बिज़नेस न्यूज़ » Personal Finance » Financial Planning » Update3 साल के बाद NPS से निकाल सकते हैं 25 % रकम, विदड्रॉअल नियम हुए आसान

3 साल के बाद NPS से निकाल सकते हैं 25 % रकम, विदड्रॉअल नियम हुए आसान

अगर आपका नेशनल पेंशन सिस्‍टम यानी एनपीएस अकाउंट तीन साल पूराना है तो आप अपने एनपीएस अकाउंट से 25 फीसदी रकम निकाल सकते है

you can do partial withdrawal after three year

नई दिल्‍ली। अगर आपका नेशनल पेंशन सिस्‍टम यानी एनपीएस अकाउंट तीन साल पूराना है तो आप अपने एनपीएस अकाउंट से 25 फीसदी रकम निकाल सकते हैं। हालांकि ऐसा आप कुछ शर्तो के साथ ही कर सकते हैं। केंद्र सरकार ने एनपीएस के विदड्रॉअल नियमों को आसान बनाया है। इससे पहले आप 10 साल पूरा होने पर ही एनपीएस अकाउंट से फंड का एक हिस्‍सा निकाल सकते थे। नए विद्ड्रॉअल नियमों की वजह से एनपीएस अब निवेश के लिए ज्‍यादा आकर्षक हो गया है। अब आप कुछ खास जरूरतों के लिए 3 साल पूरा होने पर एनपीएस से पैसा निकाल सकते हैं। 

 

 

एनपीएस से विद्ड्रॉअल के लिए क्‍या है शर्ते 

 

बच्‍चों की हायर एजुकेशन के लिए 

 

अगर आपका एनपीएस अकाउंट 3 साल पुराना है तो आप बच्‍चों की हायर एजुकेशन के लिए कुल कार्पस का 25 फीसदी हिस्‍सा निकाल सकते हैं। आपने कानूनी तौर पर बच्‍चा गोद लिया है तो उसकी हायर एजुकेशन के लिए भी एनपीएस से पैसा निकाल सकते हें। 

 

बच्‍चों की शादी के लिए 

अगर आपका एनपीएस अकाउंट 3 साल पुराना है तो आप अपने बच्‍चों की शादी के लिए भी कुल कार्पस का 25 फीसदी निकाल सकते हैं। 

 

घर खरीदने के लिए 

 

इसी तरह से अगर आपका एनपीएस अकाउंट अकाउंट 3 साल पुराना है तो आप घर खरीदने के लिए या घर का कंसस्‍ट्रक्‍शन कराने के लिए एनपीएस कार्पस का 25 फीसदी हिस्‍सा निकाल सकते हैं। यह घर या फ्लैट आपके नाम पर या आपकी वाइफ के साथ ज्‍वाइंट नाम पर होना चाहिए। हालांकि अगर आपके नाम पर या ज्‍वाइंट नाम पर पहले घर या फ्लैट है तो आप इस विदड्रॉअल नियम के तहत पैसा नहीं निकाल सकते हैं। 

 

कैंसर या गंभीर बीमारी के इलाज के लिए 

 

पेंशन फंड रेगुलेटरी डेवलपमेंट अथॉरिटी पीएफआरडीए की ओर से जारी किए गए सर्कुलर के अनुसार आप कैंसर या किसी और गभीर बीमारी के इलाज के लिए भी एनपीएस अकाउंट से 25 फीसदी रकम निकाल सकते हैं। 


सिर्फ तीन बार कर निकाल सकते हैं पैसा 

 

आप एनपीएस के पूरे टेन्‍योर में सिर्फ तीन बार आंशिक विद्ड्रॉअल कर सकते हैं। एक बार में यह विद्ड्रॉअल कुल एनपीएस कार्पस का 25 फीसदी से अधिक नहीं होगा। 

 

एनपीएस है पीएफ का ऑप्‍शन 

 

पर्सनल फाइनेंस एक्‍सपर्ट नेशनल पेंशन सिस्‍टम या एनपीएस को प्रॉविडेंट फंड यानी पीएफ के विकल्‍प के तौर पर अपनाने की सलाह देते हैं। एनपीएस में निवेश किया गया फंड शेयर बाजार में भी निवेश किया जाता है। एनपीएस ने ईपीएफ ओर पीपीएफ की तुलना में अब तक बेहतर रिटर्न दिया है और आगे भी एनपीएस का रिटर्न ईपीएस और पीपीएफ की तुलना में ज्‍यादा रहने की संभावना है। एनपीएस ने शुरूआत से अब तक सालाना 15 फीसदी से अधिक औसत रिटर्न दिया है। वहीं ईपीएस और पीपीएफ का रिटर्न लगातार घट रहा है। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट