बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateआपको अमीर बनने से रोकती हैं ये 4 बातें, ये है सॉल्‍यूशन

आपको अमीर बनने से रोकती हैं ये 4 बातें, ये है सॉल्‍यूशन

हम सभी अमीर बनने का सपना देखते हैं लेकिन बहुत कम लोग अपने इस सपने को साकार कर पाते हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। हम सभी अमीर बनने का सपना देखते हैं लेकिन बहुत कम लोग अपने इस सपने को साकार कर पाते हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं किसी को लगता है कि उसकी इनकम कम है किसी को लगता है कि उसको निवेश का सही विकल्‍प नहीं मिल रहा है जहां वह पैसा निवेश करके लंबी अवधि में बड़ी रकम जमा कर सके। आज हम आपको बता रहे हैं कि ऐसे कौन से कारण हैं जिनकी वजह से लोग अमीर नहीं बन पाते हैं। इसके अलावा हम आपको इसका सॉल्‍यूशन यानी समाधान भी बता रहे हैं जिसके जरिए आप अमीर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। 

 

प्‍लानिंग न करना 

 

सबसे पहली चीज जो आपको अमीर बनने से रोकती है वह है प्‍लानिंग न करना। आम तौर पर लोग सोचते हैं कि अभी तो हमारी इनकम कम है। इनकम बढ़ जाएगी तो सेविंग करेंगे। इसके अलावा कुछ लोगों को लगता है कि 1,000 या 2,000 रुपए की सेविंग से क्‍या होगा। इस वजह से लोग फाइनेंशियल प्‍लानिंग को टालते रहते हैं। इसका नतीजा यह होता है कि वे फाइनेंशियल प्‍लानिंग और सेविंग की शुरुआत ही नहीं कर पाते हैं। उनको लगता है कि जब इनकम ज्‍यादा हो जाएगी तो वे अपने आप वित्‍तीय तौर पर मजबूत हो जाएंगे। 

 

सॉल्‍यूशन 

 

इसका सॉल्‍यूशन यह है कि आप सबसे पहले एक फाइनेंशियल प्‍लान तैयार करें कि आपको फ्यूचर के लिए कितना पैसा बचाना है। इसके बाद आप हर माह सेविंग और इन्‍वेंस्‍टमेंट शु करें। सेविंग या निवेश की सही रकम क्‍या हो यह आपकी फ्यूचर की जरूरत और आज की इनकम पर निर्भर करता है। याद रखें कि अगर आप कम उम्र में सेविंग शुरू करते हैं 1,000 रुपए की मंथली सेविंग भी आपको बड़ा फंड बनाने में मदद कर सकती है। इसके अलावा आप कम सेविंग से शुरुआत कर इनकम बढने के साथ इसे बढ़ा सकते हैं। बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आदिल शेट्टी के अनुसार अगर कोई व्‍यक्ति एसआईपी में 500 रुपए मंथली  निवेश शुरू करता है। और हर साल इस निवेश को 20 फीसदी बढ़ाता है तो  30 साल में उसके एसआईपी अकाउंट में 42 लाख रुपए हो 

 

 

अनुशासन न होना 

 

कुछ लोग फाइनेंशियल प्‍लानिंग की शुरुआत के तौर पर सेविंग तो शुरू करते हैं लेकिन वे इसे लंबी अवधि में नियमित तौर पर बरकरार नहीं रख पाते हैं। या अचानक पैसों की जरूरत पड़ जाने पर है वे सेविंग के पैसे का यूज कर लेते हैं। ऐसे में अनुशासन न होने की वजह से अब तक की गई सेविंग बेकार चली जाती है और आप फाइनेंशियल प्‍लानिंग के मोर्चे पर उसी जगह पर आ जाते हैं जहां से आपने शुरुआत की थी। 


सॉल्‍यूशन 

 

अगर आप सही प्‍लानिंग के साथ निवेश शुरु करते हैं इसे नियमित तौर पर बनाए रखना भी जरूरी है। इसके लिए सही रणनीति यह है कि आप उतना ही निवेश शुरू करें जितना आप नियमित तौर पर बरकरार रख सकें। अचानक पैसों की जरूरत को पूरा करने के लिए आप एक इमरजेंसी फंड बनाएं जिसमें कम से कम 6 माह के खर्च को पूरा करने के लायक रकम हो। इससे किसी तरह की इमरजेंसी में आप इस पैसे का यूज कर सकते हैं और आपका निवेश सुरक्षित रहेगा। 

बहुत देर से निवेश शुरू करना 

 

आम तौर पर लोग निवेश शुरू करने में बहुत देर कर देते हैं। उदाहरण के लिए अगर आप 40 साल की उम्र में फाइनेंशियल प्‍लानिंग पर अमल करते हुए निवेश शुरू करते हैं तो काफी देर हो जाती है। इससे आपके पास निवेश के लिए 15 या 20 साल मिलते हैं। इससे आपके लिए अमीर बनने की राह मुश्किल हो जाती है। 15 20 साल में बड़ा फंड बनाने के लिए ज्‍यादा निवेश की जरूरत पड़ती है। ज्‍यादातर लोगों के लिए ऐसा करना आसान नहीं होता है। 

 

सॉल्‍यूशन 

 

इसका सॉल्‍यूशन यह है कि आप कैरियर शुरू करने या इनकम शुरू होने के साथ ही निवेश की शुरुआत करें। आम तौर पर माना जाता है कि 30 साल की उम्र तक अगर निवेश शुरू कर दिया जाए तो यह फाइनेंशियल प्‍लानिंग के लिहाज से बेहतर होता है। इससे आपको निवेश के लिए कम से कम 30 साल मिल जाते हैं। 30 साल की उम्र में आप छोटेी रकम भी नियमित तौर पर निवेश करते हैं और इनकम बढ़ने के साथ निवेश बढ़ाते जाते हैं तो यह रणनीति आपको बेहतर नतीजे दे सकती है। 30 साल तक निवेश करने से आपको कंपाउंडिाग का भी ज्‍यादा फायदा मिलता है। 

सोचे समझे बिना निवेश करना 

बहुत से लोग निवेश तो करते हैं लेकिन वे कहां निवेश कर रहे हैं और इस पर कितना रिटर्न मिलेगा। इसको लेकर सही तरीके से रिसर्च नहीं करते हैं। इससे उनको अपने निवेश पर बेहतर रिटर्न नहीं मिलता है। 

सॉल्‍यूशन 

 

इसका सॉल्‍यूशन है कि आप कहीं भी निवेश करने से पहले उसके बारे में सही जानकारी जुटाएं। बेहतर होगा कि आप किसी प्रोफेशनल फाइनेंशियल प्‍लानर की सलाह लें। प्रोफेशनल फाइनेंशियल प्‍लानर आपकी इनकम और आपकी फ्यूचर की जरूरतों को समझते हुए आपको सही सलाह देगा कि आप कहां निवेश करें जिससे आपको निवेश पर बेहतर रिटर्न मिलेगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट