Home » Personal Finance » Income Tax » Updatecbdt lists reform done in direct rax fron

बिटकॉइन से हुई कमाई पर देना होगा टैक्‍स, इनकम सोर्स भी बताना होगा: CBDT चीफ

देश में बड़ी संख्‍या में नए लोग टैक्‍स नेट में आए हैं और कुल टैक्‍स बेस बढ़ कर 8 करोड़ हो गया है।

1 of

नई दिल्‍ली।  जिन लोगों ने बिटकॉइन से कमाई की है, उन्हें इस पर टैक्‍स देना पड़ेगा। उनकी इनकम का स्रोत भी पूछा जाएगा। अगर उन्‍होंने टैक्‍स नहीं दिया तो उनके खिलाफ सख्‍त एक्‍शन लिया जाएगा। सेट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेज के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने मंगलवार को यह बात कही है। 

 

8 करोड़ तक पहुंचा टैक्‍सपेयर्स बेस 

देश में बड़ी संख्‍या में नए लोग टैक्‍स नेट में आए हैं और कुल टैक्‍स बेस बढ़ कर 8 करोड़ हो गया है। सेट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेज के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने मंगलवार को कहा कि डायरेक्‍ट टैक्‍स के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर सुधार किए गए हैं। हमने बड़ी संख्‍या में टैक्‍सपेयर्स को टैक्‍स नेट में जोड़ा है। अब हमारा टैक्‍सपेयर्स बेस बढ़ कर 8 करोड का हो गया है। 

 

0.5 फीसदी मामलों की हो रही स्‍क्रूटनी 

सुशील चंद्रा ने कहा कि कोई भी इनकम टैक्‍स अधिकारी अपने मन से कोई भी केस स्‍क्रूटनी के लिए नहीं ले सकता है और सिर्फ 0.5 फीसदी केस ही स्‍क्रूटनी के लिए सलेक्‍ट किए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ऐेसे कदम उठा रहा है, जिससे इनकम टैक्‍स अधिकारी और असेसी के बीच सीधा संपर्क कम से कम हो। आपका केस कोई भी इनकम टैक्‍स अधिकारी अपने मन से स्‍क्रूटनी के लिए नहीं ले सकता है। सीबीडीटी चेयरमैन के तौर पर मैं भी अपने मन से कोई कैश नहीं ले सकता हूं। 

 

60,000 इनकम टैक्‍स रिटर्न का हुआ ई असेसमेंट 

सीबीडीटी चेयरमैन ने कहा कि इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने सितंबर 2017 में इनकम टैक्‍स फार्म का ई असेसमेंट शुरू किया है। अब तक 60,000 मामलों का ई असेमेंट पूरा हो चुका है। सुशील चंद्रा ने कहा कि कंपनी मामलों के मंत्रालय में कुल 15 लाख कंपनियां रजिस्‍टर्ड हैं और इसमें से मात्र 7 लाख कंपनियां टैक्‍स रिटर्न फाइल कर रहीं हैं। 

टैक्‍स नेट में कुल टैक्‍सपेयर्स की संख्‍या हुई 8 करोड़ 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट