Home » Personal Finance » Insurance » Updatebanks to take higher insurance cover against fruad

PNB फ्रॉड: बैंकर्स इन्‍डेमिनिटी कवर में नए फीचर जोड़ सकती है इन्‍श्‍योरेंस कंपनियां

बीमा कंपनियां फ्रॉड के अगेंस्‍ट कवर मुहैया कराने वाली बीमा पॉलिसी में नए फीचर जोड़ने पर विचार कर रहीं हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। बीमा कंपनियां फ्रॉड के अगेंस्‍ट कवर मुहैया कराने वाली बीमा पॉलिसी में नए फीचर जोड़ने पर विचार कर रहीं हैं। बीमा कंपनियों का मानना है कि बैंकों को अब फ्रॉड के अगेंस्‍ट इन्‍श्‍योरेंस कवरेज बढ़ानी होगी। वहीं इंडस्‍ट्री इस बात पर विचार कर रही है कि बदले हुए परिदृश्‍य में बीमा पॉलिसी में किस तरह के बदलाव किए जाएं जिससे ग्राहकों को बड़े फ्रॉड के मामलों में भी बेहतर कवर मुहैया कराया जा सके। पंजाब नेशनल बैंक में कर्मचारियों की मिलीभगत से लगभग 13,000 करोड़ रुपए का फ्रॉड सामने आने के बाद बैंक जहां फ्रॉड के अगेंस्‍ट इन्‍श्‍योरेंस कवर बढ़ाने की तैयार कर रहे हैं। 

 

नए फीचर्स जोड़ने पर विचार रहीं हैं इन्‍श्‍योरेंस कंपनियां 

 

आईसीआईसीआई लोंबार्ड जनरल इन्‍श्‍योरेंस के चीफ अंडरराटिंग एंड क्‍लेम्‍स संजय दत्‍ता ने moneybhaskar.com को बताया कि हमारे पास ऐसी पॉलिसी पहले से जिसके तहत बैंक फ्रॉड के अगेंस्‍ट इन्‍श्‍योरेंस कवरेज बढ़ा सकते हैं। पीएनबी जैसा फ्रॉड सामने आने के बाद बैंकों को इन्‍श्‍योरेंस कवरेज बढ़ानी पड़ेगी। इससे इन्‍श्‍योरेंस कंपनियों का इस फ्रॉड के अगेंस्‍ट पॉलिसी का बिजनेस बढ सकता है। बदले परिदृश्‍य में हम इस बात पर विचार कर रहे हैं कि हम फ्रॉड के अगेंस्‍ट पॉलिसी में किस तरह का बदलाव कर सकते हैं। जैसे सायबर फ्रॉड के लिए हमारे पास अलग से पॉलिसी है। क्‍या हम इस पॉलिसी को एक फीचर के तौर पर फ्रॉड के अगेंस्‍ट इन्‍श्‍योंरेस कवर देने वाली पॉलिसी में जोड़ सकते हैं। 

 

बैंकों को बढ़ाना होगा कवर

 

ओरिएंटल इन्‍श्‍योरेंस कंपनी लिमिटेड के पूर्व डीजीएम एनके सिंह का कहना है कि बीमा कंपनियों के पास पहले से बैंकर्स इन्‍डेमिनिटी पॉलिसी है। इसके तहत बैंक अपने इम्‍पलाई द्वारा किए गए फ्रॉड, डकैती और कैश चोरी होने के अगेंस्‍ट कवर ले सकते हैं। पीएनबी फ्रॉड जैसे मामला सामने आने के बाद बैंक इस पॉलिसी के तहत इन्‍श्‍योरेंस कवरेज बढा सकते हैं। बदले हुए परिदृश्‍य में बीमा कंपनियों को देखना होगा कि वे इस पॉलिसी को कैसे बेहतर बना सकते हैं जिससे बैंकों को और बेहतर कवर मुहैया करा सकें। 

 

पीएनबी ने ले रखा था सिर्फ 2 करोड़ का कवर 

 

पंजाब नेशनल बैंक ने बैंकर्स इन्‍डेमिनिटी कवर ले रखा था। लेकिन उन्‍होंने सिर्फ 2 करोड़ की इन्‍श्‍योरेंस कवरेज ले रखी थी। वहीं बैंक में कर्मचारियों की मिलीगभग से फ्रॉड लगभग 13,000 करोड़ रुपए का हो गया। ऐसे में पीएनबी को इन्‍श्‍योरेंस कवरेज से कोई खास फायदा नहीं होगा। अगर बैंक ने ज्‍यादा अमाउंट का इन्‍श्‍योरेंस कवर लिया होता तो उसे इस मामले में इन्‍श्‍योरेंस कवर के तौर पर कुछ राहत मिल सकती थी। 

 

 

 


पीएनबी में हुआ लगभग 13,000 करो़ड़ रुपए का फ्रॉड 

 

पंजाब नेशनल बैंक में कर्मचारियों की मिलीभगत से लगभग 13,000 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ है। इस मामले में नीरव मोदी और मेहूल चोस्‍की ने पीएनबी के कर्मचारियों के साथ मिल कर फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग यानी एलओयू जारी करा लिया। इस तरह से पंजाब नेशनल बैंक को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=