Advertisement
Home » Personal Finance » Income Tax » Step To Step GuideYou can save income tax till 10 lakh rupee income per year

10 लाख रुपए तक की आय पर नहीं देना होगा कोई टैक्स, बस करना होगा यह काम

बेहतर निवेश से होगी ज्यादा बचत, नहीं रहेगी रुपयों की कमी

1 of

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अपने अंतरिम बजट में 5 लाख रुपए तक की कर योग्य आय को टैक्स फ्री कर दिया है। इसका सबसे ज्यादा फायदा नौकरीपेशा लोगों को होगा। लेकिन अगर आपकी आय 5 लाख रुपए से ज्यादा और 10 लाख रुपए से कम है तो आप भी टैक्स देने से बच सकते हैं। हालांकि, इसके लिए आपको बेहतर निवेश प्रबंधन करना होगा। इसके जरिए आपको कमाई तो होगी ही, साथ ही टैक्स देने से भी बच जाएंगे। आइए आपको बताते हैं कि आप कैसे 10 लाख तक की आय पर टैक्स से छूट पा सकते हैं। 

 

5 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं

सरकार ने 5 लाख रुपए तक की करयोग्य आय को टैक्स फ्री कर दिया है। यानी आपको इस सीमा तक कोई टैक्स नहीं देना है। 

 

स्टैंडर्ड डिडक्शन

यदि आपकी आय पांच लाख रुपए से ज्यादा है तो आप आईटीआर जमा करते समय 50 हजार रुपए का स्टैंडर्ड डिडेक्शन पा सकते हैं। 

 

सेक्शन 80 सी के तहत छूट

5 लाख रुपए से अधिक आय होने पर आप सेक्शन 80सी के तहत डेढ़ लाख रुपए तक के निवेश पर टैक्स छूट का दावा कर सकते हैं। सेक्शन 80सी के तहत किया गया निवेश पूरी तरह से कर मुक्त होता है। सेक्शन 80सी के तहत ईपीएफ, पीपीएफ, जीवन बीमा, सुकन्या समृद्धि योजना, बीमा कंपनियों की पेंशन योजना, बच्चों की ट्यूशन फीस, होम लोन के मूलधन पर टैक्स छूट, वरिष्ठ नागरिक बचत योजनाओं में किया गया निवेश शामिल है। 

एनपीएस


सरकार ने सेवानिवृत्ति के बाद आर्थिक मजबूती के लिए नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) चला रखी है। आप इस स्कीम में निवेश के जरिए सालाना 50 हजार रुपए तक की छूट के लिए दावा कर सकते हैं। यदि आपका निवेश 50 हजार रुपए या इससे कम है तो आप पूरी तरह से कर छूट के लिए दावा कर सकते हैं। 

 

धारा 80डी 

आप स्वास्थ्य बीमा के प्रीमियम भुगतान पर धारा 80 डी के तहत 25 हजार रुपए तक के निवेश पर कर छूट का दावा कर सकते हैं। 

मेडीक्लेम माता-पिता


आप माता-पिता के नाम पर ली गई मेडीक्लेम पॉलिसी के प्रीमियम भुगतान के लिए 25 हजार रुपए तक की कर छूट का दावा कर सकते हैं।

 

होम लोन ब्याज

यदि आपने होम लोन ले रखा है तो इसके लिए दी जा रही ब्याज के भुगतान पर सालाना 2 लाख रुपए तक की टैक्स छूट का दावा कर सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement