Home » Personal Finance » Income Tax » Updateyou have to prove this amount as per tax laws

आपको 5 लाख से ज्‍यादा देकर फंस सकते हैं पैरेंट्स, अगर नहीं दे पाए हिसाब

आम तौर पर ज्‍यादातर लोग जरूरत पड़ने पर अपने पैरेंट्स से पैसा लेते हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। आम तौर पर ज्‍यादातर लोग जरूरत पड़ने पर अपने पैरेंट्स से पैसा लेते हैं। लेकिन अगर आप अपने पैरेंट्स से 5 लाख या इससे ज्‍यादा का अमाउंट लेते हैं तो आपको अलर्ट रहना होगा। अगर आपके पैरेंट्स ने पैसों के हिसाब किताब में लापरवाही की तो वे कानूनी शिकंजे में फंस सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि आप पैरेंट्स में पैसा लेने में किन बातों का ध्‍यान रखना आपके लिए और आपके पैरेंट्स के लिए जरूरी है। 

 

आप पैरेंट्स से 5 लाख या इससे ज्‍यादा लेते हैं तो क्‍या होगा 

 

चार्टर्ड अकाउंटैट (सीए) और इनकम टैक्‍स अपीलेट ट्रिब्‍यूनल के पूर्व मेंबर राकेश गुप्‍ता ने moneybhaskar.com को बताया कि  अपने पैरेंट्स से कितना भी अमाउंट बतौर गिफ्ट ले सकते हैं। यह कानूनी तौर पर वैध है। इस पर आपको इनकम टैक्‍स भी नहीं देना होता है। लेकिन इनकम टैक्‍स विभाग आपसे पूछ सकता है कि आपको यह पैसा कहां से मिला। अगर आप क्‍लेम करते हैं कि यह पैसा आपको पैरेंट्स से मिला है तो आपको साबित करना होगा कि आपको यह अमाउंट पैरेंट्स से मिला है।  

 

इनकम टैक्‍स विभाग पैरेंट्स से करेगा सवाल 

 

इनकम टैक्‍स एक्‍ट के नियमों के मुताबिक इनकम टैक्‍स विभाग आपके पैरेंट्स से यह सवाल कर सकता है कि जो पैसा उन्‍होंने आपको दिया है वह पैसा उनकी डिक्‍लेयर्ड इनकम का है या नहीं। इस पैसे का सोर्स क्‍या है। राकेश गुप्‍ता के मुताबिक इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट का आपके पैरेंट्स से सवाल करना उसी प्रक्रिया का हिस्‍सा है जिसके तहत आपको यह साबित करना होगा कि आपको यह अमाउंट पैरेंट्स से मिला है। 

अगर पैरेंट्स नहीं दे पाए हिसाब 

 

अगर पैरेंट्स यह साबित नहीं कर पाए कि जो अमाउंट उन्‍होंने आपको दिया है यह उनकी डिक्‍लेयर्ड इनकम का है तो उनको टैक्‍स चोरी के मामले में इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के एक्‍शन का सामना करना पड़ सकता है। इसके तहत इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट उनसे टैक्‍स और पेनल्‍टी वसूल सकता है साथ ही उनके खिलाफ टैक्‍स चोरी के मामले में मुकदमा भी दर्ज हो सकता है। 

पैरेंट्स इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं करते हैं तो हो सकती है मुश्किल 

अगर आपके पैरेंट्स इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल नहीं करते हैं तो उनके लिए इनकम टैक्‍स विभाग के सवालों का जवाब देना कठिन हो सकता है। इनकम टैक्‍स एक्‍ट के मौजूदा नियमों के तहत सालाना 2.5 लाख रुपए से अधिक इनकम वालों के लिए इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करना जरूरी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट