Home » Personal Finance » Financial Planning » UpdatePF पर कितना मिलेगा ब्‍याज , 21 फरवरी को EPFO कर सकता है फैसला - next cbt meet proposed on 21 february

PF पर कितना मिलेगा ब्‍याज , 21 फरवरी को EPFO कर सकता है फैसला

ईपीएफओ के बारे में फैसले करने वाली शीर्ष बॉडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी की बैठक 21 फरवरी को होगी।

1 of

नई दिल्‍ली। आपको वित्‍त वर्ष 2017-18 में प्रॉविडेंट फंड डिपॉजिट पर कितना ब्‍याज मिलेगा इस पर कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन 21 फरवरी को फैसला कर सकता है। ईपीएफओ के बारे में फैसले करने वाली शीर्ष बॉडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी यानी सीबीटी की बैठक 21 फरवरी को होगी। माना जा रहा है कि सीबीटी इस बैठक में पीएफ पर ब्‍याज दर को लेकर फैसला कर सकती है। 

 

21 फरवरी को होगी सीबीटी मीटिंग 

 

ईपीएफओ के सेंट्रल पीएफ कमिश्‍नर डॉ वीपी जॉय ने moneybhaskar.com को बताया कि सीबीटी की बैठक 21 फरवरी को होगी। सीबीटी बैठक की अध्‍यक्षता लेबर मिनिस्‍टर करते​ हैं। इससे पहले सीबीटी की बैठक नवंबर में हुई थी। लेकिन उस बैठक में पीएफ पर ब्‍याज को लेकर कोई चर्चा नहीं की गई थी। ऐसे में माना जा रहा है कि इस बैठक में सीबीटी पीएफ ब्‍याज दर पर फैसला कर सकती है। 

 

8.65 फीसदी ब्‍याज पर ही मुहर लगा सकती है सीबीटी 

 

सूत्रों के मुताबिक सीबीटी पीएफ पर 8.65 फीसदी ब्‍याज पर ही एक बार फिर से अपनी मुहर लगा सकती है। ईपीएफओ ने वित्‍त वर्ष 2016-17 में पीएफ पर 8.65 फीसदी ब्‍याज दिया था। हालांकि सरकारी सिक्‍योरिटीज में निवेश से ईपीएफओ को मिलने वाले रिटर्न में गिरावट आई है। लेकिन पिछले एक साल के दौरान ईपीएफओ को शेयर बाजार में निवेश पर बेहतर रिटर्न मिला है। ऐसे में ईपीएफओ पीएफ पर कम से कम पिछले साल की ब्‍याज दर यानी 8.65 फीसदी को बनाए रख सकता है। 

 

सबसे ज्‍यादा होगी ईपीएफ पर ब्‍याज 

 

अगर ईपीएफओ पीएफ पर पिछले साल की ब्‍याज दर यानी 8.65 फीसदी इस बार भी तय करता है तो यह किसी भी सरकारी स्‍कीम पर सबसे अधिक ब्‍याज होगा। ईपीएफ पर 8.65 फीसदी ब्‍याज दर काफी आकर्षक होगी। कर्मचारी के ईपीएफ में जो पैसा जाता है उस पर टैक्‍स नहीं लगता है। टैक्‍स सेविंग ऑप्‍शन के साथ बेहतर रिटर्न की वजह से ईपीएफ सैलरी क्‍लास के लिए काफी आकर्षक हो गया है। 

 

वित्‍त मंत्रालय के दबाव से निपटना होगा चुनौती 

 

सूत्रों के मुताबिक अगर ईपीएफओ पीएफ पर एक बार फिर से 8.65 फीसदी ब्‍याज की घोषणा करता है तो उसे वित्‍त मंत्रालय के दबाव का सामना भी करना पड़ सकता है। वित्‍त मंत्रालय पिछले एक साल के दौरान स्‍माल सेविंग स्‍कीमों के इंटरेस्‍ट रेट में कई बार कटौती कर चुका है। ईपीएफ ओर पब्लिक प्रॉविडेंट फंड में ब्‍याज दर के लिहाज से अंतर बढ़ कर 1.05 फीसदी हो गया है। ऐसे में वित्‍त मंत्रालय यह दबाव डाल सकता है कि ईपीएफ और स्‍माल सेविंग स्‍क्‍ीमों पर ब्‍याज दर में संतुलन रहे। 

 

ईपीएफओ के है 4.5 करोड़ एक्टिव पीएफ मेंबर 

मौजूदा समय में ईपीएफओ के एक्टिव पीएफ मेंबर्स की संख्‍या लगभग 4.5 करोड़ हैं। ऐसे पीएफ मेंबर्स जिनके पीएफ अकाउंट में हर माह पैसा जमा हो रहा है उनको एक्टिव पीएफ मेंबर माना जाता है। वहीं ईपीएफओ के कुल पीएफ मेंबर्स की संख्‍या 10 करोड़ से भी अधिक है। 

 

Get Latest Update on Budget 2018 in Hindi

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट