Home » Personal Finance » Financial Planning » Updategovernment extends scope ot pmrpsy

1 करोड़ नई नौकरियां पैदा होंगी, असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को भी मिलेगा पीएफ स्कीम का फायदा

नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स की बैठक में प्रस्‍ताव को मंजूरी मिली।

1 of

नई दिल्‍ली.  केंद्र सरकार अब असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले नए कर्मचारियों के पहले 3 साल का एम्‍पलॉयर पीएफ कंट्रीब्‍यूशन खुद वहन करेगी। इसके लिए मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना का दायरा बढ़ाया है। पहले सिर्फ संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को ही योजना का फायदा मिल रहा था। गुरुवार को नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स की बैठक में प्रस्‍ताव को मंजूरी मिली।

 

1) क्‍या होगा फायदा? 

- अब असंगठित क्षेत्र के वर्करों को भी सामाजिक सुरक्षा कवर जैसे पीएफ और पेंशन की सुविधा मिलेगी। वहीं, बड़े पैमाने पर लोगों को नौकरियां मिलेंगी।

- श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि सरकार के इस फैसले से 1 करोड़ नई नौकरियां पैदा करने में मदद मिलेगी। योजना के लिए बजट करीब 6,500 से 10,000 करोड़ तक बढाएंगे। पहले जिन कर्मचारियों के लिए सरकार बेसिक सैलरी का 8.33% पीएफ कंट्रीब्‍यूट कर रही थी, अब पूरा एम्‍पलॉयर कंट्रीब्‍यूशन यानी 12% करेगी।

 

2) अब तक 31 लाख को मिला फायदा 

- प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना के तहत अब तक कुल 31 लाख लोगों को फॉर्मल सेक्‍टर में नौकरी मिली है। अब तक इस योजना के तहत 500 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं।

 

3) क्‍या है रोजगार प्रोत्‍साहन योजना? 

- प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना अगस्‍त, 2016 में शुरू हुई। इसके तहत सरकार संगठित क्षेत्र में आने वाले नए इम्‍पलाई के लिए पेंशन स्‍कीम में एम्‍पलॉयर्स कंट्रीब्‍यूशन खुद वहन कर रही है। यह कर्मचारी की बेसिक सैलरी+डीए का 8.33% होता है।

- योजना का फायदा ये है कि एम्‍पलॉयर्स को नए लोगो को नौकरी देने के लिए प्रोत्‍साहन मिलता है, वहीं लोगों के लिए भी नौकरी के मौके बढ़ जाते हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट