Home » Personal Finance » Insurance » UpdateIndependence Day; Ayushmann Bharat health scheme

स्‍वतंत्रता दि‍वस: PM मोदी ने कहा- 25 सि‍तंबर से शुरू होगी आयुष्‍मान स्‍कीम, 10 करोड़ परि‍वारों को मि‍लेगा 5 लाख का इंश्‍योरेंस

15 अगस्त से शुरू हो गई है स्कीम की टेस्टिंग

Independence Day; Ayushmann Bharat health scheme

नई दि‍ल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72वें स्‍वतंत्रता दि‍वस के मौके पर लाल कि‍ला की प्रचीर से देश को संबोधि‍त करते हुए कहा कि‍ सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना आयुष्‍मान भारत हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍कीम (Ayushman Bharat Scheme) को 25  सि‍तंबर 2018 को लॉन्‍च कि‍या जाएगा। नरेंद्र मोदी ने कहा कि‍ इस स्‍कीम के तहत 10 करोड़ परि‍वारों यानी करीब 50 करोड़ लोगों आएंगे। हर परि‍वार को 5 लाख रुपए सालाना का इंश्‍योरेंस कवर दि‍या जाएगा।

 

आज से शुरू होगी टेस्‍टिंग  

 

नरेंद्र मोदी ने कहा कि‍ आयुष्‍मान स्‍कीम को शुरू करने के लि‍ए जो टेक्‍नोलॉजी डेवलप की गई है उसकी टेस्‍टिंग 15 अगस्‍त से शुरू हो रही है। इस टेस्‍टिंग आगामी 5 से 6 हफ्ते तक चलाया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि‍ लोगों को स्‍कीम का फायदा आसानी से मि‍ल सके, इसके लि‍ए टेक्‍नोलॉजी की अहम भूमि‍का है।  

 

11 करोड़ फैमि‍ली कार्ड प्रिंट कराएगी सरकार

 

आयुष्‍मान भारत हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍कीम  के तहत सरकार लगभग 11 करोड़ फैमिली कार्ड प्रिन्‍ट कराएगी। लाभार्थियों को इन कार्ड्स की हैंड डिलीवरी की जाएगी यानी उन्हें ये कार्ड हाथ में सौंपे जाएंगे। इसके लिए गांवों में आयुष्‍मान पखवाड़ा प्रोग्राम चलाया जाएगा। इसकी जानकारी आयुष्‍मान भारत- नेशनल हेल्‍थ प्रोटेक्‍शन मिशन (AB-NHPM) द्वारा जारी बिड डॉक्‍युमेंट से मिली। money.bhaskar.com के पास इस डॉक्‍युमेंट की कॉपी मौजूद है। 

 

फैमिली कार्ड्स में स्‍कीम का लाभ पाने वालों के नाम मौजूद होंगे, साथ ही इसके साथ एक लेटर भी होगा जिसमें आयुष्‍मान स्‍कीम के सभी फीचर्स की जानकारी मौजूद होगी। फैमिली कार्ड लाभार्थियों की पहचान प्रक्रिया को आसान बनाने का एक जरिया भी होंगे। हालांकि इसके लिए अन्‍य डॉक्‍युमेंट्स की भी जरूरत होगी।   

 

क्‍या है आयुष्‍मान स्‍कीम

 

बता दें कि आयुष्‍मान भारत स्‍कीम की घोषणा बजट 2019 के दौरान की गई थी। इस स्‍कीम के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए तक के फ्री हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा दी जाएगी। इसमें लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज कवर होगा। कोई भी व्यक्ति (विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) इलाज से वंचित न रह जाए, इसके लिए स्कीम में फैमिली साइज और उम्र पर कोई सीमा नहीं लगाई गई है।

 

इस स्कीम में हॉस्पिटलाइजेशन से पहले और बाद के खर्च को भी शामिल किया गया है। हर बार हॉस्पिटलाइजेशन के लिए ट्रांसपोर्टेशन अलाउंस का भी उल्लेख किया गया है, जिसका भुगतान लाभार्थी को किया जाएगा। इलाज देश के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में कैशलेस इलाज कराया जा सकेगा। इस स्‍कीम से लगभग 50 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=