बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Income Tax » Updateमनी लॉन्ड्रिंग मामले में मोइन कुरैशी को जमानत, 25 अगस्‍त को हुआ था गिरफ्तार

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मोइन कुरैशी को जमानत, 25 अगस्‍त को हुआ था गिरफ्तार

मीट कारोबारी मोइन कुरैशी को दिल्‍ली की एक अदालत ने मंगलवार को मनी लॉड्रिंग मामले में जमानत दे दी है।

1 of

नई दिल्‍ली। मीट कारोबारी मोइन कुरैशी को दिल्‍ली की एक अदालत ने मंगलवार को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जमानत दे दी है। स्‍पेशल जज अरुण भारद्वाज ने कुरैशी के जमानत के आवेदन पर 4 दिसंबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था। कुरैशी को दो लाख रुपए के पर्सनल बांड और इतनी ही राशि की स्‍योरिटी पर जमानत दी गई है। 

 

ईडी ने जमानत का किया था विरोध 

 

इससे पहले एनफोर्समेंट डायरेक्‍टोरेट ने कुरैशी की जमानत का यह कहते हुए विरोध किया था कि वे मनी लॉड्रिंग मामले में जारी जांच को बाधित कर सकते हैं। इसके बाद अदालत ने जमानत पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। ईडी के स्‍पेशल काउंसिल एनके मत्‍ता ने कहा कि कुरैशी को जमानत नहीं दी जानी चाहिए क्‍योंकि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप गंभीर हैं। और आशंका है कि कुरैशी जमानत पर रिहा होने के बाद विेदेश भाग जाएंगे। वहीं कुरैशी ने जमानत के लिए अदालत में दाखिल आवेदन में कहा था कि उनको हिरासत में रखने से कोई मकसद पूरा नहीं होगा। इस मामले में जांच पूरी हो चुकी है और ईडी को आगे की जांच के लिए उनकी जरूरत नहीं है। 

 

कुरैशी पर हवाला ट्रांजैक्‍शन में शामिल होने का आरोप 

 

इससे पहले ईडी ने अदालत में दावा किया था कि गवाहों ने अपने बयान में इस बात की पुष्टि की है कि उन्‍होंने कुरैशी और उनके सहयोगियों के लिए अपने कर्मचारियों के जरिए करोड़ों रुपए पहुंचाए हैं। एजेंसी ने आरोप लगाया है कि कुरैशी दिल्‍ली बेस्‍ड हवाला ऑपरेटर परवेज अली और साउथ डेल्ही मनी चेंजर के जरिए हवाला ट्रांजैक्‍शन में शामिल रहा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट