बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateफोन खोने पर भी नहीं डूबेगा आपका पैसा, कंपनि‍यां लाईं ये स्‍कीम

फोन खोने पर भी नहीं डूबेगा आपका पैसा, कंपनि‍यां लाईं ये स्‍कीम

स्‍मार्टफोन आने के बाद गैजेट की दुनि‍या तेजी से बदल गई है। वहीं, अब महंगे स्‍मार्टफोन का क्रेज लगातार बढ़ रहा है।

1 of
 
नई दि‍ल्‍ली. स्‍मार्टफोन आने के बाद गैजेट की दुनि‍या तेजी से बदल गई है। वहीं, अब महंगे स्‍मार्टफोन का क्रेज लगातार बढ़ रहा है। यही कारण है कि‍ फोन की कीमत 1,00,000 रुपए तक पहुंच गई है। ऐसेे मेंं फोन का चोरी होने और खो जाने की घटनाएं भी लगातार सामने आती रहती हैं। अपने ग्राहकों को इस नुकसान से बचाने के लि‍ए फोन कंपनि‍यां आजकल फोन बेचने के साथ ही फोन के इंश्‍योरेंस का ऑप्‍शन भी देती हैं। ऐसे में अगर आप 1 लाख रुपए की कीमत का फोन खरीदते हैं तो उसका इंश्‍योरेंस करा लेना आपकी समझदारी को को ही दर्शाएगा। ऐसे में Moneybhaskar.com बता रहा है कैसे आप अपना महंगा फोन खोने पर नुकसान से बच सकते हैं : 
 
वॉरंटी है तो इंश्‍योरेंस क्‍यों ? 
 
ज्‍यादातर लोग मानते हैं कि‍ जब उनका फोन वॉरंटी में है तो उन्‍हें इंश्‍योरेंस कराने की क्‍या जरूरत है। ऐसे में लोगों को वॉरंटी और इंश्‍योरेंस का अंतर समझने की जरूरत है। क्‍योंकि‍ कंपनी जो छह महीने या फि‍र एक साल की वॉरंटी देती हैं उसमें सि‍र्फ मैकेनि‍कल और इलेक्‍ट्रि‍कल खराबी होने पर कवर होती है। जबकि‍ ग्राहकों की असली चि‍ंता होती है स्‍क्रीन डैमेज, चोरी और खो जाने की, जो कि‍ वॉरंटी का हि‍स्‍सा नहीं होती। इसके चलते इंश्‍योरेंस की जरूरत महसूस की जाती है। 
ये कंपनियां करती हैं मोबाइल का बीमा 
 
द ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी, न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी, नैशनल इंश्योरेंस कंपनी, यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी, रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस कंपनी और कुछ दूसरी कंपनियां मोबाइल फोन के लिए बीमा कवर की पेशकश करती हैं। वहीं, अगर आप मोबाइल स्‍टोर से फोन खरीदते हैं तो वहां आपसे एक फॉर्म भरवा लि‍या जाता है और प्रीमि‍यम लेकर बीमा कर दि‍या जाता है। इसके अलावा ऑनलाइन फोन खरीदने पर भी आपको एक ऑप्‍शन बीमा का मि‍लता है। 
 
हर कंपनी की बीमा शर्तें हैं अलग 
 
किस रेंज के फोन के लिए कितने रुपए का बीमा करना है इसकी भी हर कंपनी की अलग बीमा शर्तें होती हैं। अमूमन यह रकम बहुत बड़ी नहीं होती। मोबाइल फोन इंश्योरेंस गैर-जीवन बीमा की श्रेणी में आता है। इसका मतलब है कि कवर को हर साल रिन्यू कराने की जरूरत होगी। यह रकम प्रति हजार रुपए पर 20 रुपए से शुरू होती है। इसका मतलब है कि 30 हजार रुपए तक की कीमत वाले फोन के बीमा पर 300 से 500 रुपए तक प्रीमियम बनता है। 
एप्‍पल का इंश्‍योरेंस है महंगा 
 
एप्‍पल के फोन का इंश्‍योरेंस बाकी सभी फोन के इंश्‍योरेंस से महंगा है। iPhone 8 Plus का इंश्‍योरेंस जहां 149 डॉलर यानी 9,517 रुपए और iPhone 8 का 129 डॉलर में यानी 8,239 रुपए में होता है। वहीं, iPhone X का इंश्‍योरेंस लेने के लि‍ए ग्राहकों को 199 डॉलर यानी करीब 12000 रुपए खर्च करने होंगे।  
नहीं मि‍लेगी पूरी राशि‍ 
 
गैजेट इंश्‍योर्ड है इसका मतलब यह नहीं है कि‍ आपको नुकसान होने पर पूरी कीमत वापस मि‍लेगी। कवरेज की राशि‍ डेप्रि‍सि‍एशन के चलते डि‍वाइस की मूल राशि‍ से कम हो जाती है। 
 
डेप्रि‍सि‍एशन रेट 
 
0 - 3 महीने  - 20%  
3 - 6 महीने  -  30 
6 - 12 महीने  -  50  
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट