बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateदेश छोड़ रहा है ये अरबपति, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

देश छोड़ रहा है ये अरबपति, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

भारतीय अमीरों का पिछले कुछ सालों में भारत से मोहभंग हुआ है।

1 of

नई दिल्‍ली। भारतीय अमीरों का पिछले कुछ सालों में भारत से मोहभंग हुआ है। ये बात हाल ही में  इन्वेस्टमेंट और फाइनांशियल सर्विसेज फर्म मॉर्गन स्टेनली ने अपनी रिपोर्ट में कही है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 2014 से लेकर अब तक करीब 23000 भारतीय धनकुबेर भारत की नागरिकता छोड़ चुके हैं।  देश छोड़ने वाले अमीरों में अब एक और अरबपति का नाम जुड़ गया है। इस अरबपति ने भारतीय नागरिकता छोड़ने की जो वजह बताई है वो हैरान करने वाली है। तो आइए जानते हैं कि आखिर कौन है वो अरबपति और क्‍यों छोड़ रहा है नागरिकता।  

 

हीरानंदानी ग्रुप के को-फाउंडर 

 

जिस नए अरबपति का नाम इसमें जुड़ा है वो हीरानंदानी ग्रुप के को-फाउंडर सुरेंद्र हीरानंदानी हैं। सुरेंद्र हीरानंदानी की गिनती रियल एस्टेट के दिग्गजों में होती है। सुरेंद्र हीरानंदानी ने अपने भार्इ निरंजन के साथ अपनी कंपनी को देश की सबसे बड़ी रियल एस्टेट कंपनियों में से एक बनाया। 63 साल के इस कारोबारी ने साइप्रस की नागरिकता ली है।

 

अक्षय कुमार के बहनोई हैं सुरेंद्र 
सुरेंद्र बॉलीवुड एक्‍टर अक्षय कुमार के बहनोई भी हैं। दरअसल, अक्षय की बहन अल्का और सुरेंद्र ने 2012 में शादी की थी। अल्‍का बिजनेसमैन सुरेंद्र हीरानंदानी से 15 साल छोटी हैं। । ये सुरेंद्र की दूसरी शादी थी। इस फेमस बिल्डर ने अपनी पत्नी प्रीती से साल 2011 में तलाक ले लिया था। 

 

क्‍या है देश छोड़ने की वजह 

 

हीरानंदानी ने हाल ही में एक इंटरव्‍यू में भारतीय नागरिकता छोड़ने की वजह बताई है। इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा, यह कदम उठाने की सबसे पहली वजह यह है कि भारतीय पासपोर्ट पर वर्क वीजा मिलने में मुश्किल आती है। मुझे टैक्स रेट्स और अन्य चीजों से बिल्कुल समस्या नहीं है। हालांकि उन्‍होंने यह साफ किया कि मेरा बेटा हर्ष भारतीय नागरिक बना रहेगा। वह भारत में कंपनी के हितों को देखता रहेगा। 


कंस्ट्रक्शन बिजनेस की हालत से नाखुश 

 

इसके अलावा सुरेंद्र हीरानंदानी भारत में कंस्ट्रक्शन बिजनेस की हालत से भी खुश नहीं हैं। उन्‍होंने अपने इंटरव्‍यू में कहा कि इसमें प्रॉफिट मार्जिन 10 फीसदी से कम रह गया है। जबकि डेवलपर्स 12 फीसदी की सालाना रेट पर इंटरेस्‍ट लेने पर मजबूर हैं।आगे जानें - कितनी है संपत्ति 

 

 

कितनी है संपत्ति


फोर्ब्‍स के रियल टाइम नेटवर्थ के मुताबिक सुरेंद्र हीरानंदानी की संपत्ति 1.28 बिलियन डॉलर यानी करीब 83 हजार करोड़ रुपए है।  यही नहीं, वह 100 सबसे अमीर भारतीयों में से एक हैं।

 

सरकार भी हुई गंभीर 
इस खतरनाक ट्रेंड को देखते हुए सरकार भी गंभीर नजर आ रही है। इसी को देखते हुए केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने मार्च में एक पांच सदस्यीय कमेटी बनाई, जिसके जरिए यह देखा जा सके कि भारतीय धनकुबेरों के पलायन करने से देश की अर्थव्यवस्था पर क्या और कितना असर पड़ता है। अमीर भारतीय अब पलायन कर दूसरे देश की नागरिकता ले रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट