Home » Personal Finance » Financial Planning » Step To Step GuideKnow steps to make ration card in just five rupees

5 रुपए में बनवाएं राशन कार्ड, जानें किन कामों के लिए है जरूरी

देश के कई राज्य अब ऑनलाइन सिस्टम से राशन कार्ड बनवाने का प्रोसेस शुरू कर चुके हैं।

1 of
नई दिल्ली। राशन कार्ड बनवाना अब पहले से कहीं आसान हो गया है। अब आप ना केवल इसका फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते है बल्कि अपने एप्लिकेशन को ऑनलाइन ट्रैक भी कर सकते हैं। देश के कई राज्य अब ऑनलाइन सिस्टम से राशन कार्ड बनवाने का प्रोसेस शुरू कर चुके हैं। इसके लिए आपको 5 रुपए से लेकर 45 रुपए खर्च करने होंगे। आज मनीभास्कर आपको बता रहा है कि राशन कार्ड बनवाने के क्या फायदें हैं और उन्हें आप कैसे बनवा सकते हैं...
 
राशन कार्ड बनवाने का ये है प्रोसेस  
 
जिस राज्य के आप निवासी है, उसकी फूड सप्लाई डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर जाकर आप राशन कार्ड का फार्म डाउनलोड कर सकते हैं। जैसे कि दिल्ली के निवासी इस वेबसाइट http://delhigovt.nic.in/newdelhi/dept/food/form1.pdf पर क्लिक करके फार्म डाउनलोड कर सकते है। फार्म को भरने के बाद आपको अपना कलर फोटो व्हाइट बैक ग्राउंड के साथ लगाना होगा। जिसे जाकर आपको फूड सप्लाई ऑफिस में जाकर जमा करना होगा।  
 
आगे की स्लाइडों में पढ़े किन राज्यों में पांच रुपए में बनता है राशन कार्ड...
 
दो हफ्ते के अंदर मिलेगा राशन कार्ड
 
राशन कार्ड का फॉर्म जमा करने के बाद आपको डीएसओ ऑफिस से एक एप्लिकेशन नंबर मिलेगा। देश के कई राज्यों ने इसकी ऑनलाइन ट्रैकिंग की भी शुरुआत की हैं। केंद्र सरकार और पांच राज्यों ने मिलकर http://pdsportal.nic.in/main.aspx पोर्टल शुरू किया है। जहां पर आप अपने एप्लिकेशन को ट्रैक कर सकते हैं। ये सुविधा दिल्ली, गोवा, झारखंड, कर्नाटक और पुडुचेरी राज्यों ने शुरू की है।
 
 
तीन कैटेगरी में बनता है राशन कार्ड
 
राशन कार्ड तीन तरीके का बनता है। जो कि आपकी इनकम के आधार पर तय होता है। बीपीएल और अंत्योदय राशन कार्ड गरीबी रेखा से नीचे आय वालों के लिए और एपीएल कार्ड मध्य और उच्च आय वालों के लिए बनता है। राज्यों के हिसाब से इनको येलो, पिंक, ग्रीन, व्हाइट आदि रंगो में बनाया जाता है। ब्लू कार्ड केरोसिन लेने के लिए बनता है और ये यूनिफॉर्म कलर है जो कि सभी राज्यों में फॉलो होता है।
 
 
इन राज्यों में लगती है पांच रुपए फीस
 
राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, अरुणाचल प्रदेश और छत्तीसगढ़ में राशन कार्ड बनवाने के लिए पांच रुपए की फीस लगती है। राज्यों ने अपने यहां आय के हिसाब से फीस तय कर रखी है। कई राज्यों में ये फीस एपीएल और बीपीएल कैटेगरी के लिए अलग-अलग हैं। इसके तहत एपीएल कैटेगरी के लिए फीस 45 रुपए है। आप अपने राज्य अथवा जिले के डीएसओ ऑफिस से फीस के बारे में पता कर सकते हैं।
 
 
इन डॉक्युमेंट्स की पड़ेगी जरुरत
 
राशन कार्ड बनवाने के लिए आपको परिवार के मुखिया का कलर फोटो (एक से लेकर के तीन फोटो—राज्यों के हिसाब से) और एड्रेस प्रूफ के तौर पर बिजली बिल, रेंट एग्रीमेंट, प्रॉपर्टी के डॉक्युमेंट अथवा नगर निगम से प्राप्त बिल की कॉपी लगा सकते हैं। आप गांव के सरपंच, तहसीलदार, एसडीएम से अपने घर के एड्रेस की अटेस्टेड कॉपी को एप्लिकेशन फॉर्म के साथ लगा सकते हैं।
 
 
 
दिल्ली में मिलता है तत्काल राशन कार्ड
 
दिल्ली सरकार ने तत्काल पासपोर्ट की तरह तत्काल राशन कार्ड लेने की स्कीम भी शुरू की है, जिसके द्वारा आप सौ रुपए फीस देकर के दो दिन के अंदर अपना राशन कार्ड पा सकते हैं। इसके लिए फॉर्म दिल्ली सरकार की वेबसाइट delhi.gov.in पर 
उपलब्ध है।  
 
 
क्यों जरूरी है राशन कार्ड बनवाना
 
राशन कार्ड किसी भी व्यक्ति के लिए पहचान का सबसे आसान विकल्प है। खास तौर से उनके लिए जिनके पास पहचान का कोई औऱ विकल्प नहीं है। राशन कार्ड होने के बाद आपके लिए आधार कार्ड, पासपोर्ट, टेलिफोन कनेक्शन, एलपीजी-पीएनजी कनेक्शन, वोटरआईडी कार्ड बनवाना आसान हो जाता है।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट