Home » Personal Finance » Financial Planning » Updatename and age mismatch in PF and Aadhaar this is the way to correction

PF और आधार में अलग-अलग है नाम व उम्र, घर बैठे करेक्‍शन का समझें प्रॉसेस

सरकार की ओर से हाल ही में जानकारी दी गई थी कि‍ 8.38 करोड़ से अधिक पीएफ अकाउंट में सदस्यों की डेट ऑफ बर्थ गलत है।

1 of
 
नई दिल्ली. सरकार की ओर से हाल ही में जानकारी दी गई थी कि‍ 8.38 करोड़ से अधिक पीएफ अकाउंट में सदस्यों की डेट ऑफ बर्थ गलत लि‍खी गई है। जबकि 11.07 करोड़ खातों में सदस्यों के पिता का नाम नहीं हैं। ऐसे में सबसे पहले आप यह देख लें कि पीएफ फंड में आपका नाम और जन्म की तारीख आपके आधार में दी गई जानकारी से मेल खाती है या नहीं। अगर ऐसा नहीं है तो फंड निकालते समय आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आप तुरंत इसे ठीक कराएं। यह कोई मुश्किल नहीं है। बल्‍कि‍ इसे ऑनलाइन भी करेक्‍ट कराया जा सकता है।  

 
ईपीएफओ ने दी नई सुविधा
पहले ये बदलाव करने के लिए कर्मचारी और नियोक्ता दोनों को जॉइंट रिक्वेस्ट देनी होती थी, जिसमें काफी समय लगता था। ऐसे में ईपीएफओ ने पेपरवर्क और समय बचाने के लिए ऑनलाइन रिक्वेस्ट की सुविधा दी जा रही है। कर्मचारी से रिक्वेस्ट मिलने के बाद सिस्टम उसकी तुलना UIDAI डाटा से करेगा। वहीं, वेरिफिकेशन के बाद रिक्वेस्ट नियोक्ता के लॉगइन पर भेजी जाएगी। इसके बाद ईपीएफओ फील्ड ऑफिस, कर्मचारी और नियोक्ता द्वारा रिक्वेस्ट किए गए सुधार/बदलाव की प्रॉसेसिंग का काम करेगा। तो चलिए अब जानते हैं कैसे आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। 
 
आगे पढ़ें : कैसे ऑनलाइन ठीक होगी डि‍टेल 
 
ऐसे ठीक करें अपनी डि‍टेल  
Step 1: EPFO के Unified Portal पर जाएं, UAN और पासवर्ड डालकर लॉगइन करें।  
Step 2: होम पेज पर “Manage>Modify Basic Details” सिलेक्ट करें, अगर आपका आधार वेरिफाइड है तो आप डिटेल्स एडिट नहीं कर सकते। 
Step 3: सही डिटेल्स भरें (जो आपके आधार कार्ड में दर्ज है), इसके बाद सिस्टम इसे आधार डाटा से वेरिफाई करेगा। 
Step 4: डिटेल्स भरने के बाद “Update Details” पर क्लिक करें, इसके बाद जानकारी नियोक्ता को अप्रूवल के लिए भेजी जाएगी।
 
आगे पढ़ें : नियोक्ता को करना होगा ये काम 
 
नियोक्ता पूरी करेगा इसके बाद की प्रक्रिया
Step 1 : नियोक्ता EPFO Unified Portal पर लॉगइन कर, “Member>Details Change Request” पर क्लिक कर बदलावों को चेक कर सकते हैं।
Step 2: नियोक्ता जानकारी चेक कर उसे अप्रूव करेगा। 
Step 3: अप्रूवल के बाद नियोक्ता स्टेटस अपडेट चेक कर सकते हैं। 
Step 4: इसके बाद नि‍योक्‍ता इस रि‍क्‍वेस्‍ट को ईपीएफओ ऑफि‍स को भेजेगा। जहां फील्‍ड ऑफि‍सर उसे क्राॅस चेक करेगा। 
Step 5:  इसके बाद रीजनल प्रोवि‍डेंट फंड कमि‍श्‍नर डि‍टेल को सही होने पर अप्रूव कर देगा। 
 
आगे पढ़ें : ऑफलाइन भी करा सकते हैं करेक्‍शन 
 
ऑफलाइन कैसे करें सुधार?  
अगर कोई इंटरनेट की मदद लिए बिना अपने विवरण में सुधार करना चाहता है तो उसे इससे संबंधित फॉर्म इम्प्लॉई और इम्प्लॉयर द्वारा भरे जाने के बाद EPFO के ऑफिस में भेजा जा सकता है।  
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट