Home » Personal Finance » Financial Planning » Updatewife ignorance of financial planing can hit family big way

Wife से कभी न छिपाएं ये बातें, फैमिली को चुकानी होगी बड़ी कीमत

देवकी पाराशर की उम्र 45 साल है। वे पुणे में रहती हैं और प्राइवेट सेक्‍टर की कर्मचारी हैं।

1 of

नई दिल्‍ली। देवकी पाराशर की उम्र 45 साल है। वे पुणे में रहती हैं और प्राइवेट सेक्‍टर की कर्मचारी हैं। दो साल पहले उनके पति की कार एक्‍सीडेंट में मौत हो गई। अब देवकी पर न सिर्फ परिवार चलाने की जिम्‍मेदारी है बल्कि उनको अपने बच्‍चे की हायर एजुकेशन के लिए भी पैसे जुटाने हैं। इसके अलावा उनको अपनी रिटायरमेंट के बाद की जरूरतों के लिए भी रिटायरमेंट प्‍लानिंग करनी है। देवकी पाराशर के लिए इसलिए भी ज्‍यादा मुश्‍किल है कि एक तो उन्‍होंने अपने लिए कोई फाइनेंशियल प्‍लानिंग नहीं की थी बल्कि उनको पति के इन्‍वेस्‍टमेंट के बारे में भी कोई जानकारी नहीं थी। हालांकि उनकी किस्‍मत अच्‍छी थी कि कुछ समय बाद उनके फैमिली फ्रेंड ने उनकी मदद की। फ्रेंड के जरिए देवकी को पता चला कि उनके पति ने एलआईसी में 1 करोड़ रुपए निवेश किया था। इसके अलावा उन्‍होंने फिक्‍स्ड डिपॉजिट और इक्विटी फंडों में भी निवेश किया था। इससे देवकी को खुद का अपने बच्‍चे का फ्यूचर सिक्‍योर करने में मदद मिली है। 

पैसाबाजारडॉटकॉम की चीफ प्रोडक्‍ट ऑफीसर, राधिका बिनानी moneybhaskar.com को बताया कि यह एक उदाहरण है जिससे आप समझ सकते हैं कि भारत के परिवारों में महिलाएं फाइनेंशियल प्‍लानिंग की जरूरत से किस तरह से अनजान हैं। ऐसा काफी हद तक उन महिलाओं के लिए भी सही है जिनका अच्‍छा कैरियर है और वे जो पैसों के मामले में आत्‍मनिर्भर हैं। महिलाएं सिस्‍टमैटिक मैनेजमेट में काफी बेहतर होती हैं। लेकिन स्‍टडीज से पता चलता है कि वे अपने फाइनेंशियल फ्यूचर को सुरक्षित बनाने पर फोकस नहीं करती है भले ही फैमिली के खर्च में बड़ा योगदान करती हों। ऐसे में पति के लिए जरूरी है कि वे फाइनेंशियल प्‍लानिंग में वाइफ को जरूर शामिल करें। वाइफ चाहे वर्किंग हो या हाउस वाइफ हो पति की फाइनेंशियल प्‍लानिंग के बारे में जानकारी बेहद जरूरी है। 

टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान 

 

टर्म इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान फाइनेंशियल प्‍लानिंग का पहला कदम है। परिवार के कमाने वाले सदस्‍य की मौत होने पर टर्म प्‍लान फैमिली को एक निश्चित रकम मुहैया कराता है। इससे फैमिली की आर्थिक जरूररतें काफी हद तक पूरी हो जाती हैं। ऐसे में आपने अगर टर्म प्‍लान लिया है और वाइफ को इसके बारे में नहीं बताया है तो वाइफ को इसके बारे में जरूर बताएं। इससे जुड़े डाक्‍युमेंट आप कहां पर रखते हैं इस बात की जानकारी भी वाइफ को होनी चाहिए। इसके अलावा आपको वाइफ को यह भी बताना चाहिए कि किसी तरह की अनहोनी होने पर वे किस तरह से बीमा कंपनी को एप्रोच करें। 

 

निवेश की जानकारी 

 

अपने फ्यूचर को पैसों के लिहाज से सुरक्षित बनाने के लिए हर व्‍यक्ति लंबी अवधि के लिए कहीं न कहीं निवेश जरूर करता है। लेकिन आम तौर पर पुरुष इनकम और इन्‍वेस्‍मेंट के बारे में खुद फैसले करते हैं और इसके बारे में वाइफ को बताना जरूरी नहीं समझते हैं। लेकिन ऐसा करना गलत है। आप जो भी निवेश कर रहे हैं वह आपकी फैमिली के फ्यूचर के लिए है। ऐसे में इसकी जानकारी वाइफ को भी होनी चाहिए जिससे किसी तरह की दुर्भाग्‍यपूर्ण घटना होने पर वे इस निवेश को एक्‍सेस कर सकें। 

लोन की जानकारी 

 

अगर आने पर्सनल लोन या कार लोन या बिजनेस लोन ले रखा है तो इसकी जानकारी भी वाइफ को होनी चाहिए। अगर आपने लोन ले रखा है और वाइफ को इस बात की जानकारी नहीं है तो किसी तरह की अनहोनी होने पर उनके लिए इसे मैनेज करना मुश्किल होगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट