बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Income Tax » Updateप्रॉपर्टी बेच रहे हैं या खरीद रहे हैं 20,000 से ज्‍यादा न हो कैश लेन-देन, IT डिपार्टमेंट का अलर्ट

प्रॉपर्टी बेच रहे हैं या खरीद रहे हैं 20,000 से ज्‍यादा न हो कैश लेन-देन, IT डिपार्टमेंट का अलर्ट

आप इस एडवाइजरी का पालन नहीं करते हैं तो आपको टैक्‍स के साथ पेनल्‍टी का भुगतान करना पड़ सकता है।

income tax department issues advisory on  cash transaction

नई दिल्‍ली। इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने कैश लेन-देन को लेकर एक एडवाइजरी जारी की है। इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने कहा है अगर आप प्रॉपर्टी बेच रहे हैं या प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो आप 20,000 रुपए से अधिक का कैश में लेन देन न करें। इसका मतलब है कि आप प्रॉपर्टी बेच रहे हैं तो खरीदार से 20,000 रुपए से अधिक कैश में लेन-देन न करें और अगर प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो 20,000 रुपए से अधिक कैश में पेमेंट न करें। अगर आप इस एडवाइजरी का पालन नहीं करते हैं तो आपको टैक्‍स के साथ पेनल्‍टी का भुगतान करना पड़ सकता है। 

 

एक दिन में न लें 2 लाख रुपए या इससे अधिक कैश 

 

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर यह एडवायजरी जारी की है। एडवायजरी के मुताबिक आपको एक दिन में एक व्यक्ति से एक या एक से अधिक ट्रांजैक्‍शन के लिए 2 लाख रुपए या इससे अधिक कैश न लें। अगर यह ट्रांजैक्‍शन एक आयोजन या एक मौके से जुड़ा है तो भी आपको यह गलती नहीं करनी चाहिए। 

 

बिजनेस या प्रोफेशन से जुड़े खर्च के लिए 10,000 से अधिक कैश का न करें भुगतान 

 

एडवाइजरी में कहा गया है कि अगर आप कोई बिजनेस करते हैं या डॉक्‍टर वकील सीए जैसे प्रोफेशन में तो आपको बिजनेस या प्रोफेशन से जुड़े खर्च के लिए 10,000 रुपए से अधिक कैश का भुगतान नहीं करना चाहिए। 

 

2,000 रुपए से अधिक कैश में न दें चंदा 

 

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के मुताबिक आपको किसी रजिस्‍टर्ड ट्रस्‍ट या राजनीतिक दल को 2,000 रुपए से अधिक दान या चंदा नहीं देना चाहिए। 

 

ब्‍लैकमनी पर अंकुश के लिए कैश लेन देन के नियमों में किया बदलाव 

 

केंद्र सरकार ने फाइनेंस एक्‍ट, 2017 के तहत कैश लेन देन के नए नियमों को लागू किया था। यह नियम 1 अप्रैल, 2017 से लागू हैं। ब्‍लैकमनी पर अंकुश लगाने के लिए केंद्र सरकार ने कैश लेन देन के नियमों में बदलाव किया था। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट