मनी की गुल्लक /एलआईसी की बजाय टर्म इंश्योरेंस में करें निवेश, पैसा भी बचेगा और इंश्योरेंस की जरूरत भी होगी पूरी

  • एक्सपर्ट से जानिए निवेश से जुड़े अपने सभी सवालों के जवाब

Moneybhaskar.com

Sep 23,2019 02:37:00 PM IST

नई दिल्ली. अपने फाइनेंशियल गोल्स को पूरा करने के लिए सही समय पर सही जगह निवेश करना जरूरी है। बाजार में निवेश के लिए कई तरह के विकल्प मौजूद हैं, लेकिन किसी भी योजना का चुनाव करने से पहले आपके लिए जरूरी है सभी पहलुओं पर गौर करना। जरूरी नहीं है कि आपके दोस्त ने जो निवेश योजना चुनी हो, वो आपके लिए सही हो। ऐसे में निवेश को लेकर आपके मन जो भी सवाल या दुविधाएं हैं, उनके समाधान के लिए मनी भास्कर ने 'मनी की गुल्लक’ सीरीज शुरू की है। यहां पर इन्वेस्टमेंट से जुड़े आपके सवालों के जवाब एक्सपर्ट देंगे।

हमारे पास जो सवाल आए थे, उनमें से कुछ चुनिंदा सवालों के जवाब हम आप तक पहुंचा रहे हैं। हमारे एक्सपर्ट हैं वेल्थ डिस्कवरी ग्रुप के डायरेक्टर राहुल अग्रवाल

सवाल1. मैं पिछले दो साल से म्युचुअल फंड में निवेश कर रहा हूं और महीने में 5000 रुपए यूनियन बैंक यूनियन मल्टी कैप फंड ग्रोथ में लगा रहा हूं। क्या मैं इसे जारी रखूं या इसमें से पैसा निकालकर किसी और म्युचुअल फंड में लंबी अवधि के लिए जमा कराऊं? कृपया सलाह दें। -दीपक जोशी

उत्तर: यूनियन बैंक यूनियन मल्टी कैप फंड ग्रोथ का शॉर्ट टर्म ट्रैक रिकॉर्ड काफी अच्छा है। एक समान अवधि के लिए बेंचमार्क S&P BSE 500 के -0.76 के रिटर्न और कैटेगरी -0.01 के समाने इसका ईयर-टू-डेट रिटर्न 1.67 फीसदी रहा है। इसका ईयरली रिटर्न -4.99 है, जो समान अवधि के लिए S&P BSE 500 के -6.15 फीसदी और कैटेगरी -5.30 फीसदी की तुलना में बेहतर है।

लेकिन लंबे समय से यह फंड बेंचमार्क को पीछे नहीं छोड़ पाया है। 5 साल से इस फंड का सालाना रिटर्न S&P BSE 500 के बेंचमार्क 8.36% रिटर्न और 8.26 फीसदी की कैटेगरी के मुकाबले 4.58 फीसदी रहा है। रेगुलर प्लान के लिए इस फंड का हाई एक्सपेंस रेश्यो 2.55 फीसदी है और 275 करोड़ रुपए का लो AUM (असेट अंडर मैनेजमेंट) है। इसमें कम रिस्क के साथ औसतन रिटर्न मिलता है।

इस फंड का शॉर्ट टर्म परफॉरमेंस बेहतर है, लेकिन लॉन्ग टर्म में यह बेंचमार्क को पाने में सफल नहीं हुआ है। इसमें अधिक खर्चों के साथ औसत रिर्टन मिलता है और इसका AUMसाइज भी कम है। लिहाजा आपके लिए बेहतर यह होगा कि आप कुछ पैसा किसी अन्य फंड में लगाएं या दो बेहतर फंड चुनें। अगर आपके पास अतिरिक्त पैसा नहीं है, तो आप अपनी मौजूदा एसआईपी को 50 फीसदी कम करके बाकी 50 फीसदी को किसी बेहतर फंड में निवेश कर सकते हैं। इससे आपके इन्वेस्टमेंट में विविधता आएगी।

सवाल 2. मेरा नाम जितेंद्र मौर्य है। मैं 35 वर्ष का हूं। मेरी मासिक आय 40,000 रुपए है। मैंने अक्टूबर, 2017 से निवेश शुरू किया है। 1. ICICI Prudential mf Rs 3000, 2. Kotak multicap mf Rs 6000, 3.Quantum long term mf Rs 2000, 4. Reliance liquid fund Rs 1000. मेरे पास आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ का 80 लाख रुपए का टर्म प्लान है। मैंने 2 लाख रुपए का इमर्जेंसी फंड भी बना रखा है। मेरे फाइनेंशियल गोल में मेरे बच्चे की पढ़ाई शामिल है। इसमें 15 साल बाद 35 लाख रुपए मिलेंगे। मैं 55 साल में रिटायर होना चाहता हूं। उसके बाद खर्च चलाने के लिए मुझे प्रति माह 40,000 रुपए की जरूरत होगी। 45 साल की उम्र में अपना घर खरीदने के लिए 20 लाख रुपए का फंड बनाना चाहता हूं। मुझे इन लक्ष्यों को पाने के लिए कैसे और कहां निवेश करना चाहिए?

उत्तर: जैसे कि आप अपनी 40 हजार रुपए प्रतिमाह की सैलरी में से पहले से ही 13,000 प्रति माह सेविंग कर रहे हैं, तो आपके महीने का खर्च 27,000 रुपए है। मानकर चलिए कि सालाना 6 फीसदी की दर से महंगाई बढ़ने पर आपको 20 साल बाद मौजूदा लाइफस्टाइल बनाए रखने के लिए 86,592 रुपए मासिक आय की जरूरत होगी। इसके लिए आपको 90.72 लाख रुपए का रिटायरमेंट कॉरपस लगेगा। इसमें हम मानकर चल रहे हैं कि रिटायरमेंट के बाद 7 फीसदी की सालाना दर से रिटर्न मिल रहा हो। यह पाने के लिए आपको मासिक तौर पर 11,847 रुपए का निवेश करना होगा। इसमें हम मानकर चल रहे हैं कि आपको 10 फीसदी सालाना रिटर्न मिलेगा और आपके पास 2.5 लाख रुपए का फंड पहले से है। सेविंग्स की बात करें तो आप पहले से ही 12,000 रुपए निवेश कर रहे हैं और यह आपकी रिटायरमेंट की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी है।

इसके अतिरिक्त आपको अपने बच्चे की पढ़ाई के लिए 35 लाख रुपए (लगभग 10 फीसदी के सालाना रिटर्न पर) का फंड तैयार करने के लिए अगले 15 साल तक हर महीने 8,445 रुपए जमा करने होंगे।

इसके साथ ही 45 साल की उम्र में अपना खुद का घर खरीदने के लिए आपको अगले 10 साल तक 20 लाख रुपए का फंड बनाने के लिए हर महीने 9,763 रुपए जमा करने होंगे। मानकर चलें कि आपको 10 फीसदी सालाना रिटर्न मिलेगा। इसमें एक जरूरी बात यह है कि 10 साल बाद घर खरीदने के लिए 20 लाख रुपए का फंड कम पड़ सकता है, ऐसे में आपको निवेश बढ़ाना चाहिए।

अपने रिटायरमेंट प्लान, बच्चे की शिक्षा और घर खरीदने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए आपको महीने में कुल 30,055 रुपए की सेविंग्स करने की जरूरत है। आप फिलहाल 40,000 रुपए की मासिक सैलरी पाते हैं, लिहाजा आपको अपने सभी फाइनेंशियल गोल पूरे करने के लिए अपनी आय बढ़ाने की जरूरत है।

सवाल 3. मै 28 वर्ष का हूं। मेरी एक 4.5 वर्ष की लड़की है,अगले हफ्ते दूसरा बच्चा होने वाला है। मैं एक केंद्रीय कर्मचारी हूं मेरी 10% एनपीएस में कटने के बाद टेक होम सैलरी 42000 है। मैं अभी 6000 रुपए महीना म्युचुअल फंड में निवेश कर रहा हूं। 6 अलग अलग फंड में। 3000-3000 रुपए महीने पीपीएफ और सुकन्या में डाल रहा हूं, पिछले 6 महीने से ये दोनों निवेश कर रहा हूं। 2000 रुपए महीने का RD है। बाकी सेविंग मेरे अकाउंट में औसतन 2000 रुपए प्रति माह रहता है। घर की जिम्मेदारियों के कारण, अभी तक मेरे पास सेविंग नहीं है और मां-पापा की भी जिम्मेदारी है। क्या मेरा निवेश सही दिशा में है और अगर नहीं है तो कहां और कितना कितना निवेश करूं। मैं 50 वर्ष की आयु में रिटायर होना चाहता हूं। मेरे एनपीएस अकाउंट में 7 लाख जमा हो चुका है 9 वर्ष की सर्विस में। कृपया सही सलाह दें। -Roshan Ranjan Jha

उत्तर: आप पहले से ही म्युचुअल फंड, पीपीएफ, सुकन्या योजना, रिकरिंग डिपॉजिट और सेविंग्स अकाउंट में अपनी नेट सैलरी से 14,000 रुपए निवेश कर रहे हैं। अगर हम मानकर चलें कि रिटायरमेंट के बाद 6 फीसदी इंफ्लेशन रेट के आधार पर आपको मौजूद स्टैंडर्ड ऑफ लिविंग बनाए रखने के लिए 1.01 लाख रुपए की मासिक आय की जरूरत होगी, तो आपके रिटायमेंट के लक्ष्य के हिसाब से यह राशि काफी है। इसके लिए आपके पास रिटायरमेंट कॉरपस 87.73 लाख रुपए का होना चाहिए और यह कॉरपस आप 12,158 रुपए के मासिक निवेश में जुटा सकते हैं, अगर हम मानें कि आपको 8 फीसदी सालाना रिटर्न मिलेगा। साथ ही आपके रिटायरमेंट फंड में फिलहाल 8 लाख रुपए हैं।

जैसे कि आप पहले से ही एनपीएस और अन्य निवेश योजनाओं में निवेश कर रहे हैं, आपको रिटायरमेंट के लिए अतिरिक्त सेविंग्स करने की जरूरत नहीं है। हालांकि अपने बच्चों की पढ़ाई और शादी के लिए आपको मौजूदा निवेश के अलावा भी निवेश करना पड़ेगा। आप अपने पीपीएफ अकाउंट में अधिक निवेश कर सकते हैं या अपनी पत्नी या बच्चों के नाम पर नया पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसके अलावा आपको एक करोड़ रुपए का टर्म इंश्योरेंस और 10 लाख रुपए के कवरेज वाली फैमिली मेडिक्लेम पॉलिसी भी लेनी चाहिए।

सवाल 4. मेरी उम्र 28 वर्ष है। मेरी सालाना आय 3.1 लाख रुपए के करीब है। एलआईसी पॉलिसी में साल के 40 हजार रुपए निवेश करता हूं। पीपीएफ अकाउंट में महीने के 1000 रुपए डिपॉजिट करता हूं। ये दोनों निवेश पिछले साल ही शुरू किए हैं। अभी तक हेल्थ पॉलिसी नहीं ली है। कौन सी लेनी चाहिए। मैं 2035 तक 55 लाख रुपए का फंड तैयार करना चाहता हूं। - रिजवान शेख

उत्तर: 2035 तक 55 लाख रुपए का टार्गेट पूरा करने के लिए आपको महीने में 14,204 रुपए का निवेश करना होगा। मानकर चालिए कि आपको इसमें 8 फीसदी का रिटर्न मिलेगा। आप फिलहाल पीपीएफ में महीने के 1000 रुपए निवेश करते हैं, इसलिए आपको पीपीएफ में अपना निवेश बढ़ाना होगा। आप कुछ राशि म्युचुअल फंड एसआईपी में निवेश कर सकते हैं।

आप 10 लाख रुपए का कवरेज देने वाली मेडिकल पॉलिसी और एक करोड़ रुपए कवरेज का टर्म इंश्योरेंस खरीदें। आप एलआईसी में सालाना 40 हजार रुपए निवेश कर रहे हैं, जिसके बारे में आपको एक बार सोचना चाहिए क्योंकि एलआईसी में बेहद कम रिटर्न मिलता है और आप इस पैसे को कहीं बेहतर जगह निवेश कर सकते हैं। टर्म इंश्योरेंस आपका पैसा भी बचा सकता है और आपकी इंश्योरेंस की जरूरत को भी पूरा कर सकता है।

सवाल 5. मेरा नाम विजय कुमार है। मैं 31 साल का हूं। मैं 50 हजार रुपए एकमुश्त किस फंड में रखूं 5 साल के लिए? ताकि मुझे एफडी से अच्छा रिटर्न मिल सके?

उत्तर: आपको अपने रिस्क प्रोफाइल और फाइनेंशियल गोल्स के हिसाब से फंड्स में निवेश करना चाहिए। क्योंकि आप अभी अधिक उम्र के नहीं हैं, तो आप रिस्क ले सकते हैं और छोटे और मिडकैप फंड्स और मल्टीकैप इक्विटी फंड्स में निवेश कर सकते हैं। आप दो फंड्स में बराबर राशि निवेश करें।
आप इन फंड्स में से अपनी पसंद का फंड चुन सकते हैं।

कोटक स्टैंडर्ड मल्टीकैप फंड- ग्रोथ

एसबीआई मैग्नम मल्टीकैप फंड- ग्रोथ

डीएसपी इक्विटी फंड- ग्रोथ

डीएसपी मिडकैप फंड- ग्रोथ

कोटक इमर्जिंग इक्विटी- ग्रोथ

एलएंडटी मिडकैप फंड- ग्रोथ

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.