बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Income Tax » Updateइनकम टैक्‍स पर नहीं होगी टेंशन, याद रखें ये 8 प्‍वाइंट

इनकम टैक्‍स पर नहीं होगी टेंशन, याद रखें ये 8 प्‍वाइंट

अकसर देखने को मिलता है कि जब इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने का वक्‍त आता है तो लोग परेशान हो जाते हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। अकसर देखने को मिलता है कि जब इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने का वक्‍त आता है तो लोग परेशान हो जाते हैं। कई लोगों को इसका प्रोसेस समझ में नहीं आता है तो कई ऐसे भी लोग होते हैं जो टैक्‍स से बचने के लिए कम इनकम दिखा देते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं चलेगा। आईटी डिपार्टमेंट की ओर से इस संबंध में सख्‍त हिदायत दी गई है। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि अगर कोई दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी। बहरहाल, आज हम आपको 8 ऐसे प्‍वाइंट बताते हैं जिन्‍हें याद रखें तो इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने में कोई दिक्‍कत नहीं आएगी। 

 

1. इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइलिंग करते वक्‍त गलत जानकारी देना आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकती है। दरअसल, डिपार्टमेंट ने पिछले दिनों गलत इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने वालों को चेतावनी दी है। डिपार्टमेंट ने कहा है कि अगर कोई सैलरीड पर्सन इनकम टैक्‍स रिटर्न में अपनी इनकम को कम करके दिखाता है या इनकम टैक्‍स नियमों का उल्‍लंघन करता है तो उसके खिलाफ न सिर्फ मुकदमा दर्ज किया जाएगा बल्कि उसके एम्‍पलॉयर को भी उसके खिलाफ एक्‍शन के लिए कहा जाएगा। आगे जानें कुछ और ऐसे प्‍वाइंट के बारे में ...

 

 

2. इसके दायरे में सरकार के और पीएसयू के कर्मचारी आएंगे। इस लिए सरकारी कर्मचारियों को भी गलत जानकारी देने से बचने की जरुरत है। 

 

3. सीबीडीटी के मुताबिक सैलरी और हाउस प्रॉपर्टी से जुड़े भागों को दुरुस्त किया गया है। सैलरी (जैसी फॉर्म 16 में उपलब्ध हो) और हाउस प्रॉपर्टी से होने वाली इनकम की बेसिक डिटेल्स देना अनिवार्य कर दिया गया है।

 

4. एसेसमेंट ईयर 2018-19 के लिए नए आईटीआर फॉर्म्स में सैलरीड क्लास एसेसीस के लिए अपना सैलरी ब्रेकअप और कारोबारियों के लिए अपनी जीएसटी नंबर व टर्नओवर देना जरूरी है। 

 

5. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर एक एडवाइजरी जारी की है कि सैलरीड क्‍लास के टैक्‍सपेयर्स को ऐसे टैक्‍स एडवाइजर्स या प्‍लानर्स की सलाह पर अमल नहीं करना चाहिए जो टैक्‍स बेनेफिट लेने के लिए गलत क्‍लेम तैयार करने में उनकी मदद करते हैं। ऐसे में इस बात का ध्‍यान रखना जरुरी है। आगे जानें कुछ और ऐसे प्‍वाइंट के बारे में ...

 

6. नया आईटीआर-1 फॉर्म इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के ऑफीशियल  ई-फाइलिंग पोर्टल पर एक्टीवेट हो गया है। इस फॉर्म को व्यापक तौर पर सैलरीड क्लास द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। सीबीडीटी ने 5 अप्रैल को नोटिफाई किए गए सिंगल इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फॉर्म को बीते सोमवार को अपनी वेबसाइट https://www.incometaxindiaefiling.gov.in पर डाल दिया। 

 

7.  पिछले साल की तुलना में ITR दाखिल करने के तरीके में कोई बदलाव नहीं किया गया है।  इसलिए इस संबंध में परेशान होने की जरुरत नहीं है। 


8.  ITR फाइलिंग की आखिरी तिथि 31 जुलाई है। इसलिए अभी आपके पास काफी समय है। 

 

3. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर एक एडवाइजरी जारी की है कि सैलरीड क्‍लास के टैक्‍सपेयर्स को ऐसे टैक्‍स एडवाइजर्स या प्‍लानर्स की सलाह पर अमल नहीं करना चाहिए जो टैक्‍स बेनेफिट लेने के लिए गलत क्‍लेम तैयार करने में उनकी मदद करते हैं। ऐसे में इस बात का ध्‍यान रखना जरुरी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट