बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Update25 साल है आपकी उम्र तो करोड़पति बनने के लिए हर माह करना होगा 1650 रुपए निवेश

25 साल है आपकी उम्र तो करोड़पति बनने के लिए हर माह करना होगा 1650 रुपए निवेश

कंपाउडिंग की पॉवर SIP में पर अच्छा रिटर्न दिलाती है। जितनी जल्दी इन्वेस्टमेंट शुरु करेंगे उतना ही रिटर्न मिलेगा।

you can create fund of 1 crore with 1650 rupees monthly sip

नई दिल्‍ली. अक्‍सर लोग निवेश शुरू करने में देरी करते हैं। लेकिन उनको पता नहीं होता है कि निवेश में देरी करने का कितना बड़ा नुकसान होता है। इस बात को आप ऐसे समझ सकते हैं कि 25 साल के व्‍यक्ति को 60 साल की उम्र तक करोड़पति बनने के लिए हर माह सिर्फ 1650 रुपए मंथली निवेश करना होगा जबकि 35 साल की उम्र के व्‍यक्ति को 60 साल की उम्र तक करोड़पति बनने के लिए हर माह 8,000 रुपए निवेश करना होगा। 


1650 रुपए मंथली निवेश में बन सकते हैं करोड़पति 

 
पैसाबाजारडॉटकॉम के अनुसार अगर कोई व्‍यक्ति 25 साल की उम्र में करोड़पति बनने के लिए निवेश शुरू करता है तो उसे सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान यानी SIP में हर माह मात्र 1650 रुपए निवेश करना होगा। अगर इस निवेश पर सालाना 12 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र में वह व्‍यक्ति करोड़पति बन जाएगा। 

 

कंपाउंडिंग की ताकत करती है मदद 

 

25 साल की उम्र का व्‍यक्ति जब निवेश शुरू करता है तो उसके पास निवेश के लिए अधिक समय होता है। आम तौर पर माना जाता है कि लोग 60 साल की उम्र में रिटायर हो जाते हैं। ऐसे में 25 साल की उम्र के व्‍यक्ति को निवेश के लिए 35 साल की लंबा समय मिलता है और निवेश जितने ज्‍यादा समय तक बना रहता है कंपाउंडिंग की पावर उतनी ही ज्‍यादा काम करती है। आपके निवेश पर जो सालाना रिटर्न मिलता है, उस रिटर्न को फिर से निवेश किया जाता है, इस तरह से आपका फंड बढ़ता रहता है और आपका फंड जितना बड़ा होता जाता है आपको कंपाउंडिंग का उतना ज्‍यादा फायदा मिलता है। 
 
 
35 साल की उम्र वालों को  हर माह करना होगा 8 हजार रुपए निवेश 

 

वहीं अगर कोई व्‍यक्ति 35 साल की उम्र में निवेश शुरू करता है और वह 60 साल की उम्र तक 1 करोड़ रुपए का फंड बनाना चाहता है तो उसे सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (एसआईपी) में हर माह 8,000 रुपए निवेश करना होगा। अगर निवेश पर सालाना 12 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र तक 1 करोड़ रुप का फंड बन जाएगा। 

 

निवेश के लिए कम अवधि होने पर कम मिलता है कंपाउंडिंग का फायदा

 

ऐसा इसलिए है क्‍योंकि 35 साल की उम्र के व्‍यक्ति के पास निवेश के लिए सिर्फ 25 साल का समय है जबकि 25 साल की उम्र के व्‍यक्ति के पास निवेश के लिए 35 साल का समय है। सिर्फ 10 साल का अंतर होने पर निवेश की रकम में बड़ा अंतर आ गया है, क्‍योंकि निवेश की अवधि कम होने पर कंपाउंडिंग का फायदा कम मिलता है। 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट