Home » Personal Finance » Income Tax » UpdateThese 4 gifts given to you by the Modi government, are going on every year

मोदी सरकार ने आपको दिए ये 4 तोहफे, हर साल हो रहा है फायदा

मोदी सरकार की ओर से पि‍छले 4 बजटों में दी गईं उन राहतों के बारे में जि‍नसे मि‍डि‍ल क्‍लास अभी तक फायदा उठा रहा है।

1 of
 
नई दि‍ल्‍ली. मोदी सरकार ने अपना पांचवा और इस कार्यकाल का अंति‍म फुल बजट पेश कर दि‍या है। लेकि‍न वि‍त्‍त मंंत्री अरुण जेटली और बजट का इस बात को लेकर वि‍रोध कि‍या जा रहा है कि‍ इसमें मि‍डि‍ल क्‍लास के लि‍ए कुछ नहीं है। न इनकम टैक्‍स में छूट दी गई है और न ही 80 सी की सीमा को बढ़ाया गया है। ऐसे में कुछ लोग इस बजट से नि‍राश दि‍ख रहे हैं। लेकि‍न हम आपको बता रहे हैं मोदी सरकार की ओर से पि‍छले 4 बजटों में दी गईं उन राहतों के बारे में जि‍नसे मि‍डि‍ल क्‍लास के लोग अभी तक फायदा उठा रहे हैं। 

आगे पढ़ें : कि‍न 4 घोषणाओं से अभी तक मि‍ल रहा है फायदा 
2 लाख से 2.5 लाख हुई इनकम टैक्‍स में छूट की सीमा 
 
नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पहले बजट में ही आपकी कमाई पर लगने वाले टैक्स में बदलाव की दि‍या था। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मोदी सरकार के पहले बजट में कम आय वालों को इनकम टैक्स में राहत देने का ऐलान किया। 2014 के बजट में न्यूनतम टैक्स स्लैब को बढ़ाया गया था।  पहले जहां सालाना 2 लाख रुपये तक कमाने वाला व्यक्ति टैक्स देने की सीमा से बाहर होता था। वहीं, जेटली ने अपने पहले ही बजट में 2.5 लाख की सालाना आय वाले लोगों को टैक्स से छूट की घोषणा कर दी थी। इस छूट का फायदा लोग आजतक उठा रहे हैं। 
80सी के अंतर्गत निवेश सीमा को भी 50 हजार रुपए बढ़ाया 
 
इसके अलावा अरुण जेटली ने आयकर अधिनियम की धारा 80सी के अंतर्गत निवेश सीमा को भी 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.5 लाख रुपये किया गया है। इससे धारा 80सी के अंतर्गत आने वाली सेवि‍ंग के तहत अब लोग 1 लाख रुपए की जगह 1.5 लाख की सेवि‍ंग कर सकेंगे। इसके अलावा पीपीएफ में निवेश की सीमा भी 50 हजार रुपये बढ़ा दी गई है। पहले यह सीमा एक लाख रुपये थी, जि‍से अब बढ़ाकर 1.5 लाख कर दिया गया है। बता दें कि‍, पीपीएफ धारा 80सी के अंतर्गत आता है। 
2,50,000 से 5 लाख तक सि‍र्फ 5 फीसदी टैक्‍स 
 
एक तरफ जहां 2014 के अपने पहले बजट में ही वि‍त्‍त मंत्री अरुण जेटली ने टैक्‍स छूट की सीमा को बढ़ाकर 2 लाख से 2.5 लाख कर दि‍या था। वहीं, 2017 के बजट में उन्‍होंने 2.5 लाख से 5 लाख तक की टैक्‍स को घटाकर 5 फीसदी कर दि‍या था। इससे पहले 5 लाख रुपए तक की इनकम पर लोगों को 10 फीसदी टैक्‍स देना पड़ता था। इससे लोगों को सीधा फायदा मि‍ला और जि‍स सैलरी पर वे 25000 रुपए तक टैक्‍स दे रहे थे वह 5 फीसदी होने से 12,500 रुपए हो गया। 
होम लोन पर छूट 2 लाख रुपए तक 
 
होम लोन के इंटरेस्‍ट पर टैक्‍स छूट की सीमा को बढ़ाकर 1.5 लाख रुपये से 2 लाख रुपये कर दिया गया है। इससे अपने घर का सपना रखने वालों के लि‍ए बड़ी राहत और जि‍न भी लोगों ने होम लोन लि‍या हुआ है उन्‍हें राहत मि‍लेगी।  
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट