Home » Personal Finance » Financial Planning » UpdateIndiapost is giving business opportunity to do franchise model business

पोस्ट ऑफिस आपको कराएगा हर महीने कमाई, बस करने होंगे ये 5 काम

आपके लिए पोस्ट ऑफिस के साथ मिलकर कमाई करने का अच्छा मौका है। इसके लिए बस आपको पोस्ट ऑफिस से फ्रेंचाइजी लेनी होगी।

1 of
 
नई दिल्ली। आपके लिए पोस्ट ऑफिस के साथ मिलकर कमाई करने का अच्छा मौका है। इसके लिए बस आपको पोस्ट ऑफिस से फ्रेंचाइजी लेनी होगी।  जिसके बाद आप आसानी से हर महीने 15-20 हजार रुपए एक्सट्रा इनकम के रूप में ले सकते हैं। आज हम आपको ऐसे 5 बिजनेस बता रहे हैं, जिनके लिए इंडियापोस्ट फ्रेंचाइजी बनने का मौका देता है।
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ें- कौन से 5 बिजनेस आप कर सकते हैं...
 
 
 
कौन सा बिजनेस कर सकते हैं शुरू
  1. स्टॉम्प और स्टेशनरी की बिक्री
  2. रजिस्ट्री और स्पीडपोस्ट बिजनेस
  3. बिल, टैक्स कलेक्शन और पेमेंट सर्विसेज बिजनेस
  4. पोस्टल लाइफ इन्श्योरेंस बिजनेस
  5. ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट
 
अगली स्लाइड में पढ़िए इन बिजनेस के लिए कितना करना होगा इन्वेस्टमेंट
 
यह है बिजनेस मॉडल 
 
-  इंडियापोस्ट के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार फ्रेंचाइजी के लिए 1-2 लाख रुपए का इन्वेस्टमेंट होना जरूरी है।
- इसके अलावा फ्रेंचाइजी को कम से कम हर महीने 50 हजार रुपए की सेल्स करना भी जरूरी है।
- जिसका इंडिया पोस्ट हर 6 महीने पर रिव्यू भी करेगा।
- साथ ही मिनिमम सिक्योरिटी डिपॉजिटी की रकम 5000 रुपए होगी। जो कि एनएससी के रूप में ली जाएगी।
 
अगली स्लाइड में पढ़िए- कौन कर सकेगा अप्लाई..
 
कौन कर सकेगा अप्लाई
 
फ्रेंचाइजी कोई इंडीविजुअल व्यक्ति भी ले सकता है, साथ ही कोई इंस्टीट्यूट अप्लाई भी कर सकेगा। इसके तहत कॉलेज, यूनिवर्सिटी, पॉलिटेक्निक, स्पेशल इकोनॉमिक जोन भी अप्लाई कर सकेंगे।
  1. व्यक्ति की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए
  2. व्यक्ति के पास 10 वीं पास या उससे हाई लेवल की डिग्री मान्यता प्राप्त संस्थान से होनी चाहिए।
  3. उम्र की अपर लिमिट नहीं है।
अगली स्लाइड में पढ़िए- लोकेशन और सप्लाई के लिए क्या होंगी शर्तें...
 
 
लोकेशन के लिए प्रमुख शर्तें
 
 
इंडिया पोस्ट काउंटर के लिए फ्रेंचाइजी देता है। इसके तहत तय प्रोडक्ट की सप्लाई इंडिया पोस्ट के जरिए होगी। लेकिन पोस्ट ऑफिस से आउटलेट तक प्रोडक्ट को लाने की जिम्मेदारी फ्रेंचाइजी की होगी।
 
.फ्रेंचाइजी के लिए प्रोडक्ट को पोस्टऑफिस तक पहुंचाने के लिए एक तय समय निश्चित होगा, उसी अवधि में आउटलेट को पोस्ट ऑफिस तक पहुंचाना होगा।
 
.जहां पर आउटलेट खोलना है, उसकी लोकेशन बेहतर जगह होनी चाहिए। जो खुद की भी हो सकती है या फिर रेंट या लीज पर ली जा सकती है। आउटलेट खोलने के लिए एप्लीकेंट को अपना बिजनेस प्लान देना होगा, जिसमें उसे यह बताना होगा, कि जिस लोकेशन पर वह आउटलेट खोलना चाहता है, वहां से मंथली कितना रेवेन्यू आएगा।
 
अगली स्लाइड में पढ़िए बिजनेस शुरू करने के लिए कैसे मिलेगी ट्रेनिंग
ट्रेनिंग और अवार्ड का मौका
 
.जिनका सेलेक्शन फ्रेंचाइजी के लिए हो जाएगा। उनको पोस्टल डिपार्टमेंट की तरफ से ट्रेनिंग भी मिलेगी। जो कि सब-डिविजनल इंसपेक्टर के जरिए दी जाएगी।
 
.इसके अलावा जो फ्रेंचाइजी पेमेंट के लिए प्वाइंट ऑफ सेल्स मशीन का यूज करेंगे, उन्हें बार कोडेड स्टिकर भी मिलेगा।
 
.इसके अलावा ब्रांडिंग के लिए स्टैण्डर्ड साइनेज भी फ्रेंचाइजी को दिया जाएगा। जो कि हेड पोस्ट ऑफिस या सब पोस्ट ऑफिस से मिलेगा।
 
.इसके अलावा हर साल अच्छा परफॉर्म करने वाले फ्रेंचाइजी को अवार्ड भी दिया जाएगा।
 
अगली स्लाइड में पढ़िए कितना मिलेगा कमीशन
 
कितना मिलेगा कमीशन
 
. किसी ऑर्टिकल की रजिस्ट्री पर 2 रुपए का कमीशन मिलेगा
 
. स्पीडपोस्ट की बुकिंग पर 2 रुपए का कमीशन
 
. मनीऑर्डर पर 3.5 रुपए का कमीशन
 
. फ्रेंचाइजी 100 रुपए से कम का मनीऑर्डर नहीं कर सकेगा
 
.हर महीने 1000 से ज्यादा रजिस्ट्री या स्पीड पोस्ट करने पर 20 फीसदी अतिरिक्त कमीशन
 
.पोस्टल स्टॉम्प, स्टेशनरी या मनीऑर्डर फॉर्म पर सेल अमाउंट का 5 फीसदी
 
फ्रेंचाइजी के लिए संम्पर्क और दूसरी जानकारी के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं...
 
http://www.indiapost.gov.in/Pdf/40-28-2010-Plg_17-09-2012_Franchisee_Scheme.pdf
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट