बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Updateदेश में थी नोटबंदी और बेटी की शादी पर खर्च कर दिए 500 करोड़, कर्नाटक में ऐसा है रेड्डी का रुतबा

देश में थी नोटबंदी और बेटी की शादी पर खर्च कर दिए 500 करोड़, कर्नाटक में ऐसा है रेड्डी का रुतबा

नोटबंदी के दौरान जब पूरा देश बैंकों के बाहर लाइन में खड़ा था। तब रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी पर 500 करोड़ खर्च कि‍ए थे।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. देश के संपन्‍न राज्‍यों की बात करें तो कर्नाटक का नाम भी टॉप 5 राज्‍यों में शामि‍ल है। विधानसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। पूरे चुनाव प्रचार के दौरान कई ऐसे मुद्दे रहे जि‍न पर बीजेपी को रक्षात्‍मक रूप भी अपनाना पड़ा। इसमें से एक मुद्दा रेड्डी बंधुओं का भी है। हालांकि‍ बीजेपी ने तमाम वि‍वादों को दरकि‍नार कर रेड्डी बंधुओं को चुनाव में उतारा था। कर्नाटक के माइनि‍ंग कि‍ंग के नाम से मशहूर रेड्डी बंधु राज्‍य के अमीर लोगों की लि‍स्‍ट में भी शामि‍ल हैं। 

 
रेड्डी बंधुओं (जनार्दन रेड्डी, करुणाकर और सोमशेखर रेड्डी) कि‍तने पावरफुल हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि‍ इनकी जितनी अहमियत कर्नाटक की राजनीति में है, उतनी ही अहमियत आंध्र प्रदेश की राजनीति में भी है। इसके अलावा नोटबंदी के दौरान जब पूरा देश बैंकों के बाहर लाइन में खड़ा था। तब माइनिंग किंग जनार्दन रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी पर 500 करोड़ रुपए खर्च कि‍ए थे। आइए जानते हैं कैसी थी वो 500 करोड़ रुपए की शादी?  
 
बेंगलुरु पैलेस में हुई थी शादी 
कर्नाटक के पूर्व मंत्री और माइनिंग किंग जनार्दन रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी शाही तरीके से की। जनार्दन रेड्डी की बेटी ब्राह्माणी रेड्डी और राजीव रेड्डी की शादी का फंक्‍शन बैंगलुरू पैलेस में हुआ। इस दौरान पैलेस को आलीशान महल की तरह सजाया गया। 
 
 
आगे पढ़ें : नहीं देखा होगा शादी का ऐसा जोड़ा 
17 करोड़ का था शादी का जोड़ा 
अगर आप सोच रहे हैं कि‍ शादी में 500 करोड़ कैसे खर्च हो सकते हैं, तो यह जान लीजिए कि इस शाही शादी में दुल्हन के जोड़े की कीमत 17 करोड़ रुपए थी और उसने 90 करोड़ रुपए के जेवरात पहने हुए थे। ब्रह्माणी रेड्डी शादी में ऊपर से लेकर नीचे तक हीरे और जेवरातों से लदी थीं। वहीं, दुल्हे ने भी सुनहरे रंग की शेरवानी पहन रखी थी।
 
शानदार सेट
शादी का सेट बॉलीवुड के आर्ट डायरेक्टर ने तैयार करवाया था। दुल्हन ब्रह्माणी रेड्डी और दूल्हे राजीव रेड्डी के घरों की नकल भी सेट्स पर बनाई गई थी। इसके अलावा शादी के सेट को बेल्‍लारी शहर की तर्ज पर तैयार कि‍या गया था। बता दें कि‍ बेल्लारी जनार्दन रेड्डी का होमटाउन है। 
आगे पढ़ें : शादी ही नहीं पंडि‍त भी थे स्‍पेशल 
तिरुमाला मंदिर से आए पंडित 
 शाही शादी में पंडि‍त भी प्रसिद्ध तिरुमाला मंदिर से अाए थेे। तिरुमाला मंदिर से आए 8 पंडितों ने शादी करवाई। खबरों के मुताबि‍क शादी में 50,000 लोगों को बुलाया गया था। इन मेहमानों में जिसमें कई बड़े नेता, सेलिब्रिटी, शामिल थे। इनमें  कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा भी शामिल हुए। वहीं, मेहमानों की सुरक्षा के लिए 3000 सिक्योरिटी गार्ड्स को तैनात किया गया था।
आगे पढ़ें : कार्ड में था वीडि‍यो संदेश  
कार्ड भी था अनोखा 
इस शादी की चर्चा तब शुरु हुई थी, जब जनार्दन रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी का निमंत्रण कार्ड अनोखे अंदाज में बनवाया था। इस कार्ड में वीडियो संदेश देखने की व्यवस्था की गई थी। इस कार्ड को देखने के बाद ही मीडि‍या में 500 करोड़ रुपए की शादी का मामला उठा था। 
आगे पढ़ें : वि‍वादों से है पुराना नाता   
खनन केस में तीन साल जेल में काटे
बता दें कि कर्नाटक की शक्तिशाली शख्सियतों में शुमार रेड्डी 2011 में भाजपा सरकार में मंत्री रहे हैं। वह अवैध खनन के केस में 3 साल जेल में भी बिता चुके हैं।  
यूं कमाई अरबों की दौलत 
तीनों रेड्डी भाई जनार्दन, करुणाकर और सोमशेखर रेड्डी ओबुलापुरम माइनिंग कंपनी के मालिक हैं। यह कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में आयरन ओर का खनन करती है। तीनों भाई कर्नाटक के बेल्‍लारी से हैं और बेल्‍लारी में देश का करीब 25 प्रतिशत लौह अयस्क भंडार है। साल 1994 तक बेल्लारी में कुछ सरकारी खनन कंपनियां ही थीं। बाद में सरकार ने प्राइवेट ऑपरेटर्स को माइनिंग का लाइसेंस दे दिया। इधर चीन ने लौह अयस्क की मांग बढा दी। जिसके चलते साल 2000 से 2008 के बीच वर्ल्ड मार्केट में लौह अयस्क की कीमत करीब तीन गुना बढ़ गई। इसके चलते अवैध खनन होने लगा। इस दौरान रेड्डी बंधुओं ने भी खूब पैसे कमाए। अपने पैसों और पावर के दम पर तीनों भाई राजनीति में भी पैर जमाते चले गए। 2011 में जब खनन स्कैंडल सामने आया तो तीन में से दो भाई राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। जनार्दन रेड्डी पर बड़ी स्टील कंपनी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट