Home » Personal Finance » Insurance » UpdateAyushman Bharat: 8 states and 4 UTs sign MoU with health ministry to implement programme

Ayushman Bharat: 12 राज्‍यों ने कि‍या हेल्‍थ मि‍नि‍स्‍ट्री से समझौता, मि‍लेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज

Ayushman Bharat को लागू करने के लि‍ए आठ राज्‍यों और 4 केंद्र शासि‍त राज्‍यों ने एमओयू साइन पर कि‍या है।

Ayushman Bharat: 8 states and 4 UTs sign MoU with health ministry to implement programme

नई दि‍ल्‍ली। सरकार की महत्‍कांक्षी नेशनल हेल्‍थ प्रोटेक्‍शन मि‍शन-  Ayushman Bharatको लागू करने के लि‍ए आठ राज्‍यों और 4 केंद्र शासि‍त राज्‍यों ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के साथ MoU पर साइन कि‍या है। इस स्‍कीम का मकसद 10 करोड़ परि‍वारों को हर साल 5 लाख रुपए के इलाज फ्री में कराने की सुविधा देना है। माना जा रहा है कि‍ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस प्रोग्राम को 15 अगस्‍त के दि‍न शुरू करेंगे। 
  
इन राज्‍यों ने मि‍लाया हाथ

 

आयुष्मान भारत को लागू करने के लि‍ए जि‍न आठ राज्‍यों ने एमओयू पर साइन कि‍या है, उनमें हि‍माचल प्रदेश, हरि‍याणा, जम्‍मू और कश्‍मीर और उत्‍तराखंड हैं। इसके अलावा, छत्‍तीसगढ़ समेत चार केंद्र शासि‍त राज्‍यों ने भी साइन कि‍या है। 

 

ये राज्‍य जल्‍द कर सकते हैं समझौता

 

स्‍वास्‍थ्य मंत्रालय के एक अधि‍कारी ने बताया कि गुजरात, मध्‍य प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, केरल, अंडमान और नि‍कोबार और तमि‍लनाडु जल्‍द ही समझौते पर साइन कर सकते हैं। अधि‍कारी ने यह भी कहा कि‍ दि‍ल्‍ली, ओडिशा, पंजाब और पश्‍चि‍म बंगाल ने अब तक इस स्‍कीम को लागू करने के लि‍ए पॉजि‍टि‍व रि‍स्‍पॉन्‍स नहीं दि‍या है। उन्‍होंने कहा कि‍ इन राज्‍यों के साथ वि‍चार-वि‍मर्श चल रहा है। 

 

किस स्‍कीम के तहत मिलेगा फायदा

 

मोदी सरकार ने बजट में एक हैल्‍थ स्‍कीम लाने की घोषणा की थी जिसमें देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को शामिल करने की योजना थी। अब सरकार ने इस स्‍कीम को ‘आयुष्मान भारत’ नाम से मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही किसे स्‍कीम का फायदा मिलेगा उसकी भी शर्तें तय कर दी हैं।
 
कौन ले सकेंगे इस स्‍कीम का फायदा

 

इस स्‍कीम के तहत 5 लाख रुपए के हर साल मुफ्त इलाज का फायदा लेने के लिए तय मानकों में से किसी एक को पूरा करना होगा। सरकार की तरफ से कई सारे मानक तय किए गए हैं। स्‍कीम में गरीब परिवारों के चयन का आधार सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना -2011 को बनाया गया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=