बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Income Tax » Updateनोटबंदी: बैंकों में आए 15 लाख Cr में कितनी ब्‍लैकमनी, पता कर रही मोदी सरकार

नोटबंदी: बैंकों में आए 15 लाख Cr में कितनी ब्‍लैकमनी, पता कर रही मोदी सरकार

आईटी प्रोफेशनल्स ने ही नोटबंदी के वक्त सस्पेक्टेड ट्रांजेक्शंस की पहचान की थी।

1 of

नई दिल्‍ली.   नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुए 15 लाख करोड़ रुपए में से कितनी ब्‍लैकमनी है यह जानने के लिए मोदी सरकार आईटी प्रोफेशनल्‍स की मदद ले रही है। इन आईटी प्रोफेशनल्‍स ने ही नोटबंदी के बाद बड़े पैमाने पर बैंकों में हुए संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन की पहचान की थी। बाद में इनकम टैक्‍स (आईटी) डिपार्टमेंट ने इस पर कार्रवाई करते हुए 18 लाख से ज्यादा लोगों को नोटिस भेज कर ट्रांजैक्‍शन को एक्‍सप्‍लेन करने को कहा है। अब भी ऐसे लोगों कई लोगों को नोटिस भेजे जा रहे हैं। 

 

 

आउटसोर्सिंग से हो रहा संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन की पहचान का काम

- आईटी डिपार्टमेंट के एक सीनियर ऑफिसर ने moneybhaskar.com को बताया कि नोटबंदी के बाद बैंकों में 15 लाख करोड़ रुपए जमा कराए गए। 

- उन्होंने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर हुए ट्रांजैक्‍शन की तेजी से जांच के लिए आईटी डिपार्टमेंट के पास न तो मैन पावर थी और न टेक्निकल एक्‍सपर्टीज थी। ऐसे में सरकार ने इस काम के लिए एक एजेंसी को आउटसोर्स किया है, जो आईटी प्रोफेशनल्‍स की मदद से नोटबंदी के बाद हुए ट्रांजैक्‍शन का एनालिसिस कर रही है और संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन पर आगे की कार्रवाई के लिए इनकम टैक्‍स विभाग को फारवर्ड कर रही है। 

 

बेनामी प्रॉपर्टी की पहचान में आएगी तेजी 
- आईटी डिपार्टमेंट के सीनियर ऑफिसर ने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आधार बेनामी प्रॉपर्टी के खिलाफ जंग में बड़ा हथियार बन सकता है। अगर सरकार प्रॉपर्टी को आधार से जोड़ने का फैसला करती है, तो इससे बेनामी प्रॉपर्टी की पहचान करना बहुत आसान हो जाएगा। 
- उन्होंने कहा कि टेक्‍नोलॉजी की मदद से आईटी प्रोफेशनल्स काफी कम वक्त में बेनामी प्रॉपर्टी रखने वालों की पहचान करने में सरकार की मदद कर सकते हैं। 

 

रिटर्न न भरने वालों की भी हो रही पहचान
- अफिसर ने बताया कि एजेंसी के आईटी प्रोफेशनल्‍स सरकार द्वारा उपलब्‍ध कराए गए डाटा से ऐसे लोगों की पहचान भी कर रहे हैं जो टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर रहे, जबकि वो इस दायरे में आते हैं। आईटी डिपार्टमेंट को उम्‍मीद है कि आने वाले वक्त में ऐसे ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को टैक्‍स नेट में जोड़ा जा सकेगा। 

 

नए साल से IT डिपार्टमेंट शुरू करेगा कार्रवाई
- ऑफिसर के मुताबिक, "आईटी प्रोफेशनल्‍स की वजह से हमने काफी कम वक्त में सस्पेक्टेड ट्रांजैक्‍शन की पहचान करने और लोगों को नोटिस भेजने की प्रॉसेस पूरी कर ली है। नए साल से ऐसे लोगों के खिलाफ एक्‍शन शुरू हो जाएगा।"

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट