बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Income Tax » Updateमुंबई में विदेशियों की चांदी, मिलती है दुनिया में सबसे ज्‍यादा सैलरी

मुंबई में विदेशियों की चांदी, मिलती है दुनिया में सबसे ज्‍यादा सैलरी

हमारे देश में आमतौर पर ज्‍यादा पैसा कमाने के लिए लोग विदेश जाते हैं लेकिन समय के साथ हालात भी बदले हैं

1 of

नई दिल्‍ली... हमारे देश में आमतौर पर ज्‍यादा पैसा कमाने के लिए लोग विदेश जाते हैं लेकिन समय के साथ हालात भी बदले हैं और अब विदेशियों को हमारे देश में ज्‍यादा सैलरी मिल रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत की आर्थिक, कमर्शियल और एंटरटेनमेंट राजधानी मुंबई विदेशियों को मिलने वाली सैलरी के मामले में पहले नंबर पर है।

 

सालाना 1.40 करोड़ रुपए रुपए की सैलरी 


एचएसबीसी बैंक इंटरनेशनल लिमिटेड के सर्वे के मुताबिक मुंबई में काम करने के लिए आने वाले विदेशियों को मोटी सैलरी मिलती है। मुंबई में काम करने वाले विदेशियों को औसतन सालाना 2.17 लाख डॉलर (1.40 करोड़ रुपए) सैलरी मिलती है। यह आंकड़ा ग्लोबल एक्सपैट ( अप्रवासी) औसत  दोगुना है। सर्वे में टॉप 10 एक्सपैट शहरों में शंघाई, जकार्ता और हॉन्ग कॉन्ग जैसे अन्य एशियाई देश शामिल हैं। आगे भी पढ़ें - 

 

 

 

मुंबई में रोजगार के अवसर कम 


रिपोर्ट में कहा गया है कि मोटी सैलरी मिलने के बावजूद विदेशियों को मुंबई में रोजगार के अवसर कम हैं। रिपोर्ट के मुताबिक 1.8 करोड़ से ज्यादा की जनसंख्या वाली मुंबई में रोजगार के अवसर अमेरिका, यूके के शहरों के मुकाबले कम हैं। 

 

टेक सेंटर डबलिन में रोजगार के अवसर 

 

वहीं यूरोप का टेक सेंटर डबलिन एक्सपैट के लिए रोजगार के अवसरों के मामले में टॉप 5 में जगह बना पाया लेकिन एक्सपैट की औसत सैलरी के मामले में वह ग्लोबल औसत से कम है। 

एचएसबीसी के मुताबिक, एशिया में काम करने वाले विदेशियों को आमतौर पर वित्तीय रूप से काफी सपोर्ट किया जाता है। एचएसबीसी एक्सपैट के हेड डीन ब्लैकबर्न ने कहा, 'अमेरिका और ब्रिटेन के फाइनैंशल और टेक हब्स जॉब की तलाश में दूसरे देश जाने वाले लोगों की पहली पसंद हैं।'

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट