Home » Personal Finance » Financial Planning » UpdateJeff Bezos dreams of a world with a trillion people living in space

अंतरिक्ष में बसने की तैयारी में दुनिया का सबसे अमीर शख्‍स, कर रहा अरबों खर्च

कहते हैं कि पैसे हों तो इंसान कुछ भी कर सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली। कहते हैं कि पैसे हों तो इंसान कुछ भी कर सकता है। पिछले कुछ समय से दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स जेफ बेजोस इस कहावत को सही साबित करने में जुटे हैं। ई -कॉमर्स कंपनी अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस इन दिनों अंतरिक्ष में बसने की तैयारी में जुटे हैं। इसके लिए वह लगातार सक्रिय हैं और इसके लिए मोटी रकम भी खर्च कर रहे हैं। तो आइए समझते हैं कि आखिर क्‍या है पूरा माजरा लेकिन उससे पहले जानिए कि जेफ बेजोस के पास अभी कितनी है संपत्ति। 

 

कितनी है संपत्ति 


अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स हैं। ब्‍लूमबर्ग इंडेक्‍स के मुताबिक बेजोस की रियल टाइम नेटवर्थ 131 बिलियन डॉलर यानी 8.51 लाख करोड़ रुपए है। वहीं अमीरी के मामले में दूसरे स्‍थान पर माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स हैं।  बहरहाल, अब हम आपको बताते हैं कि जेफ बेजोस अंतरिक्ष में बसने के लिए ऐसी क्‍या तैयारी कर रहे हैं । 

 

अंतरिक्ष में बसने की चाहत 


दरअसल, जेफ बेजोस ने हाल ही में सीएनबीसी को दिए एक इंटरव्‍यू में यह इच्‍छा जाहिर की थी कि वह अंतरिक्ष में बसना चाहते हैं। बेजोस कहते हैं , सिर्फ मैं ही नहीं बल्कि पूरा एक देश या यूं कहें पृथ्‍वी जैसी आबादी अंतरिक्ष में बसे। हम वहां भी वैसी लाइफ एंज्‍वॉय करें जैसी धरती पर कर रहे हैं। जेफ बेजोस आगे बताते हैं कि मैं इस सपने को साकार करने में जुटा हूं।  आगे पढ़ें - अंतरिक्ष जाने के लिए क्‍या कर रहे 

 

 

अंतरिक्ष जाने के लिए क्‍या कर रहे 


ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के मालिक जेफ बेजोस अंतरिक्ष में उड़ान के लिए कमर्शियल रॉकेट बना रहे हैं। बेजोस की एयरोस्पेस कंपनी ब्लू ओरिजन ने बीते रविवार को अपने न्यू शेफर्ड अंतरिक्ष यान का पश्चिमी टेक्सास में परीक्षण भी किया। न्यू शेफर्ड का यह दूसरा परीक्षण था।

 

 

पहले अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री के नाम पर यान का नाम 


पहले अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री एलन शेफर्ड के नाम पर इस रॉकेट का नाम रखा गया है। इस यान को पृथ्वी के वायुमंडल की अंतिम सीमा (100 किमी) तक जाने के लिए ही डिजाइन किया गया है। इस जगह तक पहुंचने पर अंतरिक्ष यात्री अपने वजन में कमी महसूस करने लगते हैं।

 

 

साकार होगा स्‍थायी ठिकाना ढूंढने का सपना


इस अभियान में शामिल वैज्ञानिकों का कहना है कि न्यू शेफर्ड के सफल परीक्षण के बाद लोगों के अंतरिक्ष की सैर पर जाने या वहां स्‍थायी ठिकाना ढूंढने का सपना साकार हो सकता है। इसमें एक साथ छह यात्री बैठ सकते हैं। इसका इस्तेमाल अंतरिक्ष में सामान ले जाने में भी किया जाएगा। अहम बात यह है कि इस प्रोजेक्‍ट के लिए जेफ बेजोस की कंपनी अरबों रुपए खर्च कर रही है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट