बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateआप बदल सकते हैं सरकारी नियम-कानून, मोदी सरकार दे रही है मौका

आप बदल सकते हैं सरकारी नियम-कानून, मोदी सरकार दे रही है मौका

आप सरकार को नियम कानून बदलने का आइडिया दे सकते हैं। मोदी सरकार ने आपको यह मौका दिया है।

1 of

 

नई दिल्‍ली। अगर आपको सरकार के किसी नियम कानून से तकलीफ है और आप इन नियम कानून को बदलना चाहते हैं तो आप सरकार को नियम कानून बदलने का आइडिया दे सकते हैं। मोदी सरकार ने आपको यह मौका दिया है। आप 30 जनवरी 2018 से पहले अपने आइडिया सरकार को दे सकते हैं। सरकार का दावा है कि आपका आइडिया पसंद आने पर सरकार अपने नियम कानून में बदलाव करेगी। दरअसल, सरकार को लगता है कि कुछ पुराने नियम कानून पुराने हो चुके हैं और उनकी वजह से लोगों को परेशानी होती है। इसलिए सरकार कुछ बदलाव करना चाहती है, लेकिन ऐसा करने से पहले वह लोगों से राय लेना चाहती है। इसलिये यह कवायद की जा रही है।

 

क्‍या है सरकार का मकसद

मोदी सरकार का मकसद है कि देश में ऐसे नियम कानून (रूल्‍स-रेग्‍युलेशन) बनाए जाएं, जो ‘ईज ऑफ लिविंग’ हो। यानी कि, लोगों को रोजमर्रा के काम में किसी तरह की दिक्‍कत न आए और जीवन आसान बने। सरकार की ओर से उदाहरण देते हुए बताया गया है कि अब तक इग्‍जाम देने से पहले डॉक्‍यूमेंट्स पर गजटेड अफसर के सत्‍यापन की जरूरत होती थी, लेकिन अब सरकार ने इसे खत्‍म करते हुए सेल्‍फ अटेसटेड का नियम बना दिया है, जिससे लोगों को काफी आसान हुई। सरकार का मकसद इसी तरह के नियम व कानून को प्रमुखता देना है। इसलिए सरकार ने लोगों से उनकी राय मांगी है।

 

कैसे दें आइडिया ?

आप भी इस मौके का फायदा उठाना चाहते हैं तो बेहद आसान है। सरकार यह मौका अपने बहुचर्चित पोर्टल माईगोव डॉट इन (mygov.in) पर दे रही है। आप आसानी से अपनी बात अपने मोबाइल या कम्‍प्‍यूटर के जरिए सरकार तक पहुंचा सकते हैं। पोर्टल पर दिए गए आप्‍शन पर आप सीधे अपना आइडिया अपलोड कर सकते हैं या हिंदी में लिख कर पीडीएफ फाइल भी अपलोड कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें : क्‍या है mygov.in

क्‍या है mygov.in

 

माईगोव डॉट इन सरकारी पोर्टल और मोबाइल ऐप है। मोबाइल ऐप को आप अपने स्‍मार्ट फोन में गूगल प्‍ले स्‍टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप या पोर्टल के माध्‍यम से सीधे सरकार तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं। यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक सीधे अपनी बात पहुंचा सकते हैं। प्रधानमंत्री इस ऐप के माध्‍यम से मन की बात कार्यक्रम के लिए लोगों से सुझाव भी मांगते हैं।


आगे पढ़ें : मिलता है ईनाम

मिलता है ईनाम

Mygov.in पर समय-समय पर सरकार अलग अलग प्रतियोगिताओं का भी आयोजन करती है, जिसके एवज में ईनाम दिए जाते हैं। इसका मकसद इनोवेशन को बढ़ावा देना है। हालांकि रूल्‍स  रेग्‍युलेशनल में बदलाव को लेकर किसी तरह के ईनाम की घोषणा नहीं की गई है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट