बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Insurance » Update600 रुपए में 1 करोड़ का जीवन बीमा, जानें पूरा सच वरना खाएंगे धोखा

600 रुपए में 1 करोड़ का जीवन बीमा, जानें पूरा सच वरना खाएंगे धोखा

आजकल टीवी पर कई विज्ञापन आ रहैं जिनमें कहा जा रहा है कि 600 रुपए या 700 रुपए सालाना प्रीमियम पर 1 करोड़ की टर्म प्‍लॉन य

1 of

नई दिल्‍ली। आजकल टीवी पर कई विज्ञापन आ रहैं जिनमें कहा जा रहा है कि 600 रुपए या 700 रुपए सालाना प्रीमियम पर 1 करोड़ की टर्म प्‍लॉन यानी जीवन बीमा ले सकते हैं। ये विज्ञापन देखने में बहुत आकर्षक हैं और आपको 600 रुपए या 700 रुपए  मंथली  प्रीमियम में 1 करोड़ का बीमा बहुत सस्‍ता लगता होगा। लेकिन यह विज्ञापन आपको पूरा सच नहीं बताते हैं। इन विज्ञापन कई शर्तों के साथ होते हैं। ऐसे में आपको टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान या जीवन बीमा खरीदने से पहले इनकी तमाम टर्म और कंडीशन के बारे में गौर से पढ़ना चाहिए। इसके बाद अपनी जरूरत के हिसाब से ही टर्म इन्‍श्‍योरेंस खरीदने का फैसला करना चाहिए। अगर आप विज्ञापन में दी गई जानकारी के आधार पर टर्म इन्‍श्‍योरेंस खरीदने का फैसला करते हैं तो आप धोखा खा सकते हैं। 

 

क्‍या है टर्म इन्‍श्‍योरेंस 

 

पॉलिसीबाजारडॉटकॉम की हेड, लाइफ इन्‍श्‍योरेंस, संतोष अग्रवाल ने moneybhaskar.com को बताया कि टर्म इन्‍श्‍योरेंस को आम तौर पर सबसे बेहतर जीवन बीमा उत्‍पाद माना जाता है। यह एक निश्चित अवधि के लिए पॉलिसी होती है और कम कीमत में पॉलिसी होल्‍डर के परिजनों को वित्‍तीय सुरक्षा मुहैया कराती है। उदाहरण के लिए आपका परिवार आप पर आर्थिक तौर पर निर्भर है तो आपके लिए यह पॉलिसी काम की है। अगर किसी पॉलिसी होल्‍डर की मौत हो जाती है तो टर्म पॉलिसी पॉलिसी होल्‍डर के परिजनों को एक निश्चित राशि मुहैया कराती है। राशि इस बात पर निर्भर करती है कि टर्म इन्‍श्‍योरेंस कवर कितने का था। जैसे 25 लाख, 50 लाख या 1 करोड़। कई सरकारी बीमा कंपनियां और निजी क्षेत्र की कंपनियां टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान की पेशकश करती हैं। बाजार में अलग अलग बीमा कंपनियों कई टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान उपलब्‍ध हैं। ये प्‍लॉन कुछ अतिरिक्‍त प्रीमियम में अतिरिक्‍त लाभ की पेशकश भी करते हैं। लेकिन आपको टर्म प्‍लान खरीदने से पहले नीचे दी गई बातों पर गौर करना चाहिए। 

 

सम एश्‍योर्ड 

 

आपको टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान खरीदने से पहले यह देखना चाहिए कि पॉलिसी का सम एश्‍योर्ड कितना है। इसे डे‍थ बेनेफिट भी कहते हैं। पॉलिसी होल्‍डर की मौत होने पर बीमा कंपनी सम एश्‍योर्ड की राशि परिजनों को देती है। अगर टर्म इन्‍श्‍योरेस पॉलिसी का सम एश्‍योर्ड या डेथ बेनेफिट 50 लाख रुपए का है तो पॉलिसी होल्‍डर की मौत होने पर बीमा कंपनी नॉमिनी को 50 लाख रुपए देगी। आम तौर पर किसी को भी यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टर्म इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी का सम एश्‍योर्ड मौजूदा सालान इनकम का 10 से 20 गुना तक हो। 

पॉलिसी की अवधि 

 

टर्म प्‍लान खरीदने में दूसरी सबसे अहम बात यह है कि टर्म इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी आप कितने समय के लिए ले रहे हैं। इसे पॉलिसी की अवधि कहते हैं। उदाहरण के लिए अगर कोई 30 साल की उम्र का व्‍यक्ति 70 साल की उम्र के लिए टर्म प्‍लान लेना चाहता है तो इस पॉलिसी की अवधि 40 साल होगी। अगर टर्म प्‍लान कम उम्र में खरीदा जाए और लंबे समय के लिए हो तो बेहतर रहता है। 

 

प्रीमियम 

टर्म प्‍लान खरीदने से पहले आपको तमाम बीमा कंपनियों के प्‍लान का प्रीमियम देखना चाहिए और इसे कंपेयर करना चाहिए। टर्म प्‍लान पॉलिसी होल्‍डर की मौत होने पर उस पर निर्भर परिजनों को वित्‍तीय सुरक्षा मुहैया कराने के लिए होता है। ऐसे में आपको सिर्फ कम प्रीमियम पर ही नहीं ध्‍यान चाहिए। बल्कि आपको पॉलिसी के तमाम फीचर पर गौर करना चाहिए कि यह आपकी जरूरतों को पूरा करता या नहीं। उदाहरण के लिए आप टर्म प्‍लान लेने के साथ क्रिटिकल इलनेस का टॉप अप भी ले सकते हैं। इसके लिए आपको थोड़ा ज्‍यादा प्रीमियम देना होगा। 

 

टर्म प्‍लान लेने से पहले यह जानना भी है जरूरी 

 

फ्यूचर जेनराली इंडिया लाइफ इन्‍श्‍योरेंस के चीफ मार्केटिंग ऑफीसर एंड ईवीप, स्‍ट्रैटेजी एंड रिटेल एश्‍योरेंस राकेश वाधवा ने moneybhaskar.com को बताया कि  टर्म या लाइफ इन्‍श्‍योरेंस पॉलिसी लेने से पहले कस्‍टमर्स को कुछ अहम टर्म्‍स एंड कंडीशंस पर ध्‍यान देना चाहिए। जैसे पॉलिसी में क्‍या कवर नहीं है। जैसे पॉलिसी लेने के एक साल के अंदर कस्‍टमर आत्‍महत्‍या करता है तो क्‍लेम नहीं मिलेगा। इसके अलावा सेक्‍शन 45 के तहत इनकांटेंस्टिबिलिटी क्‍लाज। यह क्‍लाज कहता है कि जीवन बीमा कंपनी पॉलिसी के पहले दो साल इस आधार पर क्‍लेम देने से मना कर सकती है कि गलत तथ्‍य दिए गए। इसके अलावा पॉलिसी के चार्ज स्‍ट्रक्‍चर या प्रीमियम पर भी गौर करना चाहिए। यह भी चेक करना चाहिए कि इस पॉलिसी के विकल्‍प के तौर पर दूसरी पॉलिसी कम चार्ज या कम प्रीमियम पर उपलब्‍ध है या नहीं। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=