी कि आप इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल कर रहे हैं या नहीं। इनकम टैक्‍स विभाग कार ख्‍रीदने वालों को को नोटिस भेज कर पूछ सकता है कि आपकी सालाना कितनी है और इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल क्‍यों नहीं कर रहे हैं। इनकम टैक्‍स विभाग यह भी पूछ सकता है कि आपके पास कार खरीदने के लिए पैसा कहां से आया। 

 

ये भी पढ़े -   इनकम टैक्स स्लैब रेट- Income Tax Slab Rate for 2017-18

 

अगर खरीदी है 30 लाख रुपए से अधिक की प्रॉपर्टी 

 

अगर आपने 30 लाख रुपए से अधिक कीमत की प्रॉपर्टी जैसे फ्लैट या प्‍लॉट की रजिस्‍ट्री कराई है तब भी सरकार आपकी इनकम प्रोफाइल खंगाल सकती है। नए नियमों के तहत 30 लाख रुपए से अधिक कीमत की प्रॉपर्टी की रजिस्‍ट्री के लिए पैन डिटेल देना जरूरी है। ऐसे में इनकम टैक्‍स विभाग पैन डिटेल के जरिए आपकी टैक्‍स प्रोफाइल चेक कर सकता हैं । अगर उसे पता चलता है कि प्रॉपटी ओनर इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं कर रहा है तो वह ओनर को नोटिस देकर पूछ सकता है कि आपकी सालाना इनकम कितनी है और आपके पास प्रॉपर्टी खरीदने के लिए पैसा कहां से आया है। 

 

महंगी लाइफ स्‍टाइल 

 

अगर आप खर्चीली लाइफ स्‍टाइल मेनटेन करते हैं और डेबिट या क्रेडिट कार्ड से महंगी खरीदारी करते हैं।  होटज बिल के तौर पर लाखों का बिल क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से चुकाते हैं तब भी आप इनकम टैक्‍स विभाग की नजर में आ सकते हैं। अगर आप इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं कर रहे हैं तो इनकम टैक्‍स विभाग  आपको नोटिस भेज कर पूछ सकता  है कि आपकी सालाना इनकम कितनी है और आप इनकम टैक्‍स रिटर्न क्‍यों नहीं फाइल कर रहे हैं। 

 

आगे पढें- अकाउंट में बड़े ट्रांजैक्‍शन को ट्रैक कर रही है सरकार 

 

 

अकाउंट में बड़ा कैश ट्रांजैक्‍शन 

 

अगर आपके अकाउंट में 5 लाख रुपए या 10 लाख रुपए जैसे बड़े अमाउंट का ट्रांजैक्‍शन होता है तो भी आप इनकम टैक्‍स विभाग की नजर में आ सकते हैं। इतनी बड़ी राशि कैश ट्रांजैक्‍शन के लिए पैन डिटेल देना जरूरी है। अगर इनकम टैक्‍स विभाग को लगता है कि आपका यह ट्रांजैक्‍शन आपकी इनकम प्रोफाइल के हिसाब से नहीं है तो वह आपको नोटिस भेज कर कर इस ट्रांजैक्‍शन के बारे में जानकारी मांग सकता है। इनकम टैक्‍स विभाग आपसे आपकी सालाना इनकम के बारे में भी पूछताछ कर सकता है। 

 

फील्‍ड सर्वे 

इसके अलावा इनकम टैक्‍स विभाग के देश भर में रीजलल ऑफिस हैं। इनकम टैक्‍स विभाग के अधिकारी स्‍थानीय स्‍त्‍र पर फील्‍ड में जाकर सूचनाएं जुटा रहे हैं कि किसी आदमी की सालाना इनकम कितनी है और वह व्‍यक्ति इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल कर रहा है या नहीं। पुख्‍ता सूचना जुटाने के बाद इनकम टैक्‍स विभाग ऐसे लोगों को नोटिस भेज कर पूछ सकते हैं कि आपकी सालाना इनकम कितनी है आप इनकम टैक्‍स रिटर्न क्‍यों नहीं फाइल कर रहे हैं। 

 

 

 


 

  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट