Home » Personal Finance » Income Tax » UpdateEPFO to consider widening range of ETF investments tomorrow

EPFO: ज्यादा रिटर्न के लिए निवेश का दायरा बढ़ाने का प्रस्ताव, 5 फंड मैनेजर्स को मिल सकता है एक्सटेंशन

EPFO स्टॉक मार्केट में रिटर्न को अधिकतम करने के लिए इक्विटी लिंक्ड स्कीम्स या ETF के दायरे को बढ़ा सकता है।

EPFO to consider widening range of ETF investments tomorrow

 

नई दिल्ली. रिटायरमेंट फंड बॉडी EPFO स्टॉक मार्केट में अपने रिटर्न को अधिकतम करने के लिए इक्विटी लिंक्ड स्कीम्स या एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) की रेंज को और बढ़ा सकता है। इस मसले पर ईपीएफओ ट्रस्टीज की मंगलवार को  होने वाली बैठक में विचार किया जाएगा।

ट्रस्टीज की बैठक के एजेंडे के मुताबिक, इम्प्लॉइज प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशंस (ईपीएफओ) बोर्ड कॉर्पस के प्रबंधन के लिए अपने 5 फंड मैनेजर्स एसबीआई, आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज प्राइमरी डीलरशिप, रिलायंस कैपिटल, एचएसबीसी एएमसी और यूटीआई एएमसी को 6 महीने का एक्सटेंशन देने के प्रस्ताव पर भी विचार करेगा।

 

 

5 फंड मैनेजर्स को मिल सकता है 6 महीने का एक्सटेंशन

इन 5 फंड मैनेजर्स को 1 अप्रैल, 2015 को 3 साल की अवधि के लिए नियुक्त किया गया था। उन्हें 30 जून, 2018 के लिए एक बार एक्सटेंशन मिल चुका है। अब पांचों फंड मैनेजर्स को 31 दिसंबर, 2018 तक या नए फंड मैनेजर्स की नियुक्ति तक एक्सटेंशन देने का प्रस्ताव किया गया है।

 

 

निवेेश का दायरा बढ़ाना चाहता है ईपीएफओ

ईपीएफओ अभी तक ईटीएफ में निवेश करता रहा है और अब स्टॉक मार्केट में अपने निवेश पर रिटर्न को अधिकतम बनाने के लिए इसका दायरा बढ़ाना चाहता है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वर्तमान में उसने यूटीआई म्युचुअल फंड, एसबीआई म्युचुअल फंड, सीपीएसई ईटीएफ और भारत 22 में निवेश किया हुआ है।

 

 

सबसे ज्‍यादा रिटर्न UTI MF ने दिया

EPFO स्‍टॉक मार्केट में कई कंपनियों के माध्‍यम से निवेश करता है। मई तक उसे सबसे ज्‍यादा UTI म्‍युचुअल फंड से 17.01 फीसदी का रिटर्न मिला है। UTI म्‍युचुअल फंड  में निवेश की वैल्‍यू बढ़कर 8,995.04 करोड़ रुपए हो गई है। इसके बाद SBI म्‍युचुअल फंड का रिटर्न रहा है। इसने 16.07 फीसदी का रिटर्न दिया है और यहां पर निवेश की वैल्‍यू 34,603.64 करोड़ रुपए हो गई है।

 

 

CPSE ETF से ज्‍यादा मिला रिटर्न

वहीं CPSE ETF ने केवल 7.94 फीसदी का रिटर्न दिया है। इस फंड में 1,860.81 करोड़ रुपए का निवेश है। इसके अलावा Bharat 22 ETF ने 8.46 फीसदी का रिटर्न दिया है। इस फंड में 2,024.75 करोड़ रुपए का निवेश है।

 

 

निवेशकों के अकाउंट से जुड़ेगा स्‍टॉक मार्केट का इन्‍वेस्‍टमेंट

EPFO योजना बना रहा है कि ETF में इन्‍वेस्‍टमेंट को PF अकाउंट होल्‍डर से खाते से जोड़ दिया जाए। इसके बाद निवेशक के पास आप्‍शन होगा कि वह अपना निवेश स्‍टॉक मार्केट में घटा या बढ़ा सके। इस सबंध में EPFO ट्रस्‍टी पहले ही अकाउंटिंग पॉलिसी को अप्रूव कर चुका है। इसको लेकर सॉफ्टवेयर को लेकर टेस्टिंग चल रही है।

 

 

31 मई तक है 47 हजार करोड़ से ज्‍यादा का निवेश

EPFO ने इस साल 31 मई तक ETFs में 47,431.24 करोड़ रुपए का निवेश कर रखा है। इस निवेश पर उसे 16.07 फीसदी का रिटर्न मिला है। EPFO ने स्‍टॉक मार्केट में अगस्‍त 2015 से निवेश करना शुरू किया था। शुरुआत में नियम बना था कि EPFO अपने फंड का 5 फीसदी तक हिस्‍सा स्‍टॉक मार्केट में निवेश करेगा। बाद में 2016-17 में इस सीमा को बढ़ाकर पहले दस फिर 2017-18 में 15 फीसदी कर दिया गया।

 

 

ईटीएफ में निवेश बढ़ाने का भी है प्रस्ताव

अधिकारी ने कहा कि ट्रस्टीज ईटीएफ में निवेश की सीमा बढ़ाने पर विचार कर सकता है, जो फिलहाल इन्वेस्टिबल डिपॉजिट्स का 15 फीसदी है। हालांकि ऐसा वित्त मंत्रालय द्वारा प्राइवेट प्रॉविडेंट फंड्स के इन्वेस्टमेंट पैटर्न में संशोधन के बाद ही किया जा सकता है।

 

 

सब्सक्राइबर्स को मिल सकता है इन्वेस्टमेंट बढ़ाने का ऑप्शन

ईपीएफओ अपने सब्सक्राइबर्स को स्टॉक्स में इन्वेस्टमेंट बढ़ाने या घटाने का ऑप्शन देने की संभावना पर भी विचार कर रहा है। लेकिन ऐसा सब्सक्राइबर्स के पीएफ खातों में ईटीएफ क्रेडिट किए जाने के बाद ही संभव होगा। बोर्ड इसके लिए अकाउंटिंग पॉलिसी को पहले ही मंजूरी दे चुकी है और बॉडी इसके लिए सॉफ्टवेयर डेवलप करने की तैयारी में है।

पेंशनर्स की न्यूनतम मंथली पेंशन 2,000 रुपए तक बढ़ाने के प्रस्ताव के बारे में अधिकारी ने कहा कि एजेंडे में ऐसा कोई प्रस्ताव शामिल नहीं है, लेकिन अध्यक्ष की मंजूरी के बाद किसी भी प्रस्ताव पर विचार किया जा सकता है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट