विज्ञापन
Home » Personal Finance » Income Tax » Step To Step GuideHow to make your salary up to 10.5 lakh rs Tax Free

10.5 लाख रुपए तक है आपकी सालाना आय, तो इन तरीकों से कर सकते हैं अपना इनकम टैक्स जीरो

टैक्स एक्सपर्ट्स से जानिए अपनी सैलरी को टैक्स फ्री करने के स्मार्ट तरीके

How to make your salary up to 10.5 lakh rs Tax Free

Income tax rebate on salary up to 10.5 lakh rs: अगर आपकी सैलरी 10 लाख रुपए तक है तो आप समझदारी से निवेश करके अपने टैक्स को जीरो कर सकते हैं। टैक्स एडवाइजरी कंपनी BDO India के पार्टनर सूरज मलिक और टैक्स एक्सपर्ट व सीए हिमांशु कुमार ने बतायाकि कैसे आप स्मार्ट इंवेस्टमेंट करके बेहद आसानी से 10.5 लाख रुपए तक की अपनी सालाना आय पर लगने वाले टैक्स को जीरो कर सकते हैं।

प्रतिभा सिंह.

1 फरवरी को पेश हुए अंतरिम बजट में वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने घोषणा की कि पांच लाख रुपए तक की सालाना आय वाले नौकरीपेशा लोगों को इनकम टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा। पहली नजर में लोगों को लगा कि सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब काे 2.50 लाख रुपए से बढ़ाकर पांच लाख रुपए कर दिया है। लेकिन ऐसा नहीं है। इस बजट में सरकार ने पांच लाख रुपए तक की सालाना आय पर फुल रिबेट देने की घोषणा की है। इस घोषणा का फासदा उन्हीं टैक्सपेयर्स को मिलेगा जिनकी सैलरी पांच लाख रुपए सालाना तक है। हालांकि अगर आपकी सैलरी 10 लाख रुपए तक है तो आप समझदारी से निवेश करके अपने टैक्स को जीरो कर सकते हैं। टैक्स एडवाइजरी कंपनी BDO India के पार्टनर सूरज मलिक और टैक्स एक्सपर्ट व सीए हिमांशु कुमार ने बतायाकि कैसे आप स्मार्ट इंवेस्टमेंट करके बेहद आसानी से 10.5 लाख रुपए तक की अपनी सालाना आय पर लगने वाले टैक्स को जीरो कर सकते हैं।

 

ऐसे करें निवेश:

 

अगर आपकी सैलरी 10,50,000 रुपए सालाना है तो सबसे पहले 50,000 रुपए के स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद आपकी सैलरी पर टैक्स लगेगा। यानी आपकी टैक्सेबल इनकम होगी 10 लाख रुपए।

अगर आपका सालाना 1.50 लाख रुपए निवेश करते हैं तो आप Section 80(C) के तहत आप इसे टैक्स-फ्री करने के लिए क्लेम कर सकते हैं। अगर आप नेशनल पेंशन स्कीम में निवेश करते हैं तो आप अतिरिक्त 50,000 हजार रुपए को टैक्स फ्री करने का क्लेम कर सकते हैं। यानी अब आपकी टैक्सेबल इनकम हुई 8 लाख रुपए।

 

अगर आपने होम लोन लिया हुआ है तो सीधे-सीधे 2 लाख रुपए बचा सकते हैं। अब आपको सिर्फ 6 लाख रुपए पर टैक्स देना होगा। इसके अलावा अगर आपने पर्सनल मेडीक्लेम लिया है तो उसके लिए आपको टैक्स में 25,000 रुपए क्लेम कर सकते हैं और अगर आपने अपने माता-पिता का मेडिकल इंश्योरेंस कराया है तो आप 50,000 रुपए और टैक्स फ्री करा सकते हैं। डोनेशन के तहत आप अतिरिक्त 25,000 रुपए टैक्स फ्री क्लेम कर सहते हैं।

 

ऐसा करके आपकी टैक्सेबल इनकम 5 लाख रुपए हो जाएगी। इस इनकम पर 12,500 रुपए टैक्स लगेगा, जिसपर रिबेट लगकर वह भी जीरो हो जाएगा।

 

ऐसे करें कैलकुलेशन

 

कुल सैलरी: 10.5 लाख सालाना

 

डिडक्शन

स्टैंडर्ड डिडक्शन- 50,000 (सैलरी के लिए)

Sec 80C के तहत निवेश- 1.50 लाख रुपए (80C)

NPS में निवेश- 50 हजार रुपए (80CCD)

हाेम लोन पर इंटरेस्ट- 2 लाख रुपए (section24)

खुद के लिए मेडिक्लेम- 25 हजार रुपए (80D)

माता-पिता के लिए मेडिक्लेम- 50 हजार रुपए (80D)

डोनेशन- 25 हजार रुपए (80G)

 

कुल डिडक्शन- 5.5 लाख रुपए

 

कुल आय: 5 लाख रुपए

टैक्स: 12.5 हजार रुपए

रिबेट: 12.5 हजार रुपए

 

इनकम टैक्स भुगतान: जीरो

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss