Home » Personal Finance » Income Tax » Updatehow to file complaint against the modi government, online grievance sysytem against central government

मोदी सरकार में 4 मंत्रालयों से लोग हैं सबसे ज्यादा परेशान, सभी डिपार्टमेंट की अब तक पहुंची 8 लाख से ज्यादा शिकायतें

टेलिकॉम, इनकम टैक्स, रेलवे से संबंधित सबसे ज्यादा लोग शिकायत कर रहे हैं।

1 of

नई दिल्ली। मोदी सरकार अपने 4 साल पूरे कर चुकी है। अब उसके काम-काज का लेखा-जोखा पेश करने का समय आ गया है। अगर सरकार के मंत्रालय और डिपार्टमेंट की परफॉर्मेंस देखी जाय, तो सबसे ज्यादा शिकायतें टेलिकॉम डिपॉर्टमेंट, सीबीडीटी (सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज), रेलवे, फाइनेंशियल सर्विसेज डिपॉर्टमेंट के तहत आने वाले बैंकिंग डिविजन और डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट के नाम शामिल है। केंद्र सरकार के शिकायत निवारण ऑनलाइन पोर्टल के अनुसार 2018 तक कुल 8 लाख से ज्यादा शिकायतें रजिस्टर्ड हुई हैं। जिसमें 7.46 लाख शिकायतों का निपटारा भी हो गया है। सरकार के अनुसार ऑनलाइन शिकायत की सुविधा उपबल्ध होने की वजह से शिकायतों की संख्या में इजाफा हुआ है। हालांकि उनके निपटारे में भी काफी तेजी पिछले 4 साल में आई है।


शिकायतों का कैसा रहा है ट्रेंड

 

डिपार्टमेंट ऑफ एडमिनिस्ट्रिटव रिफॉर्म एंड पब्लिक ग्रीवांसेज द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट के अनुसार साल 2015 से लेकर जून 2017 के बीच में डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज के बैंकिंग डिविजन में 2 लाख से ज्यादा शिकायतें पहुंची हैं। इसी तरह  टेलीकॉम डिपार्टमेंट के पास 1.66 लाख से ज्यादा, 1.32 लाख से ज्यादा, इनकम टैक्स से संबंधित 76 हजार से शिकायतें और गृहमंत्रालय के पास 72 हजार से ज्यादा शिकायतें , जबकि डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट के पास  66 हजार से ज्यादा शिकायतें प्रमुख रुप से पहुंची हैं।


कैसे पहुंची शिकायतें


डिपार्टमेंट ऑफ एडमिनिस्ट्रिटव रिफॉर्म एंड पब्लिक ग्रीवांसेज ने विभागों से संबंधित किसी भी तरह की शिकायतें डायरेक्ट पहुंचाने के लिए ऑनलाइन सिस्टम डेवलप किया है। इसके तहत कोई भी व्यक्ति https://pgportal.gov.in/ पर जाकर अपनी शिकायतें ऑनलाइन रजिस्टर्ड करा सकता है। साथ ही उसका स्टेट्स भी जान सकता है। इसके लिए आपको ऑनलाइन पोर्टल पर लॉग इन अकाउंट क्रिएट करना होगा। जहां पर आपको नाम , घर का पता से लेकर मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी सहित दूसरी जानकारियां देनी होगी। जिसके बाद आप शिकायत फाइल करा सकते हैं। साथ ही उसका स्टेट्स भी पता कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें,

 

2015 से पहले क्या थी स्थिति

 

रिपोर्ट के अनुसार साल 2012-2015 के दौरान सबसे ज्यादा शिकायतें टेलिकॉम डिपॉर्टमेंट के पास पहुंची थी,  जहां 1.61 लाख से ज्यादा शिकायतें थी, उसके बाद रेलवे में 76 हजार से ज्यादा, डिपॉर्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज (बैंकिंग डिविजन) में 65 हजार से ज्यादा, गृह मंत्रालय में 41 हजार से ज्यादा और इनकम टैक्स से संबंधित 38 हजार से ज्यादा शिकायतें थी।

 

आगे पढ़ें,

कैसी हैं शिकायतें

 

मंत्रालयों और विभाग के पास जो शिकायतें पहुंची हैं, उनमें डायरेक्ट विभाग से लेकर कंपनियों की सर्विसेज के भी मामले हैं। जैसे कि टेलिकॉम  डिपॉर्टमेंट में ज्यादा शिकायतें कंपनियो की सर्विसेज से संबंधित है। इसी तरह रेलवे में रिफंड से लेकर ट्रेन लेट होने  तक की प्रमुख शिकायतें हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss