विज्ञापन
Home » Personal Finance » InsuranceDental insurance will not give a separate premium, get up to Rs 4 lakh claim

मनी भास्कर खास / चालू प्लान में ही ले सकते हैं डेंटल इंश्योरेंस, नहीं देना होगा अलग से प्रीमियम, मिलेगा चार लाख रुपए तक का क्लेम

कई बार दांतों की बीमारियां मरीजों की जेब पर काफी बड़ा बोझ साबित होती हैं

Dental insurance will not give a separate premium, get up to Rs 4 lakh claim
  • देश में महंगा होता दातों का इलाज
  • दंत प्रत्यारोपण में लगभग 1-1.5 लाख रुपए और चेहरे की कॉस्मेटिक रिस्टोरेशन में लगभग 1.5-4 लाख रुपए का खर्च आता है।

 

नई दिल्ली. भारत में दांतों की सेहत को कम अहमियत मिलती है। इसकी वजह से दांतो की बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं, जिसमें कैविटीज और पीरियडोंटल रोग सबसे आम हैं। दांतों की सेहत, अन्य स्वास्थ्य स्थितियों जैसे कि डायबिटीज, हृदय संबंधी दिक्कतें, गर्भावस्था आदि से भी जुड़ी हुई है। देश में तम्बाकू उत्पादों के अधिक सेवन के कारण भी दांतों से जुड़ी दिक्कतें बड़ी संख्या में सामने आती हैं। ऐसे में मनी भास्कर ने Compare Policy के सीईओ सुभाष नागपाल से डेंटल इंश्योरेंस के बारे में जानकारी हासिल की।

महंगा होता दातों का इलाज

सुभाष नागपाल के मुताबिक देश में दांतों की बीमारियां मरीजों की जेब पर काफी बड़ा बोझ साबित होती हैं। दांतों के इलाज की प्रक्रियाएं काफी महंगी होती है। मिसाल के तौर पर दंत प्रत्यारोपण में लगभग 1-1.5 लाख रुपए, चेहरे की कॉस्मेटिक रिस्टोरेशन में लगभग 1.5-4 लाख रुपए, दातों की फिलिंग्स में 3 हजार से 6 हजार प्रति दांत, रूट कैनाल में लगभग 7 हजार से 10 हजार रुपए प्रति दांत की लागत आती है। लेकिन देश में लोग दांतों की बीमारियों के बारे में कम जानकारी होने की वजह से ज्यादातर लोग डेंटल इंश्योरेंस लेने के बारे में नहीं सोचते। यही नहीं ज्यादार लोगों को इस तरह के किसी इंश्योरेंस की मौजूदगी के बारे में पता भी नहीं होता।

डेंटल इंश्योरेंस के फायदे

किसी भी दंत चिकित्सा उपचार /प्रक्रिया में होने वाले खर्च को कवर करने के लिए, आप एक ऐसी पॉलिसी का चुनाव करना होगा जोकि दंत चिकित्सा के खर्चों के लिए कवर प्रदान करती हो। इस तरह की पॉलिसी दंत चिकित्सा प्रक्रियाओं के दौरान डायगनोसिस से लेकर उपचार तक सभी तरह के खर्चों को कवर करती हैं। खास बात ये है कि आप सिर्फ दांतों के लिए इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं खरीद सकते, हालांकि कई कंपनियों की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज के अंदर ही आपको डेंटल इंश्योरेंस की सुविधा प्राप्त होती है।

डेंटल इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवरेज

डेंटल इंश्योरेंस प्लान के तहत आमतौर पर इन बीमारियों को कवर किया जाता है

  • डेंटल X- रे
  • रूट कनाल प्रक्रिया
  • नियमित जांच
  • दांतों की फिलिंग
  • दांत निकालना
  • फॉलो अप उपचार

नोट- डेंटल कवरेज आपकी हेल्थ इंश्योरेंस योजना की शर्तों पर निर्भर करता है और यह एक योजना से दूसरी योजना में अलग अलग हो सकता है।

देश में मौजूद कुछ डेंटल इंश्योरेंस प्लान

अगर आप अपनी जेब से दांतों के किसी प्रकार के इलाज का भारी खर्च नहीं उठाना चाहते तो इसके लिए एक डेंटल इंश्योरेंस पॉलिसी का चयन करना सही फैसला है। आइए जानते हैं देश में मौजूद कुछ ऐसी ही हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज के बारे में जो जो भारत में डेंटल इंश्योरेंस प्रदान कर रही हैं।

अपोलो म्यूनिक मैक्सिमा हेल्थ प्लान

अपोलो म्यूनिक के मैक्सिमा हेल्थ प्लान में मरीज के अस्पताल में भर्ती होने के साथ-साथ आउट पेशेंट कवरेज भी प्रदान की जाती है। इस प्लान के अंतर्गत आपको ऐसी दिन-प्रतिदिन की स्वास्थ्य समस्याओं की भी कवरेज मिलेगी जिनके लिए अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है। यह पॉलिसी एक चौतरफा हेल्थ कवर प्रदान करती है।इस हेल्थ प्लान के तहत आपको डेंटल ट्रीटमेंट, डॉक्टर के परामर्श, तमाम टेस्ट्स आउट- पेशेंट लाभ के रूप में कवर मिलेगा। इन चिकित्सा उपचारों / प्रक्रियाओं पर होने वाले वास्तविक खर्च या सम इंश्योर्ड, जो भी कम हो, उसका भुगतान किया जाता है।

आईसीआईसीआई प्रु हेल्थ सेवर प्लान

आईसीआईसीआई प्रू हेल्थ सेवर एक व्यापक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है जो आपके और आपके परिवार के लिए इन-पेशेंट हॉस्पिटल कवर प्रदान करती है। यह पॉलिसी दंत चिकित्सा, डायबिटीज, गर्भावस्था और डायगनोस्टिक ​​जांच सहित अन्य सभी चिकित्सा खर्चों की प्रतिपूर्ति करती है।

हेल्थ सेविंग्स बेनिफिट के तहत, यह प्लान दंत चिकित्सा पर हुए खर्चों का भुगतान करती है। आप वास्तविक बिल प्रदान करने पर इन खर्चों की प्रतिपूर्ति के लिए दावा कर सकते हैं।

भारती एक्सा स्मार्ट हेल्थ

भारती एक्सा स्मार्ट हेल्थ प्लान मरीज के अस्पताल में भर्ती होने पर चिकित्सा खर्चों की पूर्ण कवरेज प्रदान करता है। इस प्लान में मरीज के प्रतिदिन होने वाले चिकित्सा खर्चों का कवर मिलता है। किसी दुर्घटना के कारण दांत के आपातकालीन उपचार में किए गए चिकित्सा व्यय पर भी इस पॉलिसी में कवर मिलता है।

नोट: इस लेख में कुछ चुनिंदा पॉलिसियों का उल्लेख सिर्फ उदाहरण के लिए किया गया है। डेंटल हेल्थ पॉलिसियों के अलावा आप अपने और अपने परिवार के लिए अन्य इंश्योरेंस स्कीम्स का जायज़ा लेकर डेंटल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी चुन सकते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss