Home » Personal Finance » Financial Planning » UpdateNow rent a dog to keep stress at bay

डॉग लवर्स अब किराए देकर पूरा कर सकेंगे शौक, ये शख्‍स दे रहा है मौका

डॉग लवर्स के लि‍ए खुशखबरी है। अब आप अगर कुत्‍ता खरीद नहीं सकते तो कि‍राए पर लेकर शौक पूरा कर सकते हैं।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. डॉग लवर्स के लि‍ए एक खुशखबरी है। क्‍योंकि‍ अब आप अगर कुत्‍ता खरीद नहीं सकते तो कुछ घंटो के लि‍ए कि‍राए पर लेकर अपने शौक को पूरा कर सकते हैं। इसके लि‍ए जयपुर के वि‍रेन शर्मा एक स्‍टार्टअप के तौर पर सेंटर खोलने जा रहे हैं। यह सेंटर कि‍राए पर डॉग देने के अलावा, सैलून, स्‍पा, होटल, प्रशि‍क्षण संस्‍थान और कुछ अन्‍य सुवि‍धाएं उपलब्‍ध कराएंगे। वि‍रेन शर्मा ने बताया कि‍ ऐसे कुछ सैंटर्स पि‍ंक सि‍टी जयपुर में पहले से भी चल रहे हैं। 
 
वि‍रेन शर्मा ने कहा कि‍ शुरू में हम इन सुवि‍धाओं को प्रमुख मेट्रो सि‍टीज में शुरू करेंगे और वहां पर कि‍राए पर ये सुवि‍धाएं देने की शुरुअात की जाएगी। हमारी कोशि‍श है कि‍ इस वि‍त्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही से ये सेंटर शुरू हो जाएंं। 
 
जयपुर के रहने वाले डॉग बि‍हेवि‍यरि‍स्‍ट वि‍रेन शर्मा ने बताया कि‍ वह भारत में अगले 12 महीनों में ऐसे लगभग 100 सेंटर खोलने की योजना बना रहे हैं। यहां से लोग कुछ घंटों के लि‍ए डॉग कि‍राए पर लेकर घुमाने के लि‍ए ले जा सकते हैं।  आगे पढ़ें : वि‍देशों में भी चलते हैं ऐसे सेंटर 

वि‍देशों में पॉपुलर हैंं ऐसे सेंटर 
 
शर्मा ने बताया कि‍ यह कल्‍चर पश्‍चि‍मी देशो में काफी पॉपुलर हैंं। जहां लोग दि‍नभर काम करने के बाद थकान उतारने के लि‍ए कुत्‍तों को कि‍राए पर लेकर घुमाने फि‍राने नि‍कल जाते हैं और फि‍र वापस उन्‍हें सेंटर पर हैंडओवर कर देते हैं। उन्‍होंने कहा कि‍ आजकल लोगों का शेड्यूल इतना बि‍जी है कि‍ वे पैट लवर होने के बावजूद उन्‍हें पाल नहीं सकते। क्‍योंकि‍ उनके पास उनकी देखभाल का टाइम ही नहीं है। वि‍रेन शर्मा नेे कहा कि‍ इन सेंटर्स में जो डॉग रखे जाएंगे। वे सभी ट्रेन होंगे जो कि‍ कि‍सी को भी नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। 
वि‍देश से आएंंगे ट्रेनर 
 
इसके अलावा, इन सेंटर्स पर कुत्‍तों की देखभाल कैसी करनी है उन्‍हें कैसे ट्रेनि‍ंग देनी है। इसके लि‍ए डॉग बि‍हेवि‍यर पर इस साल अक्‍टूूबर में एक सेमि‍नार जयपुर में आयोजि‍त की जाएगी। जहां विदेशों से ट्रेनर आएंगे और कुत्तों के बि‍हेवि‍यर को समझने की कला सि‍खाएंगे। 
 
और क्‍या-क्‍या होगा 
 
इन सेंटर्स पर कुत्‍तों को सि‍र्फ कि‍राए पर नहीं दि‍या जाएगा। बल्‍कि‍ यहां से अगर कोई डॉग खरीदना भी चाहे तो खरीद सकता है। इसके अलावा इन सेंटर्स पर कुत्‍तों को ट्रेनि‍ंग भी दी जाएगी। वहीं, अगर कोई शहर से बाहर जा रहा है तो भी अपने कुत्‍तों को सेटर पर छोड़ कर जा सकता है ताकि‍ उनकी अच्‍छी देखभाल हो सके। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट